पूर्व विधायक को मिला गनर, आवास पर तैनात होगी पुलिस

आठ सितंबर की रात डुमरियागंज के सिकहरा-कोहड़ा में हुई कार (स्कार्पियो) के लूटकांड के राजफाश के लिए एसपी ने चार टीमों का गठन किया है। जिसमें लोकल थाने के अलावा पांच थानों के प्रभारी एसओजी के साथ क्राइम ब्रांच शामिल है।

JagranSat, 18 Sep 2021 06:30 AM (IST)
पूर्व विधायक को मिला गनर, आवास पर तैनात होगी पुलिस

सिद्धार्थनगर : आठ सितंबर की रात डुमरियागंज के सिकहरा-कोहड़ा में हुई कार (स्कार्पियो) के लूटकांड के राजफाश के लिए एसपी ने चार टीमों का गठन किया है। जिसमें लोकल थाने के अलावा, पांच थानों के प्रभारी, एसओजी के साथ क्राइम ब्रांच शामिल है। इसके साथ ही पुलिस ने घटना के दूसरे पहलू पर भी गौर करते हुए न सिर्फ पूर्व विधायक जिप्पी तिवारी को सुरक्षा के लिए गनर उपलब्ध कराया है, बल्कि उनके पैतृक आवास रमवापुर जगतराम में सुरक्षा के लिए पुलिस के जवानों को भी तैनात करने के लिए सीओ डुमरियागंज को निर्देशित किया है। जागरण ने 12 सितंबर के अंक में इस घटना को प्रकाशित करते हुए यह साफ किया था कि कार लूटने वाले बदमाश पूर्व विधायक की हत्या के इरादे से आए थे, लेकिन ड्राइवर की चालाकी से जब इसमें विफल हुए तो वाहन लूट कर फरार हो गए।

डुमरियागंज में कार लूटकांड का मामला पूर्व विधायक के पुत्र वैभव तिवारी की हत्या से जुड़े होने पर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। पिछले दिनों पूर्व विधायक ने राज्य के प्रमुख सचिव गृह को इस मामले में पत्र भेजा था, जिसके बाद स्थानीय स्तर पर पुलिस की सक्रियता बढ़ी है। जिस बाइक से बदमाश कस्बा स्थित शमीम की कार बुक कराने पहुंचे थे उसका नंबर फर्जी था और इंजन नंबर तथा चेचिस नंबर भी मिटा हुआ था। अब पुलिस ने चेचिस नंबर और इंजन नंबर को उजागर करने के लिए लैब भेजा है। जिससे यह पता चल सके कि जिस बाइक से बदमाश आए थे वह किसके नाम पर है।

घर का चक्कर काट रही थी एक कार : पूर्व विधायक जिप्पी तिवारी ने जागरण के सहयोग के प्रति आभार जताते हुए कहा कि जागरण ने निष्पक्षता के साथ सच्चाई उजागर की जिससे उन्हें बल मिला है। बताया कि उनके पुत्र की हत्या के मामले में अब सिर्फ डाक्टर की गवाही शेष है, इसके बाद आरोपितों के सजा का निर्धारण होगा। बताया कि वह लखनऊ से गुरुवार दिन में लौट आए, लेकिन रात के समय उनके लखनऊ विशाल खंड स्थित मकान का चक्कर एक काले रंग की कार लगाती रही, जिसके चलते स्वजन खौफजदा हैं, गनर भी उन्हे लखनऊ पहुंचा कर वापस चला गया।

शीघ्र होगा राजफाश :एसपी

पुलिस अधीक्षक डा.यशवीर सिंह ने कहा कि कार लूटकांड का शीघ्र ही राजफाश होगा। चार टीमें काम कर रही हैं। पूर्व विधायक की सुरक्षा के साथ उनके परिवार की सुरक्षा के लिए आवास पर भी पुलिस बल तैनात करने के लिए निर्देशित किया गया है। उनके पुत्र हत्याकांड से जुड़े आरोपितों की निगरानी भी हो रही है। पूर्व विधायक के शस्त्र लाइसेंस की फाइल को भी स्वीकृति प्रदान की जा रही है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.