Khichdi Mela 2022: नए कलेवर में श्रद्धालुओं के स्‍वागत को तैयार हुआ गोरखनाथ मंदिर

Khichdi Mela 2022 गोरखनाथ मंदिर परिसर में मकर संक्रांति के अवसर पर मेला में इस बार श्रद्धालुओं का नया चमकता गेट स्वागत करेगा तो मेला परिसर में उनकी सुविधा के लिए जरूरत के सभी इंतजाम होंगे। प्रशासन ने भी मेला की तैयारी शुरू कर दी है।

Pradeep SrivastavaWed, 24 Nov 2021 12:05 PM (IST)
गोरखपुर में ख‍िचड़ी मेला की तैयारी शुरू हो गई है। - प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

गोरखपुर, जागरण संवाददाता। Khichdi Mela 2022: गोरखनाथ मंदिर परिसर में मकर संक्रांति के अवसर पर आयोजित होने वाले परंपरागत खिचड़ी मेले को लेकर सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का मार्गदर्शन और निर्देश मिलने के बाद इसे लेकर संबंधित सभी विभागों ने अपनी तैयारी तेज कर दी है। नगर निगम, बिजली, स्वास्थ्य, परिवहन सहित सभी विभागों के अधिकारियों ने अपनी-अपनी जिम्मेदारी को लेकर कर्मचारियों को सहेजना शुरू कर दिया है। उधर मेला परिसर में इस बार श्रद्धालुओं को बदले कलेवर में मिलेगा। नया चमकता गेट श्रद्धालुओं का स्वागत करेगा तो मेला परिसर में उनकी सुविधा के लिए जरूरत के सभी इंतजाम होंगे।

नए गेट से होगा श्रद्धालुओं का स्वागत, मिलेगी बेहतर सुविधा

मेला परिसर में श्रद्धालुओं को धूल का सामना नहीं करना पड़ेगा क्योंकि पूरे परिसर में इंटरलाकिंग ईंट बिछा दी गई है। मेला परिसर के भ्रमण में श्रद्धालुओं को कोई असुविधा न हो, इसके लिए पाथ-वे बना दिया गया है। टायलेट की सुविधा भी बढ़ा दी गई है। पहले परिसर में एक टायलेट ब्लाक था और वहां दो टायलेट ब्लाक बना दिया गया है। ड्रेनेज सिस्टम भी दुरुस्त कर दिया गया है, जिससे किसी भी परिस्थिति में परिसर में जल-जमाव नहीं होने पाएगा। मंदिर के गेट पर एक पूछताछ केंद्र बनाया जाएगा, जिससे मेले से जुड़ी जानकारी के लिए श्रद्धालुओं को भटकना नहीं पड़ेगा। रात होने पर रोशनी की समस्या न हो, इसके लिए परिसर में सोलर लाइट और हाई मास्ट लगाया गया है। वाहनों की पार्किंग के लिए श्रद्धालुओं को परेशान न होना पड़े, इसके लिए इस वर्ष पार्किंग व्यवस्था और दुरुस्त की जा रही है।

गेट पर ही श्रद्धालुओं को मिल जाएगी मेला से जुड़ी सारी जानकारी

मंदिर परिसर को भी चमकाया जा रहा है। यज्ञ मंडप बनकर तैयार है। परिसर में मौजूद सभी मंदिरों को फसाड लाइट से सजाया जा रहा है। मंदिर का गेट भी नए सिरे से बनाया जा रहा है। मेला प्रबंधक शिवशंकर उपाध्याय ने बताया कि मेले के लिए दुकानों के आवंटन की प्रक्रिया 15 दिसंबर के बाद शुरू की जाएगी। दुकानदारों से लेकर श्रदधलुओं तक को किसी तरह की असुविधा न हो, इसके लिए मेला प्रबंधन प्रतिबद्ध है।

मेले में खुलेगा अस्पताल, होगा टीकाकरण

मकर संक्रांति पर गोरखनाथ मंदिर में आयोजित होने वाले खिचड़ी मेले को लेकर स्वास्थ्य विभाग ने तैयारियां शुरू कर दी है। मरीजों के इलाज के लिए अस्पताल खोला जाएगा। साथ ही बूथ बनाकर लोगों को कोरोना रोधी टीका लगाया जाएगा और कोविड संक्रमण की जांच भी होगी। मकर संक्रांति के एक सप्ताह पूर्व से ही सभी डाक्टरों की छुट्टी निरस्त कर दी जाएगी। कोई डाक्टर बिना सूचना के जिला मुख्यालय नहीं छोड़ेगा।

सीएमओ डा. सुधाकर पांडेय ने बताया कि मकर संक्रांति पर गोरखनाथ मंदिर में आयोजित होने वाले खिचड़ी मेले के मद्देनजर बैठक कर तैयारियों के संबंध में चर्चा की गई है। मेले में एक अस्पताल खोला जाएगा, जहां केवल ओपीडी संचालित किया जाएगा। तीन शिफ्ट में दो-दो डाक्टर, फार्मासिस्ट, स्टाफ नर्स, वार्ड ब्वाय की ड्यूटी लगाई जाएगी। 24 घंटे स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराई जाएंगी। मरीजों का इलाज किया जाएगा, उन्हें निश्शुल्क दवाएं प्रदान की जाएंगी। जरूरत पड़ने पर एंबुलेंस से उन्हें उच्च चिकित्सा संस्थानों में भेजा जाएगा।

टीकाकरण के लिए बनेंगे चार बूथ

मेले को चार भागों में बांटकर चार स्थानों पर कोविड टीकाकरण के लिए बूथ बनाए जाएंगे। अभी उन बूथों पर सुबह 10 से सायं पांच बजे तक कोरोना रोधी टीका लगाने का निर्णय लिया गया है। जरूरत पड़ने पर इसे 24 घंटे संचालित किया जाएगा। तीन शिफ्ट में वैक्सीनेटर व वेरीफायर की ड्यूटी लगाई जाएगी।

मेले में होगी कोविड संक्रमण की जांच

मेले में कोविड संक्रमण की जांच के लिए एक मोबाइल वैन लगाई जाएगी। वहां हमेशा टीम मौजूद रहेगी। कोई भी व्यक्ति स्वेच्छा से जाकर जांच करा सकेगा। इसके अलावा चार एंबुलेंस वहां आसपास तैनात की जाएंगी।

जिला अस्पताल में 20 व दो सीएचसी पर रिजर्व होंगे 10-10 बेड

खिचड़ी मेले के मद्देनजर जिला अस्पताल में 20 बेड तथा गोरखनाथ मंदिर के निकट स्थित चरगांवा व जंगल कौड़िया सीएचसी पर 10-10 बेड रिजर्व किए जाएंगे। साथ ही सभी शहरी स्वास्थ्य केंद्रों को सतर्क किया जाएगा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.