प्रधानमंत्री मोदी ने गोरखपुर के ज‍िस ग्राउंड से ल‍िया खाद कारखाना चलाने का संकल्‍प, उसी मैदान में पूरा क‍िया वादा

PM Modi Gorakhpur visit प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने 2014 में नतमस्तक होकर गोरखपुर के मानबेला के मैदान में यह सकंल्‍प ल‍िया था क‍ि यद‍ि मौका म‍िला तो गोरखपुर खाद कारखना को चालू कराउंगा। मोदी ने अपने इस संकल्प को 2021 में उसी मैदान में सीना ठोंककर पूरा क‍िया।

Pradeep SrivastavaPublish:Wed, 08 Dec 2021 11:13 AM (IST) Updated:Wed, 08 Dec 2021 08:48 PM (IST)
प्रधानमंत्री मोदी ने गोरखपुर के ज‍िस ग्राउंड से ल‍िया खाद कारखाना चलाने का संकल्‍प, उसी मैदान में पूरा क‍िया वादा
प्रधानमंत्री मोदी ने गोरखपुर के ज‍िस ग्राउंड से ल‍िया खाद कारखाना चलाने का संकल्‍प, उसी मैदान में पूरा क‍िया वादा

गोरखपुर, जेएनएन। तारीख थी 23 जनवरी और साल था 2014, मानबेला के मैदान से लेकर आसमान तक बस एक ही नारा गूंजायमान था 'अबकी बार-मोदी सरकार'। अपार जनसैलाब के उफान मारते उल्लास से मुग्ध मोदी मंच पर पहुंचते ही जनता के आगे नतमस्तक हो गए। बोले-भाइयों-बहनों, आपने मुझे जीत लिया है। मुझे अपना बना लिया। मैं नतमस्तक होकर कहता हूं कि आपके इस प्यार को मैं ब्याज के साथ विकास करके लौटाऊंगा। 07 दिसंबर 2021 को एक बार फिर उसी मानबेला के पास फर्टिलाइजर मैदान में उतरे मोदी ने दस हजार करोड़ की तीन परियोजनाओं का लोकार्पण कर उसी भाव के साथ उस वायदे को पूरा कर दिखाया, जो उन्होंने प्यार को ब्याज के साथ विकास करके लौटाने का किया था। खाद कारखाने की चिमनी से उठता धुआं 2014 के संकल्प के 2021 में सिद्ध होने की गवाही दे रहा था। 'मोदी हैं तो मुमकिन है' का शोर मचा रहे युवा यह जता रहे थे कि मोदी पर उनका भरोसा चट्टान की तरह कायम है।

जनता के भरोसे को बरकरार रखने के लिए मोदी ने अपनी उस बात को भी दोहराया, जिसमें उन्होंने आपने 60 साल तक शासक चुने हैं, आपने 60 साल तक शासकों को देश और राज्य चलाने का काम दिया है, मैं आपसे सिर्फ 60 महीने मांगने के लिए आया हूं..! आपने 60 साल दिए हैं, मुझे 60 महीने दीजिए, आपने शासकों को चुना है, एक बार सेवक को चुनकर के देखिए..!

योगी ने दोहराया 'मोदी हैैं तो मुमकिन हैै'

सात द‍िसंबर को मानबेला के उसी मैदान में 'मोदी हैैं तो मुमकिन हैै' मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने संबोधन में इस पुराने नारे को दोहराया तो भीड़ में गूंज रहा मोदी-मोदी का धारा प्रवाह उद्घोष लोगों को उस जनसभा में ले गया जो खाद कारखाना से कुछ ही दूरी पर स्थित मानबेला में सात साल पहले हुई थी। तब भाजपा की तरफ से प्रधानमंत्री पद के प्रमुख दावेदार नरेन्द्र मोदी मंच पर थे और सामने की भीड़ इसी प्रकार से मोदी-मोदी कर रही थी।

23 जनवरी 2014 को मोदी ने कहा था

भाईयों-बहनों, 2014 में जब चुनाव आएगा तब तो आप जीत देगें ही देगें, लेकिन आज मैं नतमस्तक होकर कहता हूँ कि आपने मुझे जीत लिया है, आपने मुझे अपना बना लिया है, आपके इस प्यार को मैं ब्याज समेत विकास करके लौटाऊंगा, ये मैं वादा करता हूँ..

उत्तर प्रदेश की जितनी भी रैलियां हुई हैं, हर रैली पिछली रैली का रिकॉर्ड तोड़ देती है..! मित्रों, उत्तर प्रदेश में परमात्मा ने इतना सारा दिया है, इतनी प्राकृतिक कृपा है, अगर सही अर्थ में दिशा पकड़कर यहाँ दस साल मेहनत कर ली जाएं तो ये उत्तर प्रदेश गुजरात से भी आगे निकल सकता है, ऐसा उत्तर प्रदेश बन सकता है..!आज पूरे देश में फर्टिलाइजर पाने के लिए किसान को कतार में खड़ा रहना पड़ रहा है, ब्लैक मार्केट से फर्टिलाइजर को लेना पड़ रहा है और इस कमाल की सरकार को देखिए, गोरखपुर के फर्टिलाइजर के कारखाने को ताला लगाकर बैठी है..! एक तरफ फर्टिलाइजर की जरूरत है, दूसरी तरफ नौजवानों को रोजगार की जरूरत है और इन कमाल के शासकों को देखिए, फर्टिलाइजर के कारखानों को ताला लगाकर बैठे हैं..!

