नेपाल अपने नागरिकों के लिए जारी करेगा ई-पासपोर्ट, भारत को होगा यह फायदा

नेपाली मीडिया के अनुसार अगस्त के अंतिम सप्ताह से ई-पासपोर्ट जारी करने की प्रक्रिया आरंभ होगी। यह व्यवस्था लागू होने से नेपाल के नागरिक बिना सरकारी कार्यालयों के चक्कर काटे घर बैठे आनलाइन अपना पासपोर्ट बनवा लेंगे। तीन साल के लिए पासपोर्ट जारी किए जाएंगे।

Pradeep SrivastavaTue, 22 Jun 2021 12:02 PM (IST)
नेपाल अपने नागरिकों को ई पासपोर्ट जारी करेगा। - प्रतीकात्मक तस्वीर

गोरखपुर, जेएनएन। नेपाल अपने नागरिकों को ई पासपोर्ट जारी करने जा रहा है। भारत के आधार कार्ड की तरह होने वाले इस पासपोर्ट में नागरिकों का पूरा विवरण रहेगा। इस पासपोर्ट की मान्यता तीन साल तक रहेगी, तीन साल बाद दोबारा पासपोर्ट बनवाना पड़ेगा। नेपाल के इस कदम से भारत को भी फायदा होगा।

बायोमीट्रिक पंजीयन होने के कारण ई पासपोर्ट रखने वाला कोई भी नागरिक भारत का आधार कार्ड नहीं बनवा सकेगा। अभी नेपाल से सटे भारत के कई जिलों में नेपाल के लोग आसानी से आकर अपना आधार कार्ड बनवाते हैं और धीरे-धीरे अन्य परदे के पीछे से सभी प्रक्रियाओं को पूरी करके भारत के नागरिक बन जाते हैं।

घर बैठे आनलाइन बनवा सकेंगे पासपोर्ट

नेपाली मीडिया के अनुसार ई पासपोर्ट की डिजाइन इस महीने के अंत तक आ जाएगी। अगस्त के अंतिम सप्ताह से ई-पासपोर्ट जारी करने की प्रक्रिया आरंभ होगी। यह व्यवस्था लागू होने से नेपाल के नागरिक बिना सरकारी कार्यालयों के चक्कर काटे घर बैठे आनलाइन अपना पासपोर्ट बनवा लेंगे। तीन साल के लिए पासपोर्ट जारी किए जाएंगे, जो नेपाल के भीतर एक सुरक्षा कवच का कार्य करेगा। इसमें लगी चिप में नागरिकों के सभी विवरण, फिंगरप्रिंट आदि दर्ज होंगे।

नेपाल सरकार के प्रवक्ता के मुताबिक सुरक्षा की दृष्टि से नेपाल सरकार ने यह कदम उठाया है। लाकडाउन के समाप्त होते ही ई-पासपोर्ट जारी करने की प्रक्रिया आरंभ कर दी जाएगी। इसका प्रारूप भारत में जारी होने वाले आधारकार्ड की तरह होगा। लेकिन इसकी वैधता की अवधि सिर्फ तीन साल के लिए निर्धारित की गई है।

फ्रांस की कंपनी बनाएगी ई पासपोर्ट

पासपोर्ट बनाने का जिम्मा फ्रांस की एक कंपनी को दिया गया है। दो करोड़ 11 लाख अमेरिकी डॉलर में ठेका ली फ्रांस की कंपनी अपने विशेष साफ्टवेयर से यह कार्य पूर्ण करेगी। पूरे विश्व में केवल सौ अग्रणी देश ही इस तरह के विशेष पासपोर्ट से लैस हैं। पासपोर्ट दो तरह के होंगे। जिसमे कामगार व पर्यटन उद्देश्य की भी जानकारी फीड होगी।

नेपाली ई पासपोर्ट से भारत को भी होगा फायदा

नेपाली ई पासपोर्ट से भारत को भी काफी फायदा होगा। आधुनिक ई पासपोर्ट में बायोमेट्रिक डाटा समाहित होने से भारत में आधार कार्ड बनवाने वाले नेपाली नागरिक पकड़ में आ जाएंगे। क्योंकि आधार कार्ड एक बायोमेट्रिक पंजीयन है। ई पासपोर्ट के बायोमेट्रिक डाटा को ग्लोबली मैच किया जाएगा। जिसमें विदेश मंत्रालय व दूतावास की मदद से अन्य देशों की आधुनिक बायोमेट्रिक आंकड़ों से मिलान होगा।

सीमा पर सख्ती, बेवजह आने-जाने वाले लोगों पर होगी कार्रवाई

भारत-नेपाल सीमा सील होने के बाद भी पगडंडियों के रास्ते हो रहे आवागमन को रोकने के लिए भारत व नेपाल के सुरक्षा बल सतर्क हो गए हैं। भारत-नेपाल सीमा पर सख्ती बढ़ा दी गई है। सशस्त्र सीमा बल व नेपाली एपीएफ के जवानों की संयुक्त टीम ने रविवार को खनुआ से सुंडी गांव तक गश्त कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। बीओपी खनुआ सशस्त्र सीमा बल के जवान व एपीएफ नेपाल पुलिस की संयुक्त टीम ने पिलर संख्या 522 से 524 तक गश्त कर आवागमन को पूर्ण रूप से बंद कर दिया।

सहायक कमांडेंट कृष्ण कुमार ने बताया कि पगडंडियों के रास्ते तस्करी की सूचनाएं मिल रहीं हैं। बेखौफ होकर लोग खुली सीमा का लाभ उठा कर आवाजाही कर रहे हैं। गश्त के दौरान कई लोगों को पकड़ा गया। पूछताछ के बाद उनके देश लौटा दिया गया। कुछ लोगों को फटकार भी लगाई गई। आगे से पगडंडी रास्ते अवैध रूप से सीमा पार करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.