अब 15 दिसंबर तक मिलेगा ओटीएस का लाभ

पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम ने बिजली बिल बकायेदारों के लिए ओटीएस योजना को लागू कर दिया है। इसकी अवधि 30 नवंबर को खत्म हो रही थी। पावर कार्पोरेशन ने इसकी अवधि बढ़ा दिया है। अब बकायेदार उपभोक्ता 15 दिसंबर तक बकाया जमा करने के लिए अपना पंजीकरण करा सकेंगे।

JagranWed, 01 Dec 2021 10:05 PM (IST)
अब 15 दिसंबर तक मिलेगा ओटीएस का लाभ

सिद्धार्थनगर: पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम ने बिजली बिल बकायेदारों के लिए ओटीएस योजना को लागू कर दिया है। इसकी अवधि 30 नवंबर को खत्म हो रही थी। पावर कार्पोरेशन ने इसकी अवधि बढ़ा दिया है। अब बकायेदार उपभोक्ता 15 दिसंबर तक बकाया जमा करने के लिए अपना पंजीकरण करा सकेंगे। योजना में सौ फीसद सरचार्ज माफ किया जा रहा है। विभाग ने जनपद में 304532 बकायेदार उपभोक्ताओं को चिह्नित किया है। इसमें 299499 घरेलू, 4746 कामर्शियल और 247 निजी नलकूप चालक शामिल हैं। इसमें सिर्फ 12165 उपभोक्ताओं ने लाभ उठाया है।

इस योजना से विभाग को उम्मीद थी कि सौ फीसद सरचार्ज माफी वाले आफर का लाभ उठाने के लिए उपभोक्ता अपना पूरा बिल जमा करने की कोशिश करेंगे पर परिणाम अपेक्षित नहीं रहा। योजना में छोटे उपभोक्ता और किसानों पर विशेष ध्यान दिया गया है। उन्हें सरचार्ज में सौ फीसद छूट दी गई है। घरेलू उपभोक्ता (एलएमवी एक) और कामर्शियल उपभोक्ता (एलएलवी दो) के दो किलोवाट तक के छोटे उपभोक्ताओं और निजी नलकूप (एलएमवी पांच) वाले सभी विद्युत लोड वाले उपभोक्ताओं को सरचार्ज पर सौ फीसद छूट का लाभ विद्युत विभाग दे रहा है। दो किलोवाट तक के घरेलू विद्युत कनेक्शन के छोटे उपभोक्ताओं को बकाया बिल को अधिकतम छह किस्तों में जमा करने का भी विकल्प दिया गया है। घरेलू बत्ती-पंखा के दो किलोवाट से अधिक लोड वाले उपभोक्ता और कामर्शियल के दो किलोवाट से अधिक और पांच किलोवाट तक के उपभोक्ताओं को सरचार्ज में 50 फीसद की छूट दी गई है।

इस संदर्भ में विद्युत विभाग के अधीक्षण अभियंता एके श्रीवास्तव ने बताया कि बिजली बिल बकायेदारों को सरजार्च में सौ फीसद छूट मिल रही है। योजना के तहत अब उपभोक्ता 15 दिसंबर तक बकाया बिल जमा करने के लिए पंजीकरण करा कर सकेंगे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.