नहीं हुआ गोशाला का निर्माण, सड़क पर घूम रहे बेसहार पशु

अक्टूबर 2020 में एसडीएम त्रिभुवन ने विभिन्न विकास कार्यों के लिए नवसृजित नपं में जमीन चिन्हित कर रिपोर्ट प्रशासन को प्रेषित की। जिसमें कान्हा गोशाला का निर्माण प्रमुख था। बढ़नीचाफा नगर पंचायत में इसके लिए दो एकड़ व डंपिग ग्राउंड के लिए जमीन चिन्हित है लेकिन न तो गोशाला का निर्माण शुरू हुआ न ही कचरा निस्तारण हेतु डंपिग ग्राउंड।

JagranMon, 14 Jun 2021 06:19 AM (IST)
नहीं हुआ गोशाला का निर्माण, सड़क पर घूम रहे बेसहार पशु

सिद्धार्थनगर : नवसृजित नगर पंचायत बढ़नीचाफा में सुविधाओं का इंतजार है। उम्मीद थी कि शीघ्र ही यह नगर पंचायत विभिन्न सुविधाओं से लैस होंगे, लेकिन एक वर्ष बीतने के बाद भी सुविधाओं का इंतजार बना हुआ है। गोशाला निर्माण के लिए भूमि चिन्हित है, लेकिन अबतक फूटी कौड़ी तक नहीं मिली। भूमि चिन्हांकन के बाद भी निर्माण कार्य शुरू नहीं हो सका। जिससे बेसहारा पशु किसानों की फसल नुकसान कर रहे हैं और सड़क पर दुर्घटना का कारण बन रहे हैं।

अक्टूबर 2020 में एसडीएम त्रिभुवन ने विभिन्न विकास कार्यों के लिए नवसृजित नपं में जमीन चिन्हित कर रिपोर्ट प्रशासन को प्रेषित की। जिसमें कान्हा गोशाला का निर्माण प्रमुख था। बढ़नीचाफा नगर पंचायत में इसके लिए दो एकड़ व डंपिग ग्राउंड के लिए जमीन चिन्हित है, लेकिन न तो गोशाला का निर्माण शुरू हुआ न ही कचरा निस्तारण हेतु डंपिग ग्राउंड। स्थानीय मुकेश श्रीवास्तव, कुलदीप पांडेय, पंकज पांडेय, विजय अग्रहरि, सतीश पांडेय, मुकेश आदि का कहना है कि पहले ग्राम पंचायत की व्यवस्था थी तो सेक्रेटरी व बीडीओ से शिकायत व समाधान करा लेते थे, लेकिन अब तो समस्या सुनने वाला भी कोई नहीं। ईओ शिवकुमार ने कहा नपं के माध्यम से कान्हा गोशाला व अन्य कार्यों के लिए बजट की डिमांड की गई है। धन मिलते ही काम शुरू करा दिया जाएगा।

कार्य में अनियमितता की खुली पोल, बारिश में उखड़ गया खंभा

नवसृजित नगर पंचायत के भारतभारी में कार्य की अनियमितता की पोल खुलने लगी है। मानक विहीन कार्य के चलते रविवार को बारिश में बिजली का खंभा भी उखड़ गया। चार पहिया वाहन पर गिर गया। ग्रामीण गुणवत्ता पर सवाल उठने के बाद अब जिम्मेदार जांच की बात कर रहे हैं भारतभारी नगर पंचायत में बेहतर प्रकाश व्यवस्था के लिए 76 लाख रुपये की लागत से टाइमर स्ट्रीट लाइट लगनी है, काम तो कराया गया, लेकिन मानक का ख्याल नहीं रखा गया। जिम्मेदारों ने चल रहे कार्य के निरीक्षण की न जरूरत समझी और न ही निगरानी के लिए किसी को नामित किया। रविवार तार सहित एक खंभा चौपहिया वाहन पर गिर गया। और 11 केवी लाइन से छू गया। उस समय सप्लाई तेज बारिश की वजह बाधित थी अन्यथा 11 केवी सप्लाई वाले घरों के उपकरण जल जाते जिससे लोगो को भारी नुकसान उठाना पड़ता ,गनीमत की उस समय वाहन में भी कोई था नहीं, अन्यथा बड़ी दुर्घटना हो जाती। हल्लौर निवासी प्रदीप गुप्ता ने बताया कि वह भारतभारी में दुकान चलाते हैं। रात में अपनी चौपहिया गाड़ी को सड़क किनारे खड़ी कर सो गए। सुबह बारिश के बीच खंभा उखड़कर गाड़ी के पिछले हिस्से पर गिर गया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.