रेल संपत्तियों को बेचने के विरोध में आ गए कर्मचारी संगठन, स्टेशन पर किया प्रदर्शन

कर्मचारी संगठन रेल संपत्तियों के बेचे जाने के विरोध में उतर आए हैं। एनई रेलवे मजदूर यूनियन (नरमू) ने महामंत्री केएल गुप्त के नेतृत्व में रेलवे स्टेशन परिसर में प्रदर्शन किया। सरकार विरोधी नारे लगाते हुए यूनियन के सदस्यों ने आम यात्रियों को भी अपने पक्ष में खड़ा किया।

Rahul SrivastavaWed, 15 Sep 2021 07:11 PM (IST)
निजीकरण के विरोध में रेलवे स्टेशन पर प्रदर्शन करते नरमू के सदस्य। सौ. नरमू

गोरखपुर, जागरण संवाददाता : कर्मचारी संगठन रेल संपत्तियों के बेचे जाने के विरोध में उतर आए हैं। एनई रेलवे मजदूर यूनियन (नरमू) ने महामंत्री केएल गुप्त के नेतृत्व में रेलवे स्टेशन परिसर में प्रदर्शन किया। सरकार विरोधी नारे लगाते हुए यूनियन के सदस्यों ने आम यात्रियों को भी अपने पक्ष में खड़ा किया। महामंत्री ने कहा कि आल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन (एआइआरएफ) के आह्वान पर देशभर में रेल बचाओ-देश बचाओ अभियान के तहत धरना-प्रदर्शन चल रहा है।

मूल्यवान संपत्तियों को बेचकर धन एकत्र करने की योजना

सरकार ने मौद्रीकरण अभियान के तहत चार पर्वतीय रेलवे तथा कार्मिक विभाग को खत्म करने के अलावा 400 रेलवे स्टेशनों, 15 रेलवे स्टेडियम, 90 पैसेंजर गाड़ियां, 256 गुड्स शेड, 741 किलोमीटर डेडिकेटेड फ्रेट कारिडोर, 1400 किलोमीटर ओएचई ट्रैक सामग्री और रेलवे कालोनी आदि 152496 करोड़ रुपये की मूल्यवान संपत्तियों को बेचकर धन एकत्र करने की योजना बनाई है। सरकार ने इस योजना को रेलवे को बेचने का नाम न देकर मौद्रीकरण अभियान दिया है। जब सबकुछ बिक ही जाएगा तो रेलवे के पास क्या बचेगा। यह रेलवे को समाप्त करने की साजिश है। इस मौके पर नवीन कुमार मिश्र, मुन्नी लाल गुप्ता, ओंकार सिंह, विनय कुमार श्रीवास्तव, प्रवीण चौधरी, हेमंत शर्मा, संजय मालवीय और अशोक त्रिपाठी आदि पदाधिकारी मौजूद थे।

पीआरकेएस ने कारखाना गेट पर किया प्रदर्शन

नेशनल फेडरेशन आफ इंडियन रेलवे के आह्वान पर पूर्वोत्तर रेलवे कर्मचारी संघ (पीआरकेएस) ने निजीकरण के विरोध में यांत्रिक कारखाना गेट पर प्रदर्शन किया। राष्ट्रीय विरोध सप्ताह के तहत आयोजित प्रदर्शन में महामंत्री विनोद कुमार राय ने सरकार से रेल संपत्तियों की बिक्री पर रोक लगाने की मांग की। उन्होंने कहा कि संपत्तियों के बिक जाने से रेलवे का अस्तित्व ही समाप्त हो जाएगा। इस मौके पर आरपी भट्ट, डीके तिवारी, विजय पाठक, दीपक चौधरी और कुलदीप मणि आदि पदाधिकारी मौजूद थे।

ट्राली बैग के विरोध में लोको पायलट ने दिया धरना

लाइन बाक्स की जगह ट्राली बैग दिए जाने का विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा। आल इंडिया लोको रनिंग स्टाफ एसोसिएशन के आह्वान पर पूर्वोत्तर रेलवे के लोको पायलटों ने गोरखपुर स्टेशन स्थित डीजल लाबी परिसर में धरना दिया। हालांकि, इस प्रकरण को लेकर रेलवे बोर्ड में बैठक होनी है। इसके बाद भी लोको पायलटों का धरना-प्रदर्शन जारी है। इस मौके पर एसोसिएशन के क्षेत्रीय मंत्री विनय शर्मा, शिवपूजन वर्मा, मिथलेश मिश्रा, अमित श्रीवास्तव, सतेंद्र कुमार, किशोर कुमार, केदार राम आदि लोको पायलट मौजूद थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.