मंदिर में चोरी का विरोध करने पर हुई थी बुजुर्ग साध्‍वी व पुजारी की हत्‍या

महराजगंज जिले में परसामलिक थाना क्षेत्र के महदेइया गांव में 18 नवंबर की रात हुई बुजुर्ग साध्‍वी और पुजारी की हत्‍या के मामले का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है। मंदिर के घंटियों की चोरी के दौरान विरोध करने पर घटना को अंजाम दिया था।

Navneet Prakash TripathiSat, 04 Dec 2021 10:05 AM (IST)
घटना का पर्दाफाश करते (मध्य में) एसपी प्रदीप गुप्ता व पुलिस टीम । जागरण

गोरखपुर, जागरण संवाददाता। महराजगंज जिले में परसामलिक थाना क्षेत्र के महदेइया गांव में 18 नवंबर की रात हुई बुजुर्ग साध्‍वी और पुजारी की हत्‍या के मामले का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है। महदेइया गांव के ही दामाद ने अपने साथी के साथ मंदिर के घंटियों की चोरी के दौरान विरोध करने पर घटना को अंजाम दिया था। पुलिस ने मामले में चोरी का माल खरीदने वाले बर्तन व्यापारी को भी आरोपित बनाया है। एसपी प्रदीप गुप्ता ने प्रेसवार्ता कर घटना का पर्दाफाश होने की जानकारी दी।

मुख्‍य आरोपित की महदेइया गांव में है ससुराल

एसपी प्रदीप गुप्ता ने बताया कि फरेंदा कस्बा के निरालानगर निवासी मुख्य आरोपित रोहित महदेइया गांव का दामाद है। महदेइयां गांव यानि की उसके ससुराल में उसका लगातार आना जाना लगा रहता था। इसी दौरान उसकी नजर मंदिर पर टंगे घंटियों पर पड़ी, और उसने इन्हें चुराने का मन बना लिया। इस कार्य के लिए उसने अपने साेनौली थाना क्षेत्र के कैथवलिया निवासी साढ़ू के छोटे भाई संतोष को साथ मिलाया। दाेनों 18 की रात को महदेइया गांव पहुंच गए थे।

शराब पीने के बाद चोरी करने पहुंचे थे मंदिर

शाम होने के बाद दोनों ने मिलकर शराब पीया और फिर देर रात को मंदिर में घंटियों की चोरी की नियत से प्रवेश किया। वे अभी मंदिर की घंटिया खोल ही रहे थे कि तभी पुजारिन कलावती की नींद खुल गई। और वह आवाज देते हुए अपने आवास से बाहर निकलकर शोर मचाने का प्रयास किया। उधर पुजारी रामरतन मिश्र भी अपनी लाठी लेकर दोनों पर वार करने की नियत से आगे बढ़े। लेकिन दोनों आरोपितों ने उनकी ही लाठी छीनकर उनपर वार कर दिया। घायल होने के बाद दोनों को खींचकर मंदिर थोड़ी दूर ले गए और काली की छोटी प्रतिमा से दोनों के सिर पर वार कर हत्या कर दी।

साथ ले गए थे साध्‍वी का मोबाइल फोन

आरोपितों को डर था कि अगर वह दोनों बच गए तो उनकी पहचान उजागर हो जाएगी। हत्या के बाद दोनों ने न सिर्फ घंटिया लूटी , बल्कि पुजारी रामरतन मिश्र के कमरे में रखा बक्सा भी खंगाल लिया। इस दौरान वे पुजारिन कलावती का माेबाइल भी उठा ले गए थे, जिसके माध्यम से ही दोनों की गिरफ्तारी हो सकी । दोनों की निशानदेही पर चोरी की घंटियों को खरीदने वाले नौतनवा नगर पालिका निवासी मिठ्ठू कौशल को भी गिरफ्तार करते हुए चोरी गई घंटियों की बरामदगी कर ली गई है।

यह हुई बरामदगी

पुलिस ने घटना में शामिल मुख्य आरोपित रोहित व सोनू के पास से कुल 2500 रुपये नकद और घंटिया खरीदने वाले मिठ्ठू कौशल के पास से 12 किलोग्राम की चाेरी गई पीतल की घंटिया बरामद की हैं।

जांच में लगी हुई थी यह टीम

मामले की जांच के लिए साइबर सेल प्रभारी मनोज कुमार पंत, सर्विंलांस सेल से अनघ कुमार, एसओजी प्रभारी रामाशीष यादव, परसामलिक थानेदार गोरखनाथ सरोज, शशांक शेखर राय, मनोज कुमार यादव,संजय कुमार सिंह, विपेन्द्र मल्ल, रामभरोस यादव, विद्या सागर, वीनित कुमार, धनन्जय सिंह, अजय यादव ,चन्दशेखर यादव, शैलेन्द्र त्रिपाठी, प्रफुल्ल यादव, सत्येंद्र मल्ल, आलोक पांडेय आदि शामिल रहे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.