सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान पर हो रही अनियमितता, दर्ज हो गया दो कोटेदारों पर मुकदमा

महराजगंज में जिला पूर्ति अधिकारी एपी सिंह ने सरकारी सस्ते गल्ले/ उचित दर विक्रेताओं की जांच की। इस दौरान अनियमितता के कारण दो विक्रेताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया और सात दुकानों के लाइसेंस निरस्त किए गए हैं।

Rahul SrivastavaThu, 16 Sep 2021 05:25 PM (IST)
दो विक्रेताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज। प्रतीकात्मक तस्वीर

गोरखपुर, जागरण संवाददाता : महराजगंज में जिला पूर्ति अधिकारी एपी सिंह ने सरकारी सस्ते गल्ले/ उचित दर विक्रेताओं की जांच की। इस दौरान अनियमितता के कारण दो विक्रेताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया और सात दुकानों के लाइसेंस निरस्त किए।

कड़जा में कोटे की दुकान का लाइसेंस निरस्त

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना एवं प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत होने वाले खाद्यान्न वितरण में ब्लाक निचलौल के ग्राम पंचायत कड़जा के उचित दर विक्रेता आदित्य पांडेय के कोटे की दुकान का लाइसेंस निरस्त किया गया है। इसी प्रकार खंड विकास सिसवा के ग्राम पंचायत पूरी ऊर्फ मीरगंज के उचित दर विक्रेता रामनयन, विकास खंड मिठौरा के ग्राम पंचायत कुइयां ऊर्फ महेशपुर के उचित विक्रेता रामउजागीर, ग्राम पंचायत रेहाव के उचित दर विक्रेता हरिलाल, सदर ब्लाक के ग्राम पंचायत भिसवा के उचित दर विक्रेता जयराम, ग्राम पंचायत सिंहपुर के उचित दर विक्रेता सुग्रीव, पनियरा के ग्राम पंचायत बसडीला के उचित विक्रेता लालजी के कोटे की दुकान का लाइसेंस निरस्त कर दिया गया है। ब्लाक मिठौरा के ग्राम पंचायत बसंतपुर खुर्द के उचित दर विक्रेता लक्ष्मीनरायन एवं ब्लाक सदर के ग्राम पचायत भिसवा के उचित दर विक्रेता जयराम के विरुद्ध संबंधित थाने में आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 की धारा 3/7 के अंतर्गत प्रथम सूचना रिपोर्ट जिला पूर्ति अधिकारी द्वारा दर्ज कराई गई है।

मनमाना स्टैंड वसूली पर आटो चालकों ने किया विरोध-प्रदर्शन

निचलौल में चौक स्टैंड के आटो चालकों ने भारतीय किसान संघर्ष समिति के अध्यक्ष राजू कुमार गुप्ता के नेतृत्व में तहसील पहुंचकर विरोध-प्रदर्शन किया। इस दौरान चालकों ने पुलिस के खिलाफ भी जमकर नारेबाजी की। तहसील पर विरोध-प्रदर्शन कर रहे आटो चालक धर्मेंद्र मिश्र, शैलेश कुमार, बहादुर यादव, विनोद, गुलाम, मोहम्मद अलीम, दशरथ, राहुल, मनोज, बाबूलाल ने एसडीएम को सौंपे गए ज्ञापन में बताया है कि उन लोगों से स्टैंड के नाम पर 65 रुपये जबरन वसूली की जाती है। जबकि स्टैंड जमा की पर्ची मांगने पर उनके साथ दुर्व्यवहार कर भगा दिया जाता है।

सवारियों के इंतजार में थे आटो चालक

आरोप है कि सुबह 11 बजे आटो चालक अभी स्टैंड पर अपनी वाहन लगा सवारियों के इंतजार में खड़े थे। इसी बीच कुछ मनबढ़ लोग हाथों में लाठी और डंडे लहराते हुए आ गए। अभी वह लोग कुछ समझ पाते कि मनबढ़ों ने पुलिस को कमीशन देने की बात कहते हुए टूट पड़े। मनबढों की दबंगई के आगे लाचार होकर आटो चालकों ने मौके से भाग किसी तरह अपनी जान बचाई। एसडीएम प्रमोद कुमार ने कहा कि आटो चालकों से मामले की जानकारी मिली है। जांच कर कार्रवाई के लिए पुलिस को पत्र भेजा गया है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.