Khichdi Mela 2022: दिव्य मेले का भव्य इंतजाम, चलेगी विशेष ट्रेनें- मेला पर‍िसर में खुलेगा अस्‍पताल

Khichdi Mela 2022 मेले में देश-विदेश से आने वाले लाखों श्रद्धालुओं को किसी भी तरह की असुविधा न हो इसके लिए हर महकमा तैयारियों में जुट गया है। पुलिस प्रशासन नगर निगम बिजली स्वास्थ्य परिवहन समेत सभी विभागों के अधिकारियों ने कर्मचारियों को सहेजना शुरू कर दिया है।

Pradeep SrivastavaThu, 25 Nov 2021 06:10 AM (IST)
प्रशासन ने गोरखपुर ख‍िचड़ी मेले की तैयारी शुरू कर दी है। - फाइल फोटो

गोरखपुर, जेएनएन। गोरखनाथ मंदिर परिसर में मकर संक्रांति पर लगने वाले खिचड़ी मेले को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का मार्गदर्शन और निर्देश मिलने के बाद तैयारियां तेज हो गई हैं। देश-विदेश से आने वाले लाखों श्रद्धालुओं को किसी भी तरह की असुविधा न हो इसके लिए हर महकमा तैयारियों में जुट गया है। पुलिस, प्रशासन, नगर निगम, बिजली, स्वास्थ्य, परिवहन समेत सभी विभागों के अधिकारियों ने कर्मचारियों को सहेजना शुरू कर दिया है।

हर तरफ होगी भव्‍यता

गोरखनाथ मंदिर प्रबंधन भी तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटा है। मंदिर का नया चमकता गेट श्रद्धालुओं का स्वागत करेगा तो मेला परिसर में सुविधा के सभी इंतजाम होंगे। धूल न उड़े इसलिए पूरे परिसर में पाथ-वे बनाकर इंटरलाकिंग सड़कें ईंट बिछा दी गई है। दो नए ब्लाक बनाकर टायलेट की सुविधा भी बढ़ा दी गई है। ड्रेनेज सिस्टम ऐसा तैयार किया गया है, जिससे परिसर में जल-जमाव नहीं होगा। मंदिर के गेट पर पूछताछ केंद्र होगा, जहां मेले से जुड़ी सारी जानकारी मिल जाएगी। फसाड, सोलर और हाईमास्ट लाइट से पूरा मेला परिसर रात को भी जगमग रहेगा। पार्किंग व्यवस्था भी दुरुस्त की जा रही है। यज्ञ मंडप बनकर तैयार है। मंदिर का गेट भी नए सिरे से बनाया जा रहा है। मेला प्रबंधक शिवशंकर उपाध्याय ने बताया कि मेले के लिए दुकानों के आवंटन की प्रक्रिया 15 दिसंबर के बाद शुरू की जाएगी। दुकानदारों और श्रद्धालुओं को किसी तरह की असुविधा नहीं होने दी जाएगी।

मेला में खुलेगा अस्पताल, होगा टीकाकरण

स्वास्थ्य विभाग में खिचड़ी मेले की तैयारियों के संबंध में बैठककर चर्चा की गई। सीएमओ डा. सुधाकर पांडेय ने बताया कि खिचड़ी मेले में अस्थाई अस्पताल खोला जाएगा। यहां की ओपीडी में निश्शुल्क दवाएं मिलेंगी। इसके अलावा जिला अस्पताल में 20, चरगांवा व जंगल कौडिय़ा सीएचसी पर 10-10 बेड रिजर्व किए जाएंगे। मेले में सुबह दस से शाम चार बजे तक चार बूथों पर कोरोना संक्रमण की जांच व टीकाकरण किया जाएगा। यहां मोबाइल वैन और चार एंबुलेंस भी मौजूद रहेगी। मकर संक्रांति के एक सप्ताह पूर्व से ही सभी डाक्टरों की छुट्टी निरस्त कर दी जाएगी। कोई डाक्टर बिना सूचना के जिला मुख्यालय नहीं छोड़ेगा। तीन शिफ्ट में दो-दो डाक्टर, फार्मासिस्ट, स्टाफ नर्स, वार्ड ब्वाय, वैक्सिनेटर की ड्यूटी लगाई जाएगी।

