top menutop menutop menu

गोरखपुर-वाराणसी और नकहा जंगल-लखनऊ पैसेंजर को एक्सप्रेस बनाने की तैयारी शुरू Gorakhpur News

गोरखपुर, जेएनएन। पूर्वोत्तर रेलवे की दो जोड़ी पैसेंजर ट्रेनें (सवारी गाडिय़ां) सामान्य दिनों में एक्सप्रेस बनकर दौड़ेंगी। रेलवे प्रशासन ने गोरखपुर-वाराणसी 55119-55120 और नकहा जंगल-लखनऊ 55031-55032 पैसेंजर ट्रेनों को एक्सप्रेस बनाने की तैयारी शुरू कर दी है। समयसारिणी और ठहराव आदि को लेकर संबंधित अधिकारियों के बीच मंथन चल रहा है। वाणिज्य विभाग के अधिकारियों ने सहमति प्रदान कर दी है, अब परिचालन विभाग को अंतिम निर्णय लेना है।

पैसेंजर ट्रेनों के नाम भी बदल जाएंगे

एक्सप्रेस बनने के बाद इन पैसेंजर ट्रेनों के नाम व नंबर बदल जाएंगे। इनमें स्लीपर और एसी कोच लगाए जाएंगे। छोटे स्टेशनों पर ठहराव कम होने के साथ ही इनकी रफ्तार भी बढ़ेगी। इससे यात्री ससमय गंतव्य तक पहुंचेंगे। इन ट्रेनों के किराए में भी वृद्धि की जाएगी।

आठ जोड़ी पैसेंजर ट्रेनों को एक्सप्रेस के रूप में चलाने का भेजा गया था प्रस्‍ताव

दरअसल, रेलवे बोर्ड ने पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन को आठ जोड़ी पैसेंजर ट्रेनों को एक्सप्रेस के रूप में चलाने का प्रस्ताव भेजा था। समीक्षा के बाद पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन प्रथम चरण में सिर्फ दो जोड़ी पैसेंजर ट्रेनों को ही एक्सप्रेस बनाने के लिए तैयार हो पाया है। इसकी सूचना बोर्ड को भेज दी गई है।

बंद होगा घाटे में चल रहीं पैसेंजर ट्रेनों का संचालन

रेलवे बोर्ड ने घाटे में चल रहीं पैसेंजर ट्रेनों का संचालन बंद करने का निर्णय लिया है। इनमें गोरखपुर-अयोध्या पैसेंजर सहित पूर्वोत्तर रेलवे की 16 पैसेंजर ट्रेनें शामिल हैं। इन ट्रेनों की जगह अब एक्सप्रेस ट्रेनें या मेमू (इलेक्ट्रिक से चलने वाली) ट्रेनें चलाई जाएंगी।

मार्ग बदलकर चल रही बिहार संपर्क क्रांति स्पेशल

पूर्व मध्य रेलवे स्थित समस्तीपुर मंडल की रेल लाइनों पर बाढ़ का पानी जमा है। इसके चलते इस रूट पर चलने वाली ट्रेनों का संचालन प्रभावित है। मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमारसिंह के अनुसार दरभंगा से चलने वाली 02565 बिहार संपर्क क्रांति स्पेशल एक्सप्रेस मार्ग बदलकर चल रही है। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.