दीनदयाल उपाध्‍याय की जन्म जयंती को यादगार बनाएगा गोरखपुर विश्वविद्यालय, आयोजित होगी संगोष्‍ठी

दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय में पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जन्म जयंती को यादगार बनाए जाने की तैयारियां शुरू हो गई हैं। इस अवसर पर 22 सितंबर से लेकर 25 सितंबर तक संगोष्ठियाेें और खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा।

Navneet Prakash TripathiThu, 23 Sep 2021 12:05 PM (IST)
दीनदयाल उपाध्‍याय की जन्म जयंती को यादगार बनाएगा गोरखपुर विश्वविद्यालय। प्रतीकात्‍मक फोटो

गोरखपुर, जागरण संवाददाता। दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय में पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जन्म जयंती को यादगार बनाए जाने की तैयारियां शुरू हो गई हैं। इस उपलक्ष्य में 22-25 सितंबर तक संगोष्ठियों का आयोजन संवाद भवन और दीक्षा भवन में करने की तैयारी है। अधिष्ठाता छात्र कल्याण अजय सिंह को आयोजन समिति का अध्‍यक्ष बनाया गया है। उन्‍होंने बताया कि आयोजन के पहले दिन दीनदयाल के विचारों को साकार करती सरकारें विषय पर संगोष्ठी के साथ व्याख्यानमाला की शुरुआत होगी। इसके मुख्य अतिथि शांतनु महाराज होंगे। कुलपति प्रो. राजेश सिंह आयोजन की आनलाइन अध्यक्षता करेंगे। विशिष्ट अतिथि बालमुकुंद पांडेय और रत्नाकर होंगे।

खेल प्रतियोगिताओं का भी होगा आयोजन

23 और 24 सितंबर को अलग-अलग विषयों पर संगोष्ठी का आयोजन होगा। इसके लिए अतिथियों के नाम तय कर लिए गए हैं। 24 सितंबर को क्रीड़ा परिषद की ओर से खेल प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा। विजेता खिलाडिय़ों को उसी शाम को पुरस्कृत भी किया जाएगा। 25 सितंबर को मुख्य कार्यक्रम दीक्षा भवन में होगा, जिसके मुख्य अतिथि डा. शिव प्रकाश सिंह होंगे। अध्यक्षता कुलपति करेंगे।

मानव-मानव एक समान, तब हो जन-जन का सम्मान

दीनदयाल उपाध्याय शोधपीठ की ओर से मंगलवार को पं. दीनदयाल उपाध्याय के विचार विषय पर स्लोगन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। प्रतियोगिता में छात्रों ने स्लोगन के माध्यम से अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। कार्यक्रम संयोजक प्रो. राजर्षि गौड़, सह-संयोजक डा. कपींद्र ने दीनदयाल के विचारों एवं कथनों पर चर्चा की। बीकाम द्वितीय वर्ष के छात्र अंकित विश्वकर्मा ने अपने स्लोगन 'यदि मन में हो मानवता तो, व्यक्ति को मोक्ष प्राप्त हो जाएगाÓ और 'एकात्मकता को यदि जान गए, तो भारत इतिहास नया रच जाएगाÓ से लोगों का ध्यान खींचा।

छात्रों ने बनाए आकर्षक स्‍लोगन

एमए तृतीय सेमेस्टर की छात्रा शिवानी यादव 'हम सब का हो एक प्रयास, अंत्योदय से ही सबका विकास और 'आओ एक समझदारी भरा कदम उठाए, एकात्म मानव दर्शन को अपनाएं स्लोगन से लोगों की वाहवाही लूटी। बीएस द्वितीय वर्ष के छात्र शैलेश कुमार, एमकाम द्वितीय वर्ष के छात्र सतीश कुमार यादव, ज्योति, नूरसबा खातून, दीपक कुमार, हर्तित आदि छात्रों का स्लोगन भी खूब सराहा गया। इस दौरान डा. प्रवीन कुमार सिंह, डा. मीतू सिंह आदि मौजूद रहे। संचालन डा. अनुपमा कौशिक और धन्यवाद ज्ञापन डा. अमित कुमार उपाध्याय ने किया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.