गोरखपुर विश्‍वविद्यालय के प्रो. नसीम बोले, पूरी दुनिया के लिए आदर्श हैं मोहम्मद साहब

दीनी नुमाइश अपनी तारीख जानने का एक अहम जरिया है। इस तरह के आयोजन समाज के लिए प्रेरणादायक हैं। पैगंबर हजरत मोहम्मद साहब पूरे संसार के लिए आदर्श हैं। उनकी शिक्षाओं को अगर हम अपने आचरण में समा लें तो यह दुनिया जन्नत सी हो जाएगी।

Navneet Prakash TripathiTue, 30 Nov 2021 01:52 PM (IST)
नुमाइश में हस्‍तलिखित कुरान काेे देखते ाुख्य अतिथि प्रो.अहमद नसीम,कालेज के प्रबंधक महमूद सईद हारिस,डा.रफीउल्लाह बेग व अन्य। जागरण

गोरखपुर, जागरण संवाददाता। दीनी नुमाइश अपनी तारीख जानने का एक अहम जरिया है। इस तरह के आयोजन समाज के लिए प्रेरणादायक हैं। पैगंबर हजरत मोहम्मद साहब पूरे संसार के लिए आदर्श हैं। उनकी शिक्षाओं को अगर हम अपने आचरण में समा लें तो यह दुनिया जन्नत सी हो जाएगी। ऐसे नुमाइश से बच्‍चों को बहुत कुछ सीखने को मिलेगा। यह बातें गोरखपुर विश्वविद्यालय के विधि विभाग के प्रो. अहमद नसीम ने कही।

शिक्षा से होकर गुजरता है तरक्‍की का रास्‍ता

मियां साहब इस्लामियां इंटर कालेज में तीन दिवसीय सीरत-उन-नबी जलसा एवं दीनी तालीमी नुमाइश के उद्घाटन कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि तरक्की का रास्ता शिक्षा से होकर गुजरता है। इसलिए सभी लोग ब'चों की शिक्षा पर सबसे ज्यादा जोर दें। दीनी (धार्मिक) व दुनियावी दोनों तरह की तालीम बच्‍चों को दिलाएं।

नुमाइश में दिखाई गई मोहम्‍मद साहब की जिंदगी को दर्शाने वाले जगहें

नुमाइश में इस्लाम का इतिहास, मुकद्दस मकामात (धार्मिक स्थल), हस्तलिखित कुरआन की प्रतियां आकर्षण का केंद्र थे। इसके अलावा तमाम बैनरों, पोस्टरों के जरिये इस्लामी शिक्षा, महिलाओं, रिश्तेदारों और पड़ोसियों के हुकूक बताए गए। यही नहीं पैगंबर मोहम्मद साहब की जिंदगी को दर्शाने के साथ इस्लाम से जुड़ी अहम जगहों को दिखाया गया है। इस्लाम में स्त्रियों के अधिकार के साथ मुस्लिम पर्सनल ला में बताए अनुच्‍छेदों को भी पेश किया गया है।

कलाम पाक के तिलावत से हुई जलसे की शुरुआत

इससे पहले सुबह आठ बजे कलाम पाक की तिलावत (पाठ) से जलसे की शुरुआत हुई। स्कूल, मदरसा और मकतब के छात्रों के बीच किरात व क्विज का मुकाबला हुआ, जिसमें छात्रों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। इस मौके पर कालेज के प्रधानाचार्य जफर अहमद खां, प्रबंधक महबूब सईद हारिस, हाफिज असदउल्लाह, हाफिज रफीउल्लाह बेग, ओवैस सिद्दीकी, मुख्तार अहमद, प्रमोद श्रीवास्तव, रिजवानुल हक, अहसन जमाल, दानिश अहमद खान, तारिक अब्बासी, मोहम्मद रेहान, शाहिद नबी आदि मौजूद रहे।

यह रहे विजेता

जूनियर स्कूल वर्ग में

मोहम्मद लतीफ-प्रथम

हुजैफा अंसारी-द्वितीय

मोहम्मद इस्लाम-तृतीय

मकतब-मदरसा

प्राइमरी वर्ग

अब्दुल हन्नान-प्रथम

मोहम्मद उस्मान-द्वितीय

मोहम्मद फरहान-तृतीय

जूनियर वर्ग

मोहम्मद मुदस्सीर-प्रथम

मोहम्मद हुजैफा-द्वितीय

मोहममद अलवियान-तृतीय

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.