यहां बन रहा था नकली डीजल, 39 हजार लीटर तेल बरामद Gorakhpur News

बेलीपार क्षेत्र में पकड़ा गया अपमिश्रित डीजल। जागरण

बेलीपार क्षेत्र के बंद पड़े एक पेट्रोल पंप पर नकली डीजल बनाने व बेचने का भंडाफोड़ हुआ है। ज्वाइंट मजिस्ट्रेट सदर कुलदीप मीणा के नेतृत्व में टीम ने यहां जांच की तो बायो केमिकल से नकली डीजल बनाते चार लोगों को पकड़ा गया।

Rahul SrivastavaSun, 11 Apr 2021 07:10 PM (IST)

गोरखपुर, जेएनएन : बेलीपार क्षेत्र के बंद पड़े एक पेट्रोल पंप पर नकली डीजल बनाने व बेचने का भंडाफोड़ हुआ है। ज्वाइंट मजिस्ट्रेट सदर कुलदीप मीणा के नेतृत्व में टीम ने यहां जांच की तो बायो केमिकल से नकली डीजल बनाते चार लोगों को पकड़ा गया। 39 टैंकों से 39 हजार लीटर नकली डीजल भी बरामद किया गया है। मौके पर पकड़े गए तीन टैंकर सीज कर दिए गए और चार लोगों को हिरासत में ले लिया गया। देर रात तक मुकदमा दर्ज कराने की कार्यवाही चल रही थी।

31 लाख रुपये का है बरामद डीजल

बरामद नकली डीजल की कीमत करीब 31 लाख 50 हजार रुपये आंकी जा रही है। डीजल को जांच के लिए लैब में भेजा जाएगा। पंचायत चुनाव में बूथों के निरीक्षण के लिए निकले ज्वाइंट मजिस्ट्रेट कुलदीप मीणा, तहसीलदार डा. संजीव दीक्षित, आूपर्ति निरीक्षक अरुण सिंह ने बेलीपार क्षेत्र के जंगल दीर्घन सिंह स्थित बंद पड़े पेट्रोल पंप पर कुछ हरकत देखी। टीम ने वहां जाकर चेक किया तो बायोकेमिकल से नकली डीजल तैयार किया जा रहा था। मौके पर इंडियन आयल के विक्रय अधिकारी उमाशंकर, आपूर्ति निरीक्षक बृजेश कुमार दुबे, जितेंद्र सिंह, अशोक गुप्ता एवं राकेश यादव को भी बुला लिया गया। यह पेट्रोल पंप विनोद चंद पुत्र हरिश्चंद्र चंद द्वारा संचालित किया जाता था। कुछ अनियमितताओं के कारण आपूर्ति विभाग की ओर से इस पेट्रोल पंप का लाइसेंस 2013 में टर्मिनेट कर दिया गया था। बंद पड़े पेट्रोल पंप पर टैंकर देखकर टीम को शक हुआ। जांच करने पर वहां नकली डीजल बनता मिला। मौके पर पानी की 39 टंकियां थीं और उसमें 39 हजार लीटर नकली डीजल मिला। डीजल को जब्त कर लिया गया।

तीन टैंकर किए गए सीज

टीम की ओर से मांगने पर कोई लाइसेंस भी नहीं दिखाया जा सका। तीनों टैंकर सीज कर दिए गए। बेलीपार संवाददाता के अनुसार मौके से महराजगंज जिले के गढ़वा निवासी गोविंद यादव, इसी जिले के आनंदनगर निवासी संतराम, कन्हौली देवरिया निवासी मनोज कुमार भारती एवं कुशीनगर के मोती पाकड़ निवासी ओमप्रकाश सिंह को हिरासत में लिया गया। बेलीपार थाने पर उनसे कड़ाई से पूछताछ की जा रही है। शुरूआती पूछताछ में गगहा निवासी विनोद चंद एवं पेट्रोल पंप पर मैनेजर रहे नीरज पांडेय का नाम भी सामने आया है। इस बात की जानकारी जिलाधिकारी को भी दी गई है। इस धंधे में लिप्त सभी लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

ग्रामीण क्षेत्रों में होती थी खपत

नकली डीजल की खपत बड़े पैमाने पर ग्रामीण क्षेत्रों में की जाती थी। टैंकर से बायोकेमिकल लाया जाता था और पेट्रोल पंप पर चोरी चुपके नकली डीजल तैयार किया जाता था। उसके बाद छोटी-छोटी गाड़‍ियों से डीजल ग्रामीण क्षेत्रों में खपाने के लिए भेज दिया जाता था। पेट्रोल पंप से भी बिक्री की जाती थी।

सभी पर की जाएगी सख्‍त कार्रवाई

ज्वाइंट मजिस्ट्रेट/एसडीएम सदर कुलदीप मीणा ने कहा कि भारी मात्रा में नकली डीजल पकड़ा गया है। स्थानीय थाने पर पकड़े गए लोगों से पूछताछ की जा रही है। नकली डीजल के कारोबार में लिप्त सभी लोगों को पकड़ा जाएगा, उनपर सख्त कार्रवाई होगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.