गोरखपुर फर्टिलाइजर परिसर में प्रधानमंंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने दबाई बटन, खुशी से झूमा एम्स

PM Modi Gorakhpur visit today अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के लिए सात दिसंबन का दिन बेहद खास रहा। इलाज के लिए पूरी तरह तैयार हो चुके एम्स का उद्घाटन प्रधानमंत्री मोदी के हाथों हुआ। उन्होंने उद्घाटन की बटन भले ही फर्टिलाइजर में दबाई लेकिन खुशी में एम्स झूम उठा।

Navneet Prakash TripathiTue, 07 Dec 2021 06:34 PM (IST)
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एम्‍स का लाेकार्पण किया। प्रतीकात्‍मक फोटो

गोरखपुर, गजाधर द्विवेदी। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के लिए सात दिसंबन का दिन बेहद खास रहा। इलाज के लिए पूरी तरह तैयार हो चुके एम्स का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के हाथों हुआ। उन्होंने उद्घाटन की बटन भले ही फर्टिलाइजर परिसर में दबाई लेकिन खुशी में एम्स झूम उठा। डाक्टर हों या मरीज उनका वर्षों का सपना पूरा हो रहा था। उद्घाटन समारोह का सजीव प्रसारण एम्स के लेक्चर हाल-तीन में किया गया। पल-पल की गतिविधियों पर लोगों की नजर थी। तालियां बजती रहीं और 'जय हो' का घोष गूंजता रहा। उत्सव व उल्लास का माहौल था।

लोकार्पण का किया लाइव प्रसारण

लेक्चर हाल-तीन में सजीव प्रसारण 12 बजे ही शुरू कर दिया गया था। फर्टिलाइजर परिसर में आयोजित उद्घाटन समारोह का पूरा दृश्य एम्स में बैठे लाेग देख रहे थे। हाल में बैठै डाक्टर व विद्यार्थी मंच पर प्रधानमंत्री के आने की प्रतीक्षा कर रहे थे। इसी बीच खाद कारखाना के माडल के पास जाते प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ स्क्रीन पर नजर आए। डाक्टरों व विद्यार्थियों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा।

तालियां बजीं और गूंजा जय हो....

तालियां बजीं और 'जय हो' के स्वर से पूरा हाल गूंज उठा। इसके बाद एम्स का माडल देखने पहुंचे पीएम को जब एम्स की कार्यकारी निदेशक डा. सुरेखा किशोर ने दिखाना शुरू किया तो पुन: तालियों की गड़गड़ाहट से हाल गूंजा। इसके बाद क्षेत्रीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान केंद्र (आरएमआरसी) का माडल देखने से लेकर पीएम के मंच पर पहुंचने तक लोगों की निगाहें स्क्रीन पर जमी रहीं। सदर सांसद रवि किशन द्वारा भोजपुरी में भारत माता, वंदेमातरम व मोदी-मोदी के जयघोष की अपील पर ठहाके भी लगे और तालियां भी बजीं।

पीएम के भाषण पर गूंजती रही तालियां

मंच पर पहुंचने के बाद जब प्रधानमंत्री ने हाथ हिलाकर लोगों का अभिवादन किया तो तालियों की आवाज के साथ 'जय हो' की गूंज वातावरण में व्याप्त हो गई। जब पीएम को अंग वस्त्र व गणेश जी की टेराकोटा की मूर्ति मुख्यमंत्री ने भेंट की तो पुन: तालियों से हाल गूंजा, लग रहा था कार्यक्रम फर्टिलाइजर परिसर में नहीं, एम्स में ही हो रहा है। स्क्रीन पर एम्स की फिल्म देखने, पीएम द्वारा भोजपुरी में संबोधन शुरू करने और लाल टोपी वालों को रेड एलर्ट कहने पर भी तालियों से हाल गूंज उठा। उनके संबोधन में जब-जब विकास व बदलाव की बात आई तो डाक्टर व विद्यार्थी तालियां बजाने से स्वयं को रोक नहीं सके। पूरा माहौल उत्सव व उल्लास से लबरेज रहा। परिसर से लेकर एम्स की दीवारों तक मुख्यमंत्री द्वारा प्रधानमंत्री के स्वागत के पोस्टर-बैनर लगाए गए थे।

ब्रेस्ट कैंसर के मरीज की हुई जांच, दो-तीन दिन में होगी सर्जरी

एम्स में 14 आपरेशन थियेटर के साथ 300 बेड अस्पताल मंगलवार को शुरू कर दिया गया। पहले दिन मंझरिया निवासी गीता देवी की जांच की गई। ब्रेस्ट कैंसर की पुष्टि होने के बाद उनकी अन्य जांचें भी कराई गईं। आपरेशन दो-तीन दिन में किया जाएगा। एम्स में यह पहला बड़ा आपरेशन होगा। हार्निया, पाइल्स, फिस्टुला, हड्डी व ईएनटी आदि के आपरेशन पहले से हो रहे हैं।

एम्स में सात दिसंबर को इलाज

-958 मरीज ओपीडी में देखे गए

-11 मरीज भर्ती किए गए

-17 मरीज पहले से भर्ती हैं

-28 भर्ती मरीजों का इलाज हो रहा है

पीएम ने पूर्वांचल को दिया बडा तोहफा

एम्‍स में रेडियोथेरेपी विभाग के विभागध्‍यक्ष डा. शशांक शेखर ने कहा कि प्रधानमंत्री ने एम्स के रूप में पूर्वांचल को जो तोहफा दिया है, उसका लाभ बिहार व नेपाल को भी मिलेगा। अब गंभीर मरीजों की सर्जरी व जांच यहीं हो सकेगी।

मरीजों को मिलेगी बडी राहत

एम्‍स में सर्जरी विभाग के विभागाध्‍यक्ष डा. गाैरव गुप्‍ता ने कहा कि निजी अस्पतालों में अधिक रुपये खर्च कर इलाज कराने वाले मरीजों को बड़ी राहत मिलेगी। यहां निश्शुल्क आपरेशन होगा और बेहतर इलाज मिल सकेगा।

हो सकेंगे बडे आपरेशन

हड्डी रोग विभाग के विभागध्‍यक्ष डा. सुधीर श्‍याम कुशवाहा ने कहा कि एम्स में मरीजों का इलाज बहुत पहले से चल रहा है। छोटे आपरेशन भी हो रहे थे। अब बड़े आपरेशन भी यहां हो सकेंगे। मरीजों को बड़ी राहत मिलेगी।

मरीजों को नहीं जाना पडेगा बाहर

नाक-कान-गला रोग विभाग के असिस्‍टेंट प्रोफेसर डा. पंखुडी मित्‍तल ने कहा कि एम्स में सारी सुविधाएं शुरू हो जाने के बाद अब गंभीर मरीजों को जांच व इलाज के लिए लखनऊ, दिल्ली, मुंबई नहीं जाना पड़ेगा। कम खर्च में यहीं इलाज हो सकेगा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.