गोरखपुर में ताबड़तोड़ छिनैती, सुबह की सैर से लेकर मंदिर में दर्शन करना तक सुरक्षित नहीं Gorakhpur News

चेन स्‍नेचिंग की घटना को अंजाम देेेेने का प्रतीकात्‍मक फाइल फोटो।

पुलिस ने अभी पखवारा भर पूर्व दो चेन स्‍नेचरों को गिरफ्तार करके जेल भेजा है। इससे कुछ दिनों तक चेन स्‍नेचिंग की घटना पर विराम लगा लेकिन इधर करीब 10 दिनों से जिले के ग्रामीण क्षेत्रों छिनैती की घटनाएं बढ़ी हैं।

Publish Date:Thu, 26 Nov 2020 09:30 AM (IST) Author: Satish Shukla

गोरखपुर, जेएनएन। जिले में उचक्‍कों का गिरोह एक बार फिर सक्रिय है। इनके चलते मंदिर दर्शन से लेकर सुबह की सैर तक सुरक्षित नहीं रह गई है। ताबड़तोड़ छिनैती से लोग दहशत में है। उचक्‍कों की इन गतिविधियों पर पुलिस भी ध्‍यान नहीं दे रही है।

पुलिस ने अभी पखवारा भर पूर्व दो चेन स्‍नेचरों को गिरफ्तार करके जेल भेजा है। इससे कुछ दिनों तक चेन स्‍नेचिंग की घटना पर विराम लगा, लेकिन इधर करीब 10 दिनों से जिले के ग्रामीण क्षेत्रों छिनैती की घटनाएं बढ़ी हैं। इससे कहीं पर भी आते-जाते लोग भय मसहूस कर रहे हैं। बदमाश सिर्फ चेन ही नहीं, बल्कि नकदी व मोबाइल भी छीन रहे हैं। 10 दिन में आधा दर्जन से अधिक ऐसे मामले सामने आ चुके हैं। बावजूद इसके पुलिस इसे लेकर गंभीर नहीं है।

दो दिन में चार घटनाएं

23 नवंबर- चौरीचौरा थाना क्षेत्र के तरकुलहा में दर्शन के लिए गए सोनबरसा बुजुर्ग  निवासी गिरजेश सिंह की पत्‍नी मीरा सिंह के गले से किसी ने दो भर सोने की चेन छीन ली। उन्‍होंने घटनास्‍थल पर से इसकी शिकायत जन सुनवाई पोर्टल पर दर्ज कराई।

24 नवंबर- गीडा थाना क्षेत्र के खानिमपुर गांव के पास डोहरिया कला निवासी सुनील यादव को बदमाशों ने 10 हजार रुपये नकद व मोबाइल छीन लिया। पुलिस आरोपितों की तलाश में जुटी है।

24 नवंबर- बड़हलगंज कोतवाली क्षेत्र के कालेज तिराहे के पास बदमाशों ने अंबिकेश निगम को मारपीट कर मोबाइल छीन लिया।

यह घटनाएं बानगी मात्र हैं। अभी दो दिन पूर्व कैंपियरगंज थाना क्षेत्र के ओवरब्रिज पर बदमाशों ने असलहा सटाकर सिद्धार्थनगर जिले के

उस्‍का बाजार निवासी राजकुमार यादव ने बदमाशों ने 13 हजार रुपये नकद व 13 मोबाइल छीनकर फरार हो गए। इससे दो दिन पूर्व भी बदमाशों ने कैंपिरगंज थाना क्षेत्र में एक व्‍यक्ति का मोबाइल छीना था। जिले में उचक्‍कों के सक्रिय होने के कारण लोगों की मुसीबतें बढ़ गई हैं।

स्‍थानीय बदमाशों पर संदेह

पुलिस को स्‍थानीय बदमाशों पर संदेह हैं। उनका मानना यह चलते फिरते लोगों को अपना निशाना बना रहे हैं। हाल के दिनों में यदि त्रिभुवन सिंह को छोड़ दिया जाए तो लूट व छिनैती की घटना में जो बदमाश पकड़े उनकी कोई बड़ी क्राइम हिस्‍ट्री नहीं रही है। पुलिस का मानना है कि लूट व छिनैती की घटना में तमाम नये चेहरे शामिल हो गए हैं। यह पुलिस के लिए बड़ी चुनौती हैं, लेकिन उनकी तलाश हो रही है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.