45 लाख के आभूषण की लूट का मामला, पुराने बदमाशों से लूटेरों का हुलिया मैच करा रही पुलिस

लूट के मामले में पुलिस जांच का प्रतीकात्‍मक फाइल फोटो, जेएनएन।

पंजाब अमृतसर के रहने वाले सुरेंद्र सिंह सर्राफा कारोबारी हैं। वह गोरखपुर सहित आस-पास के जिलों में सोने के आभूषण कारोबारियों को बेंचते हैं। वह रविवार रात गोरखपुर में आए थे और यहां राजघाट थाना क्षेत्र के हालसीगंज स्थित राधेश्याम धर्मशाला में रुके थे।

Satish chand shuklaWed, 03 Mar 2021 04:55 PM (IST)

गोरखपुर, जेएनएन। राजघाट थाना क्षेत्र के पाण्डेयहाता चौकी क्षेत्र में सर्राफ से 45 लाख रुपये के जेवरात लूट करने वाले का पुलिस हुलिया मैच करा रही है। सीसीटीवी फुटेज में लुटेरा करीब छह फीट की लंबाई का दिख रहा है। बदन छरहरा है। पुलिस उसके आधार पर थाना क्षेत्र व इर्द-गिर्द के थानों में लूट करने वाले पुराने बदमाशों से उसका हुलिया मैच करा रही है। इसके अलावा ट्रांसपोर्ट नगर चौकी प्रभारी की डयूटी घटनास्थल के अलावा इर्द-गिर्द के सीसीटीवी फुटेज खंगालने की लगाई गई है। पुलिस को कुछ क्लू भी मिले हैं, जिसके आधार पर पुलिस बता रही है कि घटना का खुलासा जल्द होगा, लेकिन पुलिस को क्या क्लू मिले हैं। वह इसके विषय में अभी कुछ नहीं बता रही है। 

पंजाब अमृतसर के रहने वाले सुरेंद्र सिंह सर्राफा कारोबारी हैं। वह गोरखपुर सहित आस-पास के जिलों में सोने के आभूषण कारोबारियों को बेंचते हैं। वह रविवार रात गोरखपुर में आए थे और यहां राजघाट थाना क्षेत्र के हालसीगंज स्थित राधेश्याम धर्मशाला में रुके थे। सोमवार को गोरखपुर के कारोबारियों को उन्होंने गहने बेचे। मंगलवार को वह संतकबीरनगर के कारोबारियों को गहने बेच कर लौट रहे थे। उनके पास करीब 45 लाख के आभूषण बच भी गए थे। यहां पांडेयहाता चौकी क्षेत्र में स्कूटी सवार दो बदमाशों ने पिस्टल सटाकर गहनों से भरा थैला छीन लिया। घटना सीसीटीवी में कैद हो गई, लेकिन उसमें स्कूटी का नंबर नहीं दिख रहा है। पुलिस के मुताबिक स्कूटी का नंबर उसकी बैक लाइट के चलते चमक रहा है, इसके चलते वह स्पष्ट नहीं हो रहा है, जबकि सीसीटीवी में स्कूटी चालक ने कैप लगा रखी है। चेहरे को ढक रखा था। दूसरा बदमाश जो स्कूटी के पीछे बैठा था, उसका कद पुलिस करीब छह फीट का बता रही है। उसने भी चेहरा ढक रखा था। इस लिए उसकी भी पहचान नहीं हो रही है, लेकिन राजघाट सहित जिले के अन्य थाना क्षेत्रों में लूट को अंजाम देने वाले पिछले 10 वर्षों के बदमाशों से पुलिस हुलिया मैच करा रही है। पुलिस का कहना है कि लूट करने वाले सभी बदमाशों की लंबाई छह फीट नहीं है। इसलिए पुलिस को पुलिस पिछले बदमाशों से हुलिया मिलाने में विशेष कठिनाई नहीं होगी। पुलिस ने दो लोगों को पुछताछ के लिए उठाया भी है, उनसे एक गोपनीय स्थान पर पूछताछ भी चल रही है।

संतकबीरनगर के व्यापारियों से भी हुई पूछताछ

पुलिस का मानना है कि घटना को अंजाम देने वाला कोई लोकल का बदमाश है, जिसे सुरेंद्र के विषय में सटीक जानकारी थी। कि वह कहां ठहरे हैं और वह यहां कब आते हैं। इसी लिए उसने लूट के लिए मंगलवार का दिन चुना। मंगलवार को यहां साप्ताहिक बंदी रहती है। इतना नहीं लूट के बदमाशों ने उस स्थल का चयन किया है, जो मंगलवार को प्राय: सन्नाटे में रहती है।

किधर से निकले बदमाश नहीं हो पा रही जानकारी

सीसीटीवी फुटेज में बदमाश टीपीनगर से पाण्डेयहाता की तरफ आते तो दिख रहे हैं, लेकिन घटना को अंजाम देने के बाद वह किधर निकले यह नहीं पता चल पा रहा है। पुलिस ने कालोनी के कुछ लड़कों से भी पूछताछ की, लेकिन कोई सफलता नहीं मिल पा रही है। कोतवाली के पुलिस क्षेत्राधिकारी वीपी सिंह का कहना है कि घटना के पर्दाफाश के लिए क्राइम ब्रांच, थाना पुलिस के अलावा चार टीमें लगाई गई हैं। पुलिस छानबीन में जुटी है। कुछ क्लू मिला भी है, पुलिस जल्द घटना का पर्दाफाश करेगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.