top menutop menutop menu

Lockdown: शहर में इस जगह लग रहा जाम, शारीरिक दूरी की उड़ रही धज्जियां Gorakhpur News

Lockdown: शहर में इस जगह लग रहा जाम, शारीरिक दूरी की उड़ रही धज्जियां Gorakhpur News
Publish Date:Wed, 12 Aug 2020 12:30 PM (IST) Author: Satish Shukla

गोरखपुर, जेएनएन। पुलिस अधिकारियों की अदूरदर्शिता से पूरे शहर में जाम लग रहा है। कैंट समेत चार थाना क्षेत्रों में बंदी लागू होने के बाद  चेकिंग के नाम पर 20 चौराहों पर बैरियर लगाकर एक लेन बंद कर दी गई है, लेकिन पुलिसकर्मी नदारद हैं। एक लेन से आवाजाही के चलते शहर में रोजाना जाम लग रहा है। इससे लोग बेहाल तो हो ही रहे हैं, शारीरिक दूरी की भी धज्जियां उड़ रही हैं।

जिले में लगातार कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है। संक्रमण की बढ़ती रफ्तार रोकने के लिए जिला प्रशासन ने 17 अगस्त की सुबह पांच बजे तक कैंट, गोरखनाथ, शाहपुर और गुलरिहा थाना क्षेत्र में बंदी लागू की है। 

यहां है सबसे ज्यादा बदइंतजामी

पैडलेगंज चौराहा- कैंट पुलिस ने पैडलेगंज से छात्रसंघ चौराहा की तरफ आने वाले अंधे मोड़ की आखिरी छोर पर बैरियर लगाया है, जो लखनऊ की तरफ से आने वाले लोगों को नहीं दिख पाता है। मुडऩे के बाद बैरियर दिखाई देता है। इसकी वजह से मंगलवार पूरे दिन पैडलेगंज चौराहा जाम रहा।

आंबेडकर चौक-कचहरी और सरकारी दफ्तार खुलने की वजह से आंबेडकर चौराहे पर यातायात का दबाव है। पुलिस ने अदूरदर्शिता दिखाते हुए आंबेडकर चौराहे से हरिओमनगर की तरफ आने वाले रास्ते को बंद कर दिया है। इसकी वजह से सुबह से शाम तक भयंकर जाम लग रहा है। मंगलवार को भी पूरे दिन राहगीर परेशान हुए। 

फिराक चौक-बेतियाहाता के अस्पताल और पैथॉलोजी में कोरोना की जांच कराने बड़ी संख्या में बाहर से लोग आ रहे हैं। देवरिया, कुशीनगर, महराजगंज और बिहार के मरीज कैंट थाने के रास्ते फिराक चौराहा होते हुए बेतियाहाता पहुंचते हैं। पुलिस ने फिराक चौराहा से बेतियाहाता जाने वाला मार्ग बंद कर दिया है। इससे फिराक चौराहा जाम का सबसे बड़ा केंद्र बन गया है। एसएसपी डा. सुनील गुप्‍ता का कहना है कि बंदी में बेवजह घूमने वालों पर कार्रवाई के लिए कुछ चौराहों पर बैरियर लगाए गए हैं। दिन में अभियान चलाकर पुलिस जांच करती है। बैरियर की वजह से जाम लग रहा है, तो समीक्षा कर हटा दिया जाएगा। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.