पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा-नई शिक्षा नीति भारतीयता से परिपूर्ण

सरस्वती शिशु मंदिर पक्कीबाग मे भवन का लोकार्पण करते राज्यसभा सासद शिव प्रताप शुक्ल व अन्य ।
Publish Date:Sat, 24 Oct 2020 11:07 AM (IST) Author: Satish Shukla

गोरखपुर, जेएनएन। राज्यसभा सदस्य एवं पूर्व केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री शिव प्रताप शुक्ल ने कहा कि शिशु मंदिर योजना के जनक ने भारत को जगाने का कार्य किया। काफी चिंतन व मंथन के बाद नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति का बीजारोपण हुआ। विरोधियों ने इसका पुरजोर विरोध किया, लेकिन नई शिक्षा नीति भारतीयता और राष्ट्रीयता से परिपूर्ण है।

 पूर्व केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री यहां सरस्वती शिशु मंदिर पक्कीबाग के प्रशासनिक भवन के लोकार्पण कार्यक्रम को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। बतौर मुख्य वक्ता राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री विद्या भारती यतेंद्र शर्मा ने कहा कि आज सारे देश में विद्या भारती की चर्चा हो रही है। उसमें पक्कीबाग की विशेष चर्चा होती है, क्योंकि शिशु मंदिर का बीजारोपण यहीं से हुआ।  अध्यक्षता करते हुए गोरक्ष प्रांत के संघचालक डा.पृथ्वीराज सिंह ने कहा कि अपनी सामान्य आवश्यकताओं में कटौती करते हुए उसमें शिक्षा को विशेष महत्व देना चाहिए।

अवकाश प्राप्‍त शिक्षक सम्‍मानित

कार्यक्रम के दौरान अवकाश प्राप्त शिक्षक प्रेमचंद दूबे, सुरेंद्र देव शुक्ल, रामबचन गुप्त, प्रमोद श्रीवास्तव, उषा सिंह को सम्मानित किया गया। संचालन निर्मल यादव व आभार ज्ञापन प्रबंधक बलराम अग्रवाल ने किया।  इस अवसर पर विद्यालय के प्रधानाचार्य धीरेंद्र सिंह, यशोदानंद, अक्षय ठाकुर, कमलेश कुमार सिंह, विद्यालय समिति से पुष्पदंत जैन, हरेकृष्ण सिंह, डा.रामनाथ गुप्त, डा.सूर्यकांत त्रिपाठी, प्रो.कीर्ति पांडेय, योगेश, शिवाजी राय, प्रधानाचार्य वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सुभाष चंद्र बोस नगर राज बिहारी विश्वकर्मा, संजय श्रीवास्तव, सरोज तिवारी आदि मौजूद रहे। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.