Top Gorakhpur News Of The Day, 7 December 2019 : अब ट्रेन यात्रियों को अपना मोबाइल नंबर देंगे सुरक्षाकर्मी, पाक्सो कोर्ट की हकीकत : साढ़े चार साल में मात्र एक आरोपित को सजा, चीनी मिल में बिजली का भी उत्‍पादन Gorakhpur News

गोरखपुर, जेएनएन। ट्रेनों में अक्सर लूट, छिनैती, चोरी व जहरखुरानी की घटनाएं होती रहती हैं। कई बार यात्रियों को पता भी नहीं होता है कि ट्रेन में एस्कोर्ट ड्यूटी में सुरक्षाकर्मी के रूप में पुलिस वाले भी मौजूद हैं। ऐसे में अब एस्कोर्ट में चलने वाले पुलिसकर्मी अब यात्रियों को अपना मोबाइल नंबर बताएंगे। ताकि जरूरत पडऩे पर यात्री उनकी मदद ले सकें। इसके अलावा टीटीई, गार्ड और पायलट के पास भी इन पुलिस कर्मियों का मोबाइल नंबर रहेगा। महिला अपराध को लेकर सरकार से लेकर न्यायालय तक गंभीर है, किशोरियों के मामलों में जल्द न्याय दिलाने के लिए देवरिया के दीवानी न्यायालय में पाक्सो कोर्ट का गठन किया गया है। चार अप्रैल 2015 से अपर जिला जज एक के यहां पांच नवंबर 2019 तक पाक्सो के मामलों की सुनवाई हुई है। खास बात यह है कि इ दौरान सिर्फ एक मामले पर फैसला हो पाया। इस समय इस कोर्ट में साढ़े पांच सौ मुकदमे लंबित चल रहे हैं। चीनी मिल पिपराइच में लगभग 13 मेगावाट बिजली का उत्पादन शुरू हो गया है। 7.5 मेगावट पावर कार्पोरेशन को मिल बेच रही है, जिससे प्रतिदिन 8.60 लाख रुपये की आय हो रही है। मिल के चीफ इंजीनियर अजय श्रीवास्तव ने बताया जब मिल पूरी क्षमता से पेराई करने लगेगी तो बिजली उत्पादन बढ़कर 27 मेगावट हो जाएगा। चोरी का आरोप लगने से नाराज पत्नी ने कमरे में सो रहे पति के सीने पर चढ़कर उसे चाकू, राड व कैंची से मारकर घायल कर दिया। घायल को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना गगहा क्षेत्र के ग्राम बरईपार में शुक्रवार को भोर में हुई। प्रदेश के पर्यटन, धर्मार्थ कार्य व संस्कृति मंत्री नीलकंठ तिवारी ने कुशीनगर के पर्यटक सूचना अधिकारी राजेश भारती के खिलाफ जांच का आदेश दिया है। पर्यटक कार्यालय कुशीनगर के पर्यटक सूचना अधिकारी राजेश भारती जुलाई से ही अवकाश पर चल रहे हैं।

जानें- क्‍यों ट्रेन यात्रियों को अपना मोबाइल नंबर देंगे सुरक्षाकर्मी

ट्रेनों में अक्सर लूट, छिनैती, चोरी व जहरखुरानी की घटनाएं होती रहती हैं। कई बार यात्रियों को पता भी नहीं होता है कि ट्रेन में एस्कोर्ट ड्यूटी में सुरक्षाकर्मी के रूप में पुलिस वाले भी मौजूद हैं। ऐसे में अब एस्कोर्ट में चलने वाले पुलिसकर्मी अब यात्रियों को अपना मोबाइल नंबर बताएंगे। ताकि जरूरत पडऩे पर यात्री उनकी मदद ले सकें। इसके अलावा टीटीई, गार्ड और पायलट के पास भी इन पुलिस कर्मियों का मोबाइल नंबर रहेगा। अभी तक की व्यवस्था के तहत चलती ट्रेन में अपराध होने अथवा आपात स्थिति की सूचना देने के लिए यात्रियों को जोनल रेलवे के नंबर अथवा पुलिस सहायता नंबर 100 को डायल करना पड़ता है। इस नंबर के डायल करने के बाद पुलिस सहायता मिलने में अधिक समय लग जाता है। तब तक ट्रेन कई किलोमीटर का सफर तय कर चुकी होती है। यात्रियों को त्वरित सहायता मिल सके, इसके लिए एसपी रेलवे पुष्पांजलि देवी ने नई व्यवस्था शुरू की है। ट्रेन में एस्कोर्ट करने वाले पुलिस कर्मी सभी कोचों में जाकर यात्रियों को अपना मोबाइल नंबर देंगे। किसी संदिग्ध के दिखने या कोई परेशानी होने पर तुरंत फोन करने का आग्रह भी करेंगे। इसके अलवा एस्कोर्ट करने वाले सिपाही लोको पायलट, गार्ड व टीटीई से एक-दूसरे का नंबर शेयर करेंगे। ताकि आपात स्थिति में सूचना का आदान-प्रदान कर सकें।

पाक्सो कोर्ट की हकीकत : साढ़े चार साल में मात्र एक आरोपित को सजा, साढ़े पांच सौ मुकदमे लंबित

महिला अपराध को लेकर सरकार से लेकर न्यायालय तक गंभीर है, किशोरियों के मामलों में जल्द न्याय दिलाने के लिए देवरिया के दीवानी न्यायालय में पाक्सो कोर्ट का गठन किया गया है। चार अप्रैल 2015 से अपर जिला जज एक के यहां पांच नवंबर 2019 तक पाक्सो के मामलों की सुनवाई हुई है। जबकि 6 नवंबर से इस मामले की सुनवाई के लिए अपर जिला जज के यहां पाक्सो कोर्ट का गठन किया गया है। खास बात यह है कि इस समय इस कोर्ट में साढ़े पांच सौ मुकदमे आज भी लंबित हैं। जबकि अपर जिला जज अजय कुमार प्रशिक्षण के लिए जनवरी तक जिले से बाहर हैं। ऐसे में पाक्सो एक्ट की सुनवाई नहीं हो पा रही है। चौकाने वाले मामले यह हैं कि अप्रैल 2015 से अब तक मात्र एक ही पीडि़ता के मामले में आरोपित को सजा मिली है। जबकि 21 मामलों में पीडि़ता या गवाह के बदल जाने के चलते आरोपितों को दोष मुक्त कर दिया गया। खुखुंदू थाना में दर्ज दुष्कर्म के मामले में आरोपित गिरिजेश को अपर जिला जज एक के न्यायालय से 28 फरवरी 2019 को सजा सुनाई गई थी।

इस चीनी मिल में बिजली का भी उत्‍पादन, प्रतिदिन 8.60 लाख की आय

शुरुआती पेराई के दौरान चीनी मिल पिपराइच में लगभग 13 मेगावाट बिजली का उत्पादन शुरू हो गया है। 7.5 मेगावट पावर कार्पोरेशन को मिल बेच रही है, जिससे प्रतिदिन 8.60 लाख रुपये की आय हो रही है। मिल के चीफ इंजीनियर अजय श्रीवास्तव ने बताया जब मिल पूरी क्षमता से पेराई करने लगेगी तो बिजली उत्पादन बढ़कर 27 मेगावट हो जाएगा। 20 मेगावट  बिजली (यानि 48000  यूनिट प्रतिदिन बिजली पैदा की जाएगी) जिसे बेचकर मिल को 22 लाख 94 हजार 400 रुपया की आय होगी। यह आय बिजली विक्रय मूल्य 4.78 प्रति यूनिट के हिसाब से जोड़ पर आधारित है। उत्पादित बिजली पावर ग्रिड को हाटा कुशीनगर विद्युत सब स्टेशन के माध्यम से बेची जाएगी। चीनी मिल पिपराइच के मुख्य अभियंता अजय कुमार श्रीवास्तव ने बताया चीनी मिल चलाने व गन्ना पेराई कार्य में पावर महत्वपूर्ण होता है। उन्होंने बताया कि यह मिल अत्यंत मार्डन तकनीक पर स्थापित की गई है, जिसे फ्यूल (बगास) का खपत ब्वायलर में न्यूनतम होगा। जीरो लिक्विड डिस्चार्ज वाली यह मिल बगास पर आधारित है। बगास को ब्वायलर में जलाकर भाप यानी स्टीम पैदा की जाएगी। टरबाइन अल्टरनेटर के माध्यम से बिजली पैदा करती है।

पति के सीने पर चढ़कर पत्‍नी ने चाकू से ताबड़तोड़ किया हमला

गोरखपुर, जेएनएन। चोरी का आरोप लगने से नाराज पत्नी ने कमरे में सो रहे पति के सीने पर चढ़कर उसे चाकू, राड व कैंची से मारकर घायल कर दिया। घायल को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना गगहा क्षेत्र के ग्राम बरईपार में शुक्रवार को भोर में हुई। जानकारी के अनुसार बरईपार निवासी विजय जायसवाल का अपनी पत्नी से दूसरे के घर का सामान चुराने को लेकर गुरुवार की शाम को विवाद हुआ। विजय ने चुराया गया सामान वापस करने के लिए दबाव बनाया तो पत्नी ने इन्कार किया। इस पर बात बढ़ गई और दोनों भिड़ गए। परिजनों ने पति-पत्नी को छुड़ाया। विजय अपने कमरे में जबकि संध्या अपनी सास के पास सो गई। भोर में संध्या उठी और कमरे में सो रहे पति विजय के सिर पर पहले राड से मारा फिर पति के गर्दन पर चाकू व कैंची से कई वार किए। चीख सुनकर पहुंचे भाई व मां ने विजय को बचाया और अस्पताल पहुंचाया। उपचार के बाद भी हालत में सुधार न होने पर डॉक्टर ने घायल को जिला अस्पताल रेफर कर दिया। गगहा थानाध्यक्ष ने बताया कि घायल के भाई की तहरीर पर संध्या के खिलाफ हत्या के प्रयास की धारा में केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया है।

मंत्री ने पर्यटक सूचना अधिकारी के विरुद्ध कार्रवाई का दिया निर्देश, जानें-क्‍या था मामला

प्रदेश के पर्यटन, धर्मार्थ कार्य व संस्कृति मंत्री नीलकंठ तिवारी ने कुशीनगर के पर्यटक सूचना अधिकारी राजेश भारती के खिलाफ जांच का आदेश दिया है। पर्यटक कार्यालय कुशीनगर के पर्यटक सूचना अधिकारी राजेश भारती जुलाई से ही अवकाश पर चल रहे हैं। अब उनके मेडिकल अवकाश की जांच कर कार्रवाई करने का निर्देश विभागीय उच्चाधिकारियों को दिया गया है। उल्‍लेखनीय है कि पर्यटक सूचना अधिकारी राजेश भारती का जुलाई में प्रयागराज से कुशीनगर स्‍थानांतरण हुआ था। वह वहां से स्थानांतरित होकर कुशीनगर आए हुए थे। कुशीनगर में कार्यभार ग्रहण करने के बाद वह जुलाई से ही मेडिकल अवकाश पर चल रहे हैं। प्रदेश के पर्यटन, धर्मार्थ कार्य व संस्कृति मंत्री नीलकंठ तिवारी उत्तर प्रदेश द्वारा कराए जा रहे विकास कार्यों का निरीक्षण कर रहे थे। इस दौरान उन्‍होंने अधिकारियों के बारे में भी जानकारी ली। इस दौरान लोगों ने पर्यटक सूचना अधिकारी राजेश भारती के अनुपस्थित होने की जानकारी दी। जब उन्‍होंने पूछा कि कितने दिन के अवकाश पर हैं तब पता चला कि कार्यभार ग्रहण करने के बाद से ही राजेश भारती अवकाश पर चल रहे हैं। 

1952 से 2020 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.