चलेंगी दो जोड़ी मेला स्पेशल पैसेंजर ट्रेनें

श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए दो जोड़ी पैसेंजर ट्रेनें (सवारी गाडिय़ां) चलाई जाएंगी। एक ट्रेन गोरखपुर-नौतनवां और दूसरी गोरखपुर-बढऩी रूट पर चलेगी। साथ ही एक सप्ताह तक इन रूटों पर चलने वाली सभी एक्सप्रेस ट्रेनें छोटे स्टेशनों पर भी रुकते हुए चलेंगी। मेला के दौरान ट्रेनों के अलावा स्टेशनों की सुरक्षा व्यवस्था के लिए चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा बल तैनात रहेंगे। स्टेशनों पर यात्रियों को सभी ट्रेनों की अपडेट जानकारी मिलती रहेगी। प्लेटफार्मों पर चिकित्सा कैंप लगेंगेे। जनरल टिकट के लिए अतिरिक्त काउंटर भी खोले जाएंगे।

होगी अतिरिक्त बसों की व्यवस्था

परिवहन निगम भी खिचड़ी मेला के लिए अतिरिक्त बसें चलाने के इंतजाम में जुटा है। सोनौली, महराजगंज, ठूठीबारी, सिद्धार्थनगर, देवरिया, रुद्रपुर और बस्ती रूटों पर नियमित के अलावा अतिरिक्त बसों की व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी। मेला के पहले ही साधारण बसों की मरम्मत करा ली जाएगी। बस स्टेशनों और मेला परिसर में राहत कैंप भी लगाए जाएंगे, जिससे श्रद्धालुओं को बसों के बारे में समुचित जानकारी दी जा सके।

नगर निगम कराएगा सफाई, पानी की व्यवस्था

नगर निगम सफाई, अस्थायी शौचालय, अस्थायी हैंडपंप, पेयजल के लिए टैंकर, पथ प्रकाश, वाहन स्टैंड, फागिंग के साथ ही सोडियम हाइपो क्लोराइट के घोल का भी छिड़काव कराया जाएगा। नगर आयुक्त अविनाश सिंह ने बताया कि सड़कों की मरम्मत का काम शुरू कर दिया गया है। अलाव के लिए पर्याप्त लकड़ी का इंतजाम रहेगा।

जर्जर तार व पोल बदले जाएंगे

बिजली निगम गोरखनाथ क्षेत्र में जर्जर तार व पोल बदलेगा। निर्बाध आपूर्ति के लिए ट्रांसफार्मरों की क्षमता बढ़ाई जाएगी और 24 घंटे कर्मचारियों की तैनाती की जाएगी। पंडाल और झूलों समेत बिजली से चलने वाले सभी उपकरणों की लगातार जांच की जाएगी। अधीक्षण अभियंता शहर यूसी वर्मा ने बताया कि खिचड़ी मेला के लिए बिजली निगम की तैयारियां शुरू हो गई हैं।

वाच टावर, ड्रोन व सीसी कैमरे से होगी निगरानी

खिचड़ी मेला में सुरक्षा-व्यवस्था को लेकर भी मंथन शुरू हो गया है। सुरक्षा की दृष्टि से परिसर को चार जोन व 12 सेक्टर में बांटा गया है। परिसर में महत्वपूर्ण स्थानों पर वाच टावर बनाकर 24 घंटे निगरानी होगी। सुरक्षा में एटीएस कमांडों के साथ ही पीएसी व पुलिस के 1020 से अधिक जवान मुस्तैद रहेंगे। एसएसपी डा.विपिन ताडा और जिलाधिकारी विजय किरन आनन्द गोरखनाथ मंदिर का दौरा कर व्यवस्था का जायजा ले चुके हैं। संयुक्त बैठक में तय हुआ है कि मंदिर मार्ग पर सीसी कैमरे लगाए जाएंगे। मंदिर में एक अस्थायी थाना और सात पुलिस चौकी खुलेगी। मेला थाना में कंट्रोल रुम बनाकर 24 घंटे मानीटङ्क्षरग की जाएगी। मेला के दौरान ड्रोन से भी नजर रखी जाएगी।

इतनी होती है फोर्स की तैनाती

पीएसी : 5 कंपनी

आरएफ : 01 कंपनी

एटीएस : 01 टीम (28 कमांडो)

एएसपी : 05

फायर टेंडर : 04

सीओ : 12

निरीक्षक : 31

उप निरीक्षक : 260

महिला उपनिरीक्षक : 21

सिपाही : 1020

महिला सिपाही : 275

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.