पुलिस ने दी धमकी, गवाह बन जाओ या जेल जाओ

गोरखपुर, जेएनएन। हसमुद्दीन अपहरण कांड में नया मोड़ आ गया है। घटना की गुत्थी सुलझाने में विफल पुलिस ट्रक ड्राइवर को हिरासत में लेकर गवाह बनने का दबाव बना रही है। बात न मानने पर जेल भेजने की धमकी दी जा रही है। चालक और उसके घरवालों का दावा है कि जिस घटना हुई वह ट्रक लेकर बाहर गया था। सबूत देने के बाद भी थानेदार सुन नहीं रहे। शिवपुर गाव के बाबू टोला का रहने वाला हसमुद्दीन (25) दो अक्टूबर की रात से बाइक समेत लापता है। अंतिम बार वह मोतीराम अड्डा चौराहे पर स्थित अंडे की दुकान पर दिखा था।
हसमुद्दीन की मां तसबुन ने गाव के रहने वाले बर्खास्त होमगार्ड गुडडू यादव के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया है। आरोपित से पूछताछ में हसमुद्दीन के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली। चार नवंबर को पुलिस ने गुड्डू को जेल भेज दिया। संदेह के आधार पर गांव के कई अन्य युवकों को हिरासत में लेकर पूछताछ किया गया लेकिन कुछ पता नहीं चला। समय बीतने के साथ ही पुलिस अपहृत युवक और उसकी बाइक बरामद करने का प्रयास बंद कर दिया है। अधिकारियों के पूछताछ करने पर स्थानीय पुलिस अपनी नाकामी को छुपाने में लगी है।
थानेदार ने शिवपुर गांव के रहने वाले ट्रक चालक अजय शर्मा को हिरासत में लिया है। आरोप है कि पुलिस अजय पर गवाह बनने का दबाव बना रही है। बात न मानने पर जेल भेजने की धमकी दी जा रही है। अजय का कहना है कि वह ट्रक लेकर बाहर गया था। तीन अक्टूबर को गोरखपुर पहुंचने पर घर आया था। घटना के बारे में उसे कोई जानकारी नहीं है। एसओ झंगहा जगत नारायण सिंह ने बताया कि पूछताछ के लिए ट्रक चालक को हिरासत में लिया गया है। गवाह बनने का दबाव देने का आरोप गलत है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.