Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana: गोरखपुर में 12.73 लाख लोगों को नहीं मिल पाया है कार्ड, इलाज में परेशानी

प्रधानमंत्री जन आरोग्‍य योजना का प्रतीकातमक फाइल फोटो।
Publish Date:Sun, 25 Oct 2020 08:52 AM (IST) Author: Satish Shukla

गोरखपुर, जेएनएन। प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (आयुष्मान भारत) के 12 लाख 73 हजार 721 लाभार्थी अब भी गोल्डेन कार्ड का इंतजार कर रहे हैं। इस कार्ड पर पांच लाख रुपये तक का इलाज कराया जा सकता है। कोरोना की वजह से कार्ड बनना बंद हो गया था। अब स्वास्थ्य विभाग ने एक नवंबर से गांवों में शिविर लगाकर सभी लाभार्थियों का गोल्डेन कार्ड बनाने का लक्ष्य रखा है। आशा कार्यकर्ताओं के माध्यम से लाभार्थियों को शिविर की जानकारी दी जाएगी। इसके लिए आशा कार्यकर्ताओं को प्रति कार्ड 10 रुपये दिए जाएंगे।

आशा कार्यकर्ताओं को जा रही सूची

आशा कार्यकर्ताओं को लाभार्थियों की सूची दी जाने लगी है। सीएमओ डा. श्रीकांत तिवारी ने बताया कि कोरोना का संक्रमण बढऩे के कारण गोल्डेन कार्ड बनाने के अभियान पर काफी असर पड़ा है। अब सभी लाभार्थियों का कार्ड बनाने का लक्ष्य रखा गया है।

कार्ड बनाने को यह दस्तावेज देने होंगे

मूल राशन कार्ड, मूल आधारकार्ड, मतदाता पहचान पत्र, प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री का मूल पत्र (यदि मिला हो तो)

फैक्ट फाइल

कुल लाभार्थी परिवार-306698

कुल लाभार्थी-1533490

गोल्डेन कार्ड बने-259769

योजना का लाभ मिला-23224 को

सूचीबद्ध अस्पताल- कुल 89 (26 सरकारी और 63 निजी अस्पताल)

कितने रुपये देने होंगे- 30

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.