145 वर्षों में दो बार बंद हुआ महापरिनिर्वाण बुद्ध मंदिर

कुशीनगर में इस वर्ष कोरोना काल में हुई बुद्ध की प्रतीकात्मक पूजा पिछले वर्ष भी कोरोना की वजह से बंद करना पड़ा था मंदिर सरकार के निर्देश पर बंद किए गए थे जिले के समस्त प्राचीन स्मारक दो माह की बंदी के दौरान आम जन को मंदिर में प्रवेश करने से थी मनाही।

JagranWed, 16 Jun 2021 05:00 AM (IST)
145 वर्षों में दो बार बंद हुआ महापरिनिर्वाण बुद्ध मंदिर

कुशीनगर : अंतरराष्ट्रीय पर्यटक स्थली कुशीनगर स्थित महापरिनिर्वाण बुद्ध मंदिर 145 वर्षों में दो बार बंद रहा है।

पुरातात्विक खोदाई में मिली प्राचीन बुद्ध प्रतिमा की पूजा 1876 से अनवरत होती रही है। महावीर पहले भिक्षु थे जिन्होंने बुद्ध मंदिर में पूजा कार्यक्रम का संचालन 1876 से 1918 तक 42 वर्षों तक किया। उसके बाद 54 वर्षों तक भिक्षु चंद्रमणि के निर्देशन में सन 1918 से 1972 तक बुद्ध मंदिर में पूजा होती रही। सन 1972 से कुशीनगर भिक्षु संघ के अध्यक्ष एबी ज्ञानेश्वर की देखरेख में 49 वर्षों से महापरिनिर्वाण बुद्ध मंदिर में पूजन-वंदन चल रहा है। वैश्विक महामारी कोरोना के कारण बुद्ध मंदिर को वर्ष 2020 व 2021 में दो बार बंद करना पड़ा।

भापुस कुशीनगर के संरक्षण सहायक शादाब खान ने कहा कि उनके संज्ञान में इसके पूर्व भापुस के संरक्षित स्मारकों के बंद होने की कोई जानकारी नहीं है।

भिक्षु एबी ज्ञानेश्वर बताते हैं कि सन 1876 में खोदाई के बाद बुद्ध मंदिर में तथागत बुद्ध की पूजा का क्रम 145 वर्षों से चल रहा है। पिछले वर्ष कोविड 19 के कारण 17 मार्च से लगभग दो माह तक बुद्ध मंदिर बंद रहा तो पूजा नहीं हो सकी। इस वर्ष 16 अप्रैल से 15 जून तक कोरोना की ही वजह से बुद्ध मंदिर बंद रहा, लेकिन इस बार भापुस की अनुमति से प्रतीकात्मक पूजा हुई। आम पर्यटकों के लिए मंदिर बंद रहा।

शिक्षकों की समस्याओं का होगा त्वरित समाधान : बीईओ

नवागत खंड शिक्षा अधिकारी तमकुही अंकिता सिंह ने मंगलवार को बीआरसी तमकुही में कार्यभार ग्रहण किया। निवर्तमान बीईओ अजय कुमार तिवारी ने कार्यभार ग्रहण में सहयोग कराते हुए विभाग के कार्यो, उपलब्धियों के बारे में जानकारी दी। इस दौरान नवागत बीईओ ने कहा कि शिक्षकों की समस्याओं का त्वरित समाधान किया जाएगा। इस अवसर पर पूर्व एबीआरसी अमरनाथ यादव, शंभू यादव, देवेन्द्र ओझा, रामप्रकाश शर्मा, जूनियर हाई स्कूल शिक्षक संघ महामंत्री अंजनी सिंह, कृपाशंकर चौधरी आदि मौजूद रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.