गोरखपुर में ब्लैक फंगस वाले मरीजों की बनेगी सूची, स्वास्थ्य विभाग ने अस्पतालों से ब्योरा मांगा

गोरखपुर में स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ब्‍लैक फंगस के मरीजों की सुूची तैयार कर रहा है। - प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

ब्लैक फंगस से जूझ रहे मरीजों की स्वास्थ्य विभाग सूची बनाएगा। इसके लिए सभी अस्पतालों से ब्योरा मांगा जाएगा। मरीजों की संख्या के आधार पर दवाओं की व्यवस्था की योजना बनाई जा रही है। शहर में छह मरीजों में संक्रमण मिला है।

Pradeep SrivastavaFri, 14 May 2021 12:40 PM (IST)

गोरखपुर, जेएनएन। म्यूकारमायकोसिस यानी ब्लैक फंगस से जूझ रहे मरीजों की स्वास्थ्य विभाग सूची बनाएगा। इसके लिए सभी अस्पतालों से ब्योरा मांगा जाएगा। मरीजों की संख्या के आधार पर दवाओं की व्यवस्था की योजना बनाई जा रही है। फिलहाल स्वास्थ्य विभाग के रिकार्ड में जिले में ब्लैक फंगस का कोई मामला दर्ज नहीं है। हालांकि शहर में छह मरीजों में संक्रमण मिला है। बाबा राघवदास मेडिकल कालेज के नेत्र रोग विभाग के डा. रामकुमार जायसवाल भी कहते हैं कि टेलीमेडिसिन के जरिये कुछ लोगों ने ब्लैक फंगस जैसे लक्षणों की जानकारी दी है।

केंद्र सरकार ने बीमारी में इस्तेमाल होने वाली दवाओं की जानकारी दी 

महाराष्ट्र में दो हजार से ज्यादा कोरोना संक्रमितों में ब्लैक फंगस की पुष्टि और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई जिलों में मरीज मिलने के बाद केंद्र सरकार ने बीमारी में इस्तेमाल होने वाली दवाएं जल्द देने की जानकारी दी है। वाराणसी और लखनऊ में ब्लैक फंगस का ज्यादा संक्रमण होने पर मरीजों का आपरेशन भी किया गया है।

सीएमओ डा. सुधाकर पांडेय ने कहा कि आइसीयू में ज्यादा समय तक आक्सीजन पर रहने वाले कोरोना संक्रमितों में ब्लैक फंगस की बीमारी होने की जानकारी मिली है। फंगस से यह बीमारी होती है। इसका उपचार है।

दवा की उपलब्धता के लिए कंपनियों से बात

दवा विक्रेता समिति के अध्यक्ष योगेंद्रनाथ दुबे ने कहा कि ब्लैक फंगस के इलाज में सबसे ज्यादा कारगर एंफोटेरिसिन बी इंजेक्शन को बताया जाता है। यह इंजेक्शन पहले मार्केट में उपलब्ध था। लेकिन अब इसकी कमी हो गई है। कंपनियों से बात की गई है। जल्द ही इंजेक्शन बाजार में उपलब्ध हो जाएगा।

मेडिकल कालेज के कंट्रोल रूम में बढ़ाए गए नंबर

धीरे-धीरे मेडिकल कालेज के कोरोना वार्ड से मरीजों के स्वजन को सूचना देने की व्यवस्था सुधर रही है। पहले केवल दो ही मोबाइल नंबर जारी किए गए थे। अब एक मोबाइल व दो लैंड लाइन नंबर और जारी कर दिए गए हैं। ताकि स्वजन को आसानी से सूचना उपलब्ध हो सके। कालेज से भी अब मरीजों के स्वजन के पास फोन कर जानकारी दी जा रही है। प्रभारी प्राचार्य डा. पवन प्रधान ने बताया कि सूचना देने के मामले में काफी हद तक सुधार हो चुका है। अब ज्यादातर मरीजों के स्वजन को फोन पर कालेज की तरफ से सूचना दी जा रही है। सभी वार्ड व आइसीयू में भर्ती मरीजों की सूचनाएं कंट्रोल रूम में दो बार अपडेट की जा रही हैं ताकि कोई व्यक्ति अपने मरीज के बारे में जानना चाहे तो उसे बताया जा सके। अब तीन नंबर और बढ़ा दिए गए हैं।

इन नंबरों पर फोन कर ले सकते हैं जानकारी

200 बेड कोविड वार्ड

8175995240

300 बेड कोविड अस्पताल

8542967235, 8542967241

0551- 2205801, 2205802

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.