पेयजल समस्‍या हुई गंभीर, 255 इंडिया मार्का हैंडपंप खराब Gorakhpur News

बरहज के ग्राम करायल उपाध्याय मे रामनजर के दरवाजे पर दो वर्ष से खराब पडा इंडिया मार्का हैंडपंप। जागरण

गर्मी के साथ ही पेयजल की समस्या गंभीर हो गई है। गांव चौराहा और सरकारी परिसरों में लगे पेयजल के इंडिया मार्का हैंडपंप जवाब दे गए हैं। दो वर्ष से लोग मरम्मत और रिबोर के लिए दौड़ रहे हैं।

Rahul SrivastavaFri, 16 Apr 2021 10:50 AM (IST)

गोरखपुर, जेएनएन : गर्मी के साथ ही पेयजल की समस्या गंभीर हो गई है। गांव, चौराहा और सरकारी परिसरों में लगे पेयजल के इंडिया मार्का हैंडपंप जवाब दे गए हैं। दो वर्ष से लोग मरम्मत और रिबोर के लिए दौड़ रहे हैं। इस वर्ष पंचायत चुनाव होने से मरम्मत का कार्य ठप हो गया है। देवरिया जिले के बरहज विकास क्षेत्र में 105 और भलुअनी में करीब 150 इंडिया मार्का हैंडपंप खराब हैं। गांवों के लोग शुद्ध पेयजल के लिए इंडिया मार्का हैंडपंप पर निर्भर हैं। बरहज के रामजानकी मार्ग पर कटइलवा में दो वर्ष से इंडिया मार्का हैंडपंप खराब है।

ग्रामीणों की सुनिए

आशीष सिंह, संजय कुमार बताते हैं कि कई बार शिकायत के बाद मरम्मत नहीं हो सका है। ग्राम करायल उपाध्यय में तीन इंडिया मार्का हैंडपंप खराब है।  नीरज प्रसाद बताते हैं कि ब्लाक मुख्यालय से लेकर निवर्तमान प्रधान से शिकायत की, लेकिन स्थिति वैसी ही है। अजयपुरा के सुयश चौरसिया के यहां लगा इंडिया मार्का हैंडपंप दो वर्ष से खराब है। पानी के लिए दूसरे के दरवाजे पर लगे हैंडपंप पर जाना पड़ता है। गर्मी में पानी की समस्या और बढ़ गई है। भलुअनी विकास खंड क्षेत्र में कुल 3605 इंडिया मार्का हैंडपंप लगा है, जिनमें करीब एक सौ पचास खराब अथवा रिबोर योग्य है। जरार रमन में में भवानी माता मंदिर पर, मुस्लिम टोला में और ग्राम चकरा भार्गव में इंडिया मार्का हैंडपंप खराब है। जयंती कुशवाहा, अलीशेर ने बताया कि मरम्मत नहीं होने से गर्मी बढऩे से पानी की समस्या गंभीर हो गई है।

मरम्मत के नाम पर भी शासकीय धन का दुरुपयोग

करुअना में बरहज, देवरिया, सलेमपुर आदि स्थानों पर जाने के लिए वाहन मिलते हैं। करीब डेढ़ सौ दुकानें और एक बैंक है। विद्यालय और सहकारी व्यावसायिक प्रतिष्ठान भी हैं, जिसके चलते यहां पर प्रतिदिन हजारों लोगों का आना जाना लगा रहता है लेकिन यहां पेयजल का इंतजाम नहीं है। बरौली चौराहा पर भी पेयजल के इंतजामात नाकाफी है। शिकायत पर न तो विभाग ध्यान देता और न ही ग्राम पंचायत। एडीओ पंचायत छेदी प्रसाद ने बताया कि इंडिया मार्का हैंडपंपों की मरम्मत और रिबोर का कार्य ग्राम पंचायतों के माध्यम से कराया जाता है। चुनाव बाद पंचायतों का गठन होते ही यह कार्य प्राथमिकता के आधार पर कराया जाएगा। उप जिलाधिकारी संजीव यादव ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में इंडिया मार्का हैंडपंपों के खराब होने की जानकारी मिली है। संबंधित विभाग से जवाब तलब कर मरम्मत के लिए पत्र भेजा जाएगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.