महिलाओं की कम संख्या वाले पोलिंग बूथों के बीएलओ से डीएम ने किया संवाद, दिए निर्देश

मतदाता सूची को लेकर पुलिस लाइन के प्रेक्षागृह में तीन दिसंबर को बैठक हुई। जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने महिलाओं की कम संख्या वाले बूथों के बीएलओ के साथ चार दिसंबर को होने वाले विशेष कार्यक्रम में महिला मतदाताओं का नाम अधिक से अधिक संख्या में शामिल करने पर जोर दिया।

Navneet Prakash TripathiSat, 04 Dec 2021 07:50 AM (IST)
बैठक को संबोधित करते जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन। जागरण

गोरखपुर, जागरण संवाददाता। देवरिया जिले में मतदाता सूची को लेकर पुलिस लाइन के प्रेक्षागृह में तीन दिसंबर को बैठक हुई। जिसमें जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने महिलाओं की कम संख्या वाले बूथों के बीएलओ के साथ जिलाधिकारी ने संवाद कर चार दिसंबर को होने वाले विशेष कार्यक्रम में महिला मतदाताओं का नाम अधिक से अधिक संख्या में शामिल करने पर जोर दिया।

बीएलओ को डोर टू डोर जाने का निर्देश

जिलाधिकारी निरंजन ने कहा कि सभी बीएलओ विशेष कार्यक्रम के तहत डोर-टू-डोर जाएं। नवविवाहिता महिलाओं तथा मतदाता सूची में नाम न होने वाली महिलाओं का प्राथमिकता के आधार पर फार्म भरें। जनपद के लिंगानुपात के अनुरूप ही मतदाता सूची का लिंगानुपात भी झलकना चाहिए।

खराब लिंगानुपात वाले बूथों के बीएलओ पर होगी कार्रवाई

कहा कि अंतिम रिपोर्ट आने के बाद खराब मतदाता लिंगानुपात वाले बूथों के बीएलओ पर कठोर कार्रवाई की जाएगी। इसमें किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इस दौरान उन्होंने मतदाता पुनरीक्षण कार्यक्रम में खराब कार्य करने वाले बृजभान प्रसाद, किसमती देवी, गार्गी के खिलाफ कार्रवाई करने का जिलाधिकारी ने निर्देश दिया।

18 वर्ष की उम्र पूरी कर चुके लोगों का नाम मतदाता सूची में शामिल करने का निर्देश

जिलाधिकारी ने कहा कि एक जनवरी 2022 तक जिनकी उम्र 18 वर्ष पूरी हो रही है, वह मतदाता बनने योग्य है। ऐसे सभी व्यक्तियों के नाम मतदाता सूची में शामिल किए जाएं। अपर जिलाधिकारी कुंवर पंकज ने कहा कि सभी बीएलओ फार्म को पांच दिसंबर तक अनिवार्य रूप से तहसील मुख्यालयों में जमा कर दें। इसके बाद कोई भी फार्म नहीं लिया जाएगा। इस दौरान ज्वाइंट मजिस्ट्रेट गुंजन द्विवेदी, एसडीएम सौरभ सिंह, ध्रुव कुमार शुक्ल, महेंद्र कुमार आदि मौजूद रहे।

रोजगार सेवकों के सम्मान के साथ नहीं होगा कोई समझौता

देवरिया सदर विकास खंड परिसर में ग्राम रोजगार सेवक संघ की बैठक तीन दिसंबर को हुई। जