कुशीनगर एयरपोर्ट पर परीक्षण उड़ान भरेंगे लड़ाकू विमान

कुशीनगर के अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट का गोरखपुर वायुसेना स्टेशन के अधिकारियों ने बुधवार को दौरा किया अधिकारियों ने एयरपोर्ट की विभिन्न सुविधाओं और सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया भविष्य में यहां से एक ओर जहां लड़ाकू विमान परीक्षण उड़ान करेंगे वहीं आपात स्थिति में भी इसका उपयोग हो सकेगा।

JagranThu, 29 Jul 2021 04:00 AM (IST)
कुशीनगर एयरपोर्ट पर परीक्षण उड़ान भरेंगे लड़ाकू विमान

कुशीनगर: भारतीय वायुसेना, कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट का उपयोग आपात स्थिति में करेगी। परीक्षण के तौर पर लड़ाकू विमान जल्द ही रन-वे पर पर उतरते व उड़ान भरते दिखाई देंगे। वायुसेना के अधिकारियों ने बुधवार को एयरपोर्ट का दौरा कर निरीक्षण किया और आवश्यक जानकारियां हासिल कीं।

एयरफोर्स स्टेशन गोरखपुर से आई अधिकारियों की सात सदस्यीय टीम ने एयरपोर्ट निरीक्षण के पश्चात एयरपोर्ट अथारिटी के अधिकारियों के साथ नई टर्मिनल बिल्डिग में बैठक कर डाटा बैंक के लिए फीड बैक लिया। टीम ने रन-वे, एटीसी, एप्रन, टैक्सी-वे, टर्मिनल बिल्डिग, फायर बिल्डिग, विद्युत स्टेशन देखा। संचार सिस्टम, वेदर सिस्टम, इंस्ट्रूमेंट लैंडिग सिस्टम, विजीविलिटी, नेविगेशन, सुरक्षा आदि के संबंध में जानकारी प्राप्त की। एयरपोर्ट महाप्रबंधक संजय नारायण व उप महाप्रबंधक संतोष मौर्य ने टीम को स्थिति की जानकारी दी। महाप्रबंधक ने बताया की वायुसेना अधिकारियों का दौरा एयरपोर्ट को आपात स्थिति में उपयोग करने के लिए था। उन्होंने सुरक्षा की दृष्टि से अधिकारियों के पदनाम बताने से मना कर दिया।

कस्टम की टीम ने भी किया दौरा

कस्टम अधिकारियों की एक टीम भी बुधवार दोपहर बाद एयरपोर्ट का दौरा की। टर्मिनल बिल्डिग में कस्टम के लिए नियत स्थान पर आवश्यक सुरक्षा जांच उपकरण लगाने, आफिस व्यवस्थित करने, कर्मचारियों की तैनाती आदि के संबंध में अथारिटी के अधिकारियों से चर्चा की।

बौद्ध पर्यटन के लिए वरदान होगा लिक एक्सप्रेस-वे

पूर्वांचल लिक एक्सप्रेस-वे बौद्ध पर्यटन व नवनिर्मित कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के लिए वरदान साबित होगा। 91 किलोमीटर लंबे इस मार्ग के बनने के बाद यूपी के दस जिलों के यात्री सीधे कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट से देश विदेश के सुदूरवर्ती क्षेत्रों तक उड़ान भर सकेंगे। इन्हें बौद्ध तीर्थस्थली के दर्शन का भी लाभ मिल सकेगा।

स्थानीय स्तर पर पर्यटन विकास व रोजगार के नए अवसर भी मिल सकेंगे। गोरखपुर से आजमगढ़ तक बनने वाला लिक एक्सप्रेस-वे आजमगढ़ में लखनऊ-गाजीपुर एक्सप्रेस- वे से जुड़ेगा। इससे पर्यटकों को गोरखपुर होते हुए जरिये फोरलेन कुशीनगर पहुंचने में सुगमता होगी। लिक एक्सप्रेस-वे के लिए भूमि अधिग्रहण का कार्य पूरा हो गया है। यह गोरखपुर बाईपास एनएच- 27 पर स्थित ग्राम जैतपुर के पास से शुरू होकर आजमगढ़ के ग्राम सालारपुर में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से जुड़ेगा। लिक एक्सप्रेस से गोरखपुर, आजमगढ़, आंबेडकरनगर, संत कबीरनगर जनपद आच्छादित हो रहे हैं। जबकि 340 किमी लंबी मुख्य पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से लखनऊ, बाराबंकी, अमेठी, अयोध्या, सुल्तानपुर, आंबेडकरनगर, आजमगढ़, मऊ तथा गाजीपुर जिले आच्छादित हो रहे हैं। सरकार ने एक और लिक एक्सप्रेस-वे बनाकर मुख्य एक्सप्रेस-वे को वाराणसी से भी जोड़ा जाना भी प्रस्तावित किया है।

कुशीनगर एयरपोर्ट के डायरेक्टर एके द्विवेदी ने कहा कि एयरपोर्ट के भविष्य के लिए सुखद किसी भी एयरपोर्ट के चलने में यात्रियों की पहुंच काफी मायने रखती है। एक्सप्रेस-वे के निर्माण से निश्चित ही यात्रियों की संख्या बढ़ेगी, जिससे उड़ानों की संख्या बढ़नी स्वाभाविक है। यह भविष्य के लिए सुखद संकेत है।

, ,

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.