श‍िक्षा व‍िभाग पर सख्‍त हुए गोरखपुर के डीएम, 12 प्रधानाचार्यों के इंक्रीमेंट रोका

निर्देश के बाद भी 12 स्कूलों ने निर्धारित तिथि को जियो लोकेशन एप पर अपने-अपने स्कूलों का लोकेशन अपलोड नहीं किया। इस पर सख्त रुख अपनाते हुए डीआइओएस ने संबंधित स्कूलों के प्रधानाचार्यों को नोटिस देते हुए एक इंक्रीमेंट रोकने का निर्देश दिया है।

Pradeep SrivastavaThu, 02 Dec 2021 01:40 PM (IST)
गोरखपुर के डीएम व‍िजय क‍िरण आनंद। - फाइल फोटो

गोरखपुर, जागरण संवाददाता। गोरखपुर जिले में बोर्ड परीक्षा के केंद्र निर्धारण को लेकर स्कूल गंभीर नहीं हैं। निर्देश के बाद भी 12 स्कूलों ने निर्धारित तिथि को जियो लोकेशन एप पर अपने-अपने स्कूलों का लोकेशन अपलोड नहीं किया। इस पर सख्त रुख अपनाते हुए डीआइओएस ने संबंधित स्कूलों के प्रधानाचार्यों को नोटिस देते हुए एक इंक्रीमेंट रोकने का निर्देश दिया है। डीआइओएस ने प्रबंधकों को इस मामले में त्वरित कार्रवाई कर सूचित करने को कहा है। बता दें क‍ि गोरखपुर के डीएम व‍िजय क‍िरण आनंद श‍िक्षा व‍िभाग के कार्यों को लेकर लगातार बैठकें कर रहे हैं। डीएम के न‍िर्देश पर प‍िछले द‍िनों कई अध्‍यापकों का वेतन भी रोक द‍िया गया था।

जियो लोकेशन अपलोड न करने पर डीआइओएस ने दिए निर्देश

डीआइओएस ने प्रधानाचार्यों को दिए गए नोटिस में कहा है कि बोर्ड की 2022 की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षा का केंद्र निर्धारण आनलाइन माध्यम से किया जाना है। इसके तहत प्रत्येक स्कूलों को जियो लोकेशन एप पर विद्यालय का लोकेशन अपलोड करना आवश्यक है। बार-बार निर्देश के बाद भी स्कूलों द्वारा न तो इस संबंध में कोई प्रतिक्रिया दी गई और न ही जियो लोकेशन ही अपलोड किया गया। इसके कारण संबंधित स्कूलों का परीक्षा केंद्र निर्धारण होना संभव नहीं है।

इन स्कूलों के प्रधानाचार्यों पर हुई कार्रवाई

स्वावलंबी इंटर कालेज विशुनपुरा, किसान इंटर कालेज ठाकुर नगर, पंचायत इंटर कालेज परमेश्वरपुर, श्रीकृष्ण कृषि उद्योग उमावि नइयापार, जवाहर शिक्षा निकेतन इंटर कालेज जंगल बब्बन, गांधी शताब्दी इंटर कालेज डेयरी कालोनी, शास्त्री उमावि जटेपुर रेलवे कालोनी, विवेकानंद शिक्षा निकेतन कन्या उमावि शाहपुर, राम अवध जायसवाल कन्या उमावि गीता वाटिका, पं.जवाहर लाल नेहरू इंटर कालेज जैतपुर, एमपी कन्या इंटर कालेज सिविल लाइन तथा जनता इंटर कालेज मजुरी नेवादा।

बोर्ड द्वारा निर्धारित तिथि के अनुसार स्कूलों को 27 नवंबर को जियो लोकेशन अपलोड करना था, लेकिन इस तिथि तक कई प्रधानाचार्यों ने लोकेशन अपलोड किया और न ही कोई सूचना ही दी। इसके कारण इनके विरुद्ध इंक्रीमेट रोकने का निर्देश दिया गया है। - ज्ञानेंद्र प्रताप स‍िंह भदौरिया, डीआइओएस।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.