UP Governor आंनदीबेन पटेल ने कहा-डिग्री हासिल कर लेने से सफर समाप्‍त नहीं हो जाता Gorakhpur News

दीक्षा समारोह को आनलाइन संबोधित करतीं कुलाधिपति व प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, जागरण।

राज्यपाल ने कहा डिग्री लेना वह अवसर होता है जब हम अपने नए जीवन की बेहतरीन शुरुआत की प्रतिज्ञा करते हैं। जीवन को नए सिरे से गढ़ने का संकल्प लेते हैं। वह शिक्षा के क्षेत्र में समय के बदलाव को महसूस करें।

Satish Chand ShuklaMon, 12 Apr 2021 03:06 PM (IST)

गोरखपुर, जेएनएन। कुलाधिपति व प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा कि डिग्री हासिल कर लेने से विकास का सफर समाप्त नहीं हो जाता। अभी बहुत सी चुनौतियां सामने आएंगी, उनका डटकर मुकाबला करना होगा। अपने जीवन में विकास की नई पृष्ठभूमि तैयार करनी होगी। ऊचांइयों को छूने की अपार संभावनाएं है। इस दिशा में सरकारात्मक सोच के साथ निरंतर प्रयत्न करते रहने की जरूरत है।

कुलाधिपति व प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल सोमवार को दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय के 39वें दीक्षा समारोह के दौरान अपने आनलाइन संबोधित कर रहीं थीं। राज्यपाल ने कहा डिग्री लेना वह अवसर होता है, जब हम अपने नए जीवन की बेहतरीन शुरुआत की प्रतिज्ञा करते हैं। जीवन को नए सिरे से गढ़ने का संकल्प लेते हैं। राज्यपाल ने विद्यार्थियों से कहा कि वह शिक्षा के क्षेत्र में समय के बदलाव को महसूस करें और उसी दृष्टि से अपनी आगे की योजना बनाएं। नई शिक्षा नीति की चर्चा करते हुए राज्यपाल ने कहा कि इससे स्वदेशी की भावना और बलवती होगी और आत्मनिर्भर भारत का सपना साकार होगा। राज्यपाल ने विश्वविद्यालय के शिक्षकों और छात्रों से वैक्सीन उत्सव में सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित करने की अपील की, जिससे कोरोना संक्रमण पर काबू पाया जा सके।

विकास की राह पर बने रहने के लिए जड़ों को मजबूत करना जरूरी: बतौर मुख्य अतिथि मांटगोमरी कालेज मैरीलैंड, अमेरिका के वाइस प्रेसिडेंट आफ एकेडमिक अफेयर डा. संजय राय ने अपने आनलाइन संदेश में विद्यार्थियों से अपील की कि वह विकास को लेकर अपनी सीमा आकाश को बनाएं लेकिन हमेशा अपनी जड़ों और अपनी संस्कृति के करीब रहें। क्योंकि विकास की राह पर मजबूती से बने रहने के लिए जड़ों का मजबूत रहना बेहद जरूरी है।

गोरखपुर विश्वविद्यालय में किए जा रहे शैक्षणिक विकास के प्रयास की सराहना करते हुए डा. राय ने कहा कि निश्चित रूप से यह विश्वविद्यालय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मेक इन इंडिया और स्किल इंडिया इनिशिएटिव अभियान को अपना लक्ष्य पाने में सहयोग करेगा। उन्होंने कोरोना काल में भी उत्तर प्रदेश को विकास के पथ पर आगे बढ़ाते रहने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रयासों की सराहना की। इससे पहले कुलपति प्रो. राजेश सिंह ने अतिथियों का स्वागत करते हुए विश्वविद्यालय की प्रगति आख्या प्रस्तुत की। आनलाइन और आफ लाइन मोड में आयोजित समारोह में 54 टापरों को कुलपति द्वारा गोल्ड मेडल से नवाजा गया। इस दौरान 67613 विद्यार्थियोें को स्नातक व परास्नातक की डिग्री दी गई। 155 शोधार्थियों को पीएचडी की उपाधि प्रदान की गई।

छात्राओं ने फिर मारी बाजी: एक बार फिर मेडल हासिल करने में छात्राओं ने बाजी मारी। टापरों में 80 फीसद छात्राएं शामिल रहीं। पीएचडी की उपाधि हासिल करने वालों में छात्राएं ही आगे रहीं। पीएचडी उपाधि हासिल करने वाले शोधार्थियों में 61 फीसद छात्राएं रहीं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.