BRD गोरखपुर मेडिकल कालेज में भी होता है कूल्हे का प्रत्यारोपण, घिसे कूल्हे को बदलना अब बहुत आसान

डा. अमित मिश्र ने किया। उन्होंने विशेषज्ञों तक डाक्टरों के सवाल पहुंचाए और प्रत्यारोपण की जटिलताओं पर चर्चा की। कहा कि अब कूल्हे का प्रत्यारोपण गोरखपुर में भी हो रहा है। पहले मरीजों को लखनऊ दिल्ली आदि शहरों में जाना पड़ता था।

Satish Chand ShuklaMon, 21 Jun 2021 03:29 PM (IST)
बीआरडी मेडिकल कालेज का फाइल फोटो, जागरण।

गोरखपुर, जेएनएन। बाबा राघवदास मेडिकल कालेज में हड्डी एवं जोड़ रोग विभाग के अध्यक्ष डा. पवन प्रधान ने कहा कि कूल्हे में दर्द को हल्के कदापि नहीं लेना चाहिए। कूल्हे में दर्द या चलने में दिक्कत होते ही डाक्टर से संपर्क करना चाहिए। कूल्हे की हड्डी ज्यादा घिस जाने पर प्रत्यारोपण ही एकमात्र विकल्प होता है। कई मरीज आपरेशन के डर से कूल्हे का प्रत्यारोपण नहीं कराते। वह तब डाक्टर के पास आते हैं जब कूल्हे की पीछे की हड्डी भी गल चुकी होती है।

आपरेशन की विधि का वीडियो भी साझा

डा. पवन, उत्तर प्रदेश आर्थोपेडिक एसोसिएशन और गोरखपुर आर्थोपेडिक क्लब की ओर से आयोजित वर्चुअल संगोष्ठी में अपने विचार रख रहे थे। कूल्हा प्रत्यारोपण की जरूरत और सावधानियों को लेकर आयोजित संगोष्ठी में लखनऊ के डा. संजय श्रीवास्तव ने कूल्हा प्रत्यारोपण के बाद की दिक्कतों पर प्रकाश डाला। प्रयागराज के डा. केडी त्रिपाठी ने गठिया के कारण खराब हो चुके कूल्हे के सफल प्रत्यारोपण पर प्रकाश डाला। उन्होंने वर्चुअल संगोष्ठी में आपरेशन की विधि का वीडियो भी साझा किया।

गोरखपुर से बाहर अब जाने की जरूरत नहीं

संगोष्ठी का संचालन गोरखपुर आर्थोपेडिक क्लब के सचिव डा. अमित मिश्र ने किया। उन्होंने विशेषज्ञों तक डाक्टरों के सवाल पहुंचाए और प्रत्यारोपण की जटिलताओं पर चर्चा की। कहा कि अब कूल्हे का प्रत्यारोपण गोरखपुर में भी हो रहा है। पहले मरीजों को लखनऊ, दिल्ली आदि शहरों में जाना पड़ता था। देहरादून से डा. हिमांशु कोचर, दिल्ली से डा. एल तोमर, प्रयागराज से डा. अनुराग अग्रवाल, वाराणसी से डा. उन्मेष चक्रवर्ती, इंग्लैंड से डा. सोढी, कानपुर से डा. चंदन कुमार ने नई तकनीक पर प्रकाश डाला। संगोष्ठी की अध्यक्षता उत्तर प्रदेश आर्थोपेडिक एसोसिएशन के अध्यक्ष डा. संजय धवन, सचिव डा. अनूप अग्रवाल और किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी लखनऊ के डा. आशीष कुमार ने की। धन्यवाद ज्ञापन गोरखपुर आर्थोपेडिक क्लब के अध्यक्ष डा. बीबी त्रिपाठी ने किया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.