आपने 60 साल तक शासक चुने हैं, आपने 60 साल तक शासकों को देश और राज्य चलाने का काम दिया है, मैं आपसे सिर्फ 60 महीने मांगने के लिए आया हूँ..! आपने 60 साल दिए हैं, मुझे 60 महीने दीजिए, आपने शासकों को चुना है, एक बार सेवक को चुनकर के देखिए..!

भाईयों-बहनों, हम आपकी जिंदगी में बदलाव लाकर रहेंगे, हम चैन से नहीं बैठेंगे, आपके सपनों को पूरा करने के लिए हम हमारा जीवन खपा देने वाले लोग हैं..! मित्रों, आपके चेहरे पर मुस्कान हो, आप सपने देख पाएं, आप अपने अरमानों को पूरा कर पाएं, ऐसा हिंदुस्तान आपको देने का मैं आज वादा करने आया हूँ..! मित्रों, हम विकास का मंत्र लेकर चले हैं, 60 साल तक वोट बैंक की राजनीति को बहुत कुछ मिला है, 60 महीने के लिए विकास की राजनीति को आशीर्वाद दे दीजिए।

22 जुलाई 2016 को भी यहीं हुई थी मोदी की जनसभा: मोदी ने यह कहा था..

गोरखपुर में खाद कारखाना और एम्‍स शिलान्यास कार्यक्रम में उपस्थित युवा सभी के प्रणाम, मैं सबसे पहले आप सबका अभिनंदन करना चाहता हूं, अगर कोई कहता है कि छब्बीस साल से बंद पड़ा हुआ कारखाना मेरे कारण हुआ, मोदी के कारण हुआ तो ये बात गलत है। ये छब्बीस साल के बाद ये कारखाना फिर शुरू होना है। उसका पूरा यश अगर किसी को जाता है तो आप सब जनता जर्नादन को जाता है। अगर आपने मुझे उप्र से चुनकर के न भेजा होता, अगर आपने उप्र में एक तरफा भारतीय जनता पार्टी और साथियों को न जिताया होता, तो ये छब्बीस साल वाला काम अभी भी लटका पड़ा हुआ होता। ये इसलिए हुआ है क्योंकि आपने दिल्ली में आप लोगों के लिए काम करने वाली सरकार बनाई है, इसलिए ये काम हो रहा है। अगर आप अपने हितों को ध्यान में रख करके सरकार चुनते है तो सरकार भी आपके लिए काम करने के लिए दौड़ती है।

भाइयों बहनों किसान की कैसे मदद की जा सकती है किसान के जीवन में कैसे बदलाव लाया जा सकता है। ये फर्टिलाइजर का कारखाना कुछ लोग कहेगे कि एक कारखाना ये सिर्फ एक कारखाना नहीं है ये सिर्फ किसानों के लिए यूरिया पैदा करने वाला मामला नहीं है ये बहुत बड़ा बदलाव है। जगदीशपुर-हल्दिया जो गैस की पाइप लाइन जाती है उस पाइप लाइन से अब गोरखपुर और पूर्वी उप्र के इस बेल्ट में गैस लाना शुरू होगा। ये कारखाना उस गैस के आधार पर यूरिया पैदा करेगा उसका खर्चा कम होगा लेकिन ये गैस सिर्फ कारखाने के लिए नहीं रहेगा।

गोरखपुर के हर घर में पाइपलाइन से जैसे पाइपलाइन से पानी आता है वैसे ही पाइपलाइन से गैस आएगी। इस पूरे इलाके की माता एवं बहनें मुझे आर्शीवाद दीजिए, मैं आपके लिए हर चुल्हे में पाइपलाइन से गैस पहुंचाने का सपना ले करके काम कर रहा हूं। इसके कारण जब बिजली मिले, गैस मिले तो और काम करने वाले नौजवान मिल जाएं तो उद्योग लगाने वालों की लाइन लग जाती है।

2014 में किए वादे

किसानों को खाद चाहिए, उसकी कालाबाजारी हो रही है। नौजवानों को रोजगार, ये सरकारें खाद कारखाना पर ताला लगाए बैठी हैैं। आप ने अभी तक शासक चुना। अब सेवक चुनिए। यहां विकास जरूर होगा।

अपने सपनों को पूरा कर पाए, ऐसा हिंदुस्तान देने का वादा करता हूं।

2016 के वादे

गोरखपुर के हर घर में पाइपलाइन से पानी की तरह आएगी गैैस।