मायावती को मुख्यमंत्री बनाने का लिया संकल्प

कार्यक्रम में मौजूद बसपा के प्रदेश अध्‍यक्ष भीम राजभर।

प्रदेश अध्यक्ष भीम राजभर कहा कि भाजपा सरकार से सभी वर्गों के लोग परेशान हैं जबकि बसपा के शासनकाल में सभी खुशहाल थे। सर्वजन हिताय एवं सर्वजन सुखाय पर काम होता था। बहन मायावती के कार्यकाल को प्रदेश की जनता आज भी याद करती है।

Satish chand shuklaSat, 16 Jan 2021 03:36 PM (IST)

गोरखपुर, जेएनएन। बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती के 65वें जन्मदिन पर पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं ने नौसढ़ स्थित मैरिज हाउस में जनकल्याणकारी दिवस के रूप में मनाया। इस दौरान आगामी विधानसभा चुनाव में भारी जीत दिलाकर मायावती को मुख्यमंत्री बनाने का संकल्प लिया। पार्टी नेताओं ने योगी सरकार को निशाने पर रखा। नेताओं ने कहा कि सरकार जनहित के मुद्दों से दूर हो गई है, तभी तो युवाओं, व्यापारियों और किसानों को काम-धाम छोड़कर सड़क पर उतरना पड़ रहा है।

भाजपा सरकार में सभी वर्ग के लोग परेशान

मुख्य अतिथि प्रदेश अध्यक्ष भीम राजभर कहा कि भाजपा सरकार से सभी वर्गों के लोग परेशान हैं, जबकि बसपा के शासनकाल में सभी खुशहाल थे। सर्वजन हिताय एवं सर्वजन सुखाय पर काम होता था। बहन मायावती के कार्यकाल को प्रदेश की जनता आज भी याद करती है। गुंडे, माफिया प्रदेश छोड़कर भाग जाते थे। उन्होंने कहा कि किसानों के मुद्दे पर पार्टी मुखिया से सबसे पहले समर्थन दिया, लेकिन भाजपा ने किसानों के हित में अब तक फैसला वापस नहीं लिया। जीएम सिंह, विद्या सागर एवं दारा सिंह निषाद ने कहा कि बसपा दबे, कुचले, शोषित, वंचित एवं गरीबों की पार्टी है। सबका सम्मान बसपा में ही सुरक्षित है। जिलाध्यक्ष घनश्याम राही ने मेहमानों का आभार जताते हुए कहा कि संविधान खतरे में है, इसकी रक्षा के लिए सामाजिक परिवर्तन की लड़ाई जरूरी है। बहन मायावती हमेशा कांशीराम के सिद्धांतों पर चलीं उन्होंने समाज के हर वर्ग की पीड़ा को समझा। वीरेंद्र पांडेय ने कहा कि प्रदेश सरकार से जनता को बहुत उम्मीदें थी लेकिन निराशा हाथ लगी। ऐसे में प्रदेश की जनता पार्टी मुखिया की तरफ उम्मीद भरी नजरों से देख रही है। कार्यक्रम में सुरेंद्र निषाद, रामनयन आजाद, प्रेम कुमार, विजय कुमार, जयकार प्रसाद, ऋषि कपूर, सतीश चंद्र, अमर चंद्र दूबे, विश्वजीत सिंह, मनीष राय, विरेंद्र कुमार, जितेंद्र कुमार, राम बाबू, नारायण, महानंदन गौतम, राजू गुप्ता, हरिलाल फौजी, रामनगीना समेत बड़ी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे।  

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.