पीएम की रैली : जमीन से लेकर आसमान तक सुरक्षा के कड़े प्रबंध, हेलीकाप्‍टर व ड्रोन से होगी निगरानी

गोरखपुर, जेएनएन। गोरखपुर के फर्टिलाइजर मैदान में 24 फरवरी को होने वाले किसान अधिवेशन व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली में सुरक्षा के अभूतपूर्व इंतजाम होंगे। सुरक्षा को चाक-चौबंद रखने के लिए अधिकारी रात-दिन लगे हुए हैं। बैठकों के दौर चल रहे हैं। एक-एक बिंदु पर विचार-विमर्श किया जा रहा है। सेना के हेलीकाप्टर व ड्रोन के जरिए आसमान में प्रधानमंत्री की सुरक्षा को लेकर तैयारी चल रही है।
सुरक्षा दस्ते में एसपीजी, एनएसजी, एसटीएस कमांडो, पुलिस व पीएसी के अलावा पैरामिलिट्री फोर्स भी तैनात रहेगी। सीसीटीवी कैमरे से कदम-कदम पर सुरक्षा व्यवस्था पर नजर रखने की तैयारी है। कार्यक्रम स्थल के आसपास स्थित ऊंचे भवनों पर स्नैपर तैनात करने की योजना बनी है। 23 फरवरी से शुरू हो रहे किसान अधिवेशन व 24 को प्रधानमंत्री की होने वाली रैली की सुरक्षा में 12 एसपी, 18 एएसपी, 48 सीओ, 100 निरीक्षक, 700 दारोगा, 2500 सिपाही, 10 कंपनी पीएसी व 7 कंपनी पैरा मिलिट्री की डयूटी लगी है।

मैरिज हाउस और स्कूलों में रोकी गई फोर्स

प्रधानमंत्री की सुरक्षा में आने वाले सुरक्षाकर्मियों के रुकने की अलग से व्यवस्था की गई है। शहर के मैरिज हाउस और स्कूलों में उनको ठहराया गया है। बाहर से आए अधिकारी होटल में ठहरे हैं।
फर्टिलाइजर में फोर्स, पुलिस लाइन में अधिकारियों की ब्रीफिंग हुई
किसान अधिवेशन और प्रधानमंत्री की सभा की सुरक्षा को लेकर दिनभर कसरत चली। फर्टिलाइजर परिसर में बाहर से आई फोर्स और शाम को पुलिस लाइन में अधिकारियों की ब्रीफिंग हुई। इस दौरान पुलिस के साथ स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (एसपीजी) के अधिकारी भी रहे। बाहर की फोर्स गुरुवार शाम को ही गोरखपुर पहुंच गई। शुक्रवार सुबह फर्टिलाइजर परिसर में कार्यक्रम के सुरक्षा प्रभारी/एडीजी जोन दावा शेरपा ने फोर्स की ब्रीफिंग की। ड्यूटी प्वाइंट पर किसको कहां रहना है और उन्हें किस तरह सतर्क रहना है सब बताया गया।

ब्रीफिंग के बाद अधिकारियों ने कार्यक्रम स्थल की सुरक्षा देखी। इसके बाद पीएम के एयरपोर्ट से सभास्थल तक पहुंचने के वैकल्पिक रूट पर रिहर्सल किया गया। इसमें देखा गया कि कहीं रूट में कोई ऐसा प्वाइंट तो नहीं, जहां सुधार की जरूरत हो। शाम को पुलिस लाइन सभागार में सुरक्षा में लगे अधिकारियों को ड्यूटी की जानकारी दी गई। इस दौरान आइजी जय नारायण सिंह व एसएसपी डॉ. सुनील गुप्ता व एसपीजी के अधिकारी मौजूद रहे।

अधिवेशन और रैली के कार्यक्रम

23 फरवरी
दोपहर 2 बजे : किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीरेंद्र सिंह मस्त और राष्ट्रीय महामंत्री डॉ. अनिल जैन की ओर से किसान प्रदर्शनी का उद्घाटन
दोपहर 2:30 बजे : भाजपा राष्ट्रीय महामंत्री संगठन रामलाल की ओर से संगठनात्मक जानकारी
प्रथम सत्र
दोपहर बाद 3 बजे :  भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की ओर से ध्वजारोहण। अधिवेशन के मंच पर राष्ट्रीय अध्यक्ष व अन्य अतिथियों का स्वागत। किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष राजा वर्मा की ओर से स्वागत संबोधन।
दोपहर बाद 3:15 बजे : राष्ट्रीय अध्यक्ष वीरेंद्र सिंह मस्त का अध्यक्षीय संबोधन। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का संबोधन। राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का संबोधन। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र पांडेय का संबोधन। केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह का संबोधन।
द्वितीय सत्र
शाम 5:30 बजे : किसान मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष द्वारा वृत्त निवेदन।
शाम 6:10 बजे : किसान मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष द्वारा कृषि प्रस्ताव।
शाम 6:20 बजे : राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और राष्ट्रीय महामंत्री द्वारा प्रस्ताव का समर्थन।
शाम 6:30 बजे : राष्ट्रीय पदाधिकारियों और प्रदेश अध्यक्षों द्वारा प्रस्ताव पर चर्चा और पारित कराना।
शाम 7:10 बजे : केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह द्वारा केंद्रीय योजनाओं की जानकारी।
शाम 7:40 बजे : राष्ट्रीय संगठक किसान मोर्चा हृदयनाथ सिंह द्वारा किसान मोर्चा की भूमिका पर मार्गदर्शन।
24 फरवरी के आयोजन
तीसरा सत्र
सुबह 9 बजे : भाजपा राष्ट्रीय महामंत्री भूपेंद्र यादव का मार्गदर्शन।
सुबह 9.10 बजे : भाजपा राष्ट्रीय महामंत्री डॉ. अनिल जैन द्वारा केंद्र की योजनाओं में किसान मोर्चा की भूमिका पर संबोधन। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह का स्वागत और राष्ट्रीय अधिवेशन की रिपोर्ट पर चर्चा।
सुबह 9.30 बजे : केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह का समापन भाषण।
चौथा सत्र (खुला अधिवेशन यानी रैली)
सुबह 11:25 बजे : किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यख वीरेंद्र सिंह मस्त की ओर से प्रधानमंत्री का स्वागत। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र पांडेय की ओर से स्वागत भाषण। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का स्वागत भाषण। केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह का संबोधन। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह का संबोधन। प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी का संबोधन,समापन और धन्यवाद ज्ञापन।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.