चार वर्ष से फरार चल रहा था हत्‍या का आरोपित, अब पुलिस की गिरफ्त में

गगहा इलाक में 2017 में हुई हत्‍या की एक वारदात के मामले में आरोपित चार साल से फरार चल रहा था। गगहा पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है। हत्या के बाद वह गुजरात भाग गया था। आरोपित पर एसएसपी ने 25 हजार रुपये का पुरस्कार घोषित किया था।

Navneet Prakash TripathiSun, 26 Sep 2021 08:07 PM (IST)
चार साल बाद हुई हत्‍यारोपित की गिरफ्तारी। प्रतीकात्‍मक फोटो

गोरखापुर, जागरण संवाददाता। साथी की हत्या के आरोप में चार वर्ष से फरार चल रहा गगहा का पाल्हीपार निवासी नरसिंह चौहान शुक्रवार रात पुलिस टीम के हत्थे चढ़ गया। हत्या के बाद वह गुजरात भाग गया था। आरोपित पर एसएसपी ने 25 हजार रुपये का पुरस्कार घोषित किया था। पुलिस ने उसे रात साढ़े 12 बजे रामनगर तिराहे से गिरफ्तार कर लिया।

2017 में दोस्‍त के साथ मिलकर अंजाम दी थी वारदात

आपसी विवाद को लेकर नरसिंह व उसके साथी भोला आदि ने 2017 में पाल्हीपार के उधम की हत्या कर दी थी। इसके बाद भोला ने आत्मसमर्पण कर दिया था। नरसिंह फरार था। पुलिस अधीक्षक दक्षिणी एके सिंह ने अपने कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में बताया कि नरसिंह की तलाश में पुलिस जुटी थी।

क्राइम ब्रांच व गगहा थाने की पुलिस ने किया गिरफ्तार

गगहा पुलिस व क्राइम ब्रांच की टीम को सर्विलांस सेल के जरिये पता चला कि नरसिंह रामनगर चौराहे के पास है। संयुक्त टीम ने वहां दबिश देकर आरोपित को पकड़ लिया। आरोपित को गिरफ्तार करने वाली टीम में प्रभारी निरीक्षक गगहा अमित दुबे, उपनिरीक्षक प्रभात सिंह, मोहम्मद मोबीन, क्राइम ब्रांच के उपनिरीक्षक सादिक परवेज, अरुण सिंह, हेड कांस्टेबल कुतुबुद्दीन आदि शामिल रहे।

चार वर्ष बाद पुलिस के हत्थे चढ़ा दुष्कर्म का आरोपित

किशोरी का अपहरण करके दुष्कर्म करने के आरोप में फरार चल रहे सिकरीगंज के माधोपुर निवासी सिकंदर चौहान को सिकरीगंज थाना पुलिस ने पीडिया के पास से गिरफ्तार कर लिया। आरोपित चार वर्ष पूर्व एक किशोरी को बहला-फुसलाकर भगा ले गया था। उस पर 25 हजार का इनाम घोषित था। पुलिस ने अपहृता को मुक्त कराने के साथ आरोपित को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया।

घर पर मिला जिला बदर बदमाश

जिला बदर होने के बाद भी घर पर रह रहा था बदमाश, गिरफ्तारजासं. गोरखपुर: राजघाट पुलिस ने शनिवार की दोपहर में जिला बदर होने के बाद भी घर पर रह रहे बदमाश को गिरफ्तार किया। दोपहर बाद पुलिस ने उसे कोर्ट में पेश किया, जहां से जेल भेज दिया गया। एसपी सिटी सोनम कुमार ने बताया कि रहमतनगर निवासी मुस्तकीम अली पर तकरीबन एक दर्जन मुकदमा दर्ज है। पुलिस ने उसके खिलाफ गुंडा एक्ट की कार्रवाई की है। जिसमें जिलाधिकारी ने जिला बदर की कार्रवाई की है।शनिवार की दोपहर में पुलिस घर पहुंची तो मुस्तकीम मौजूद मिला।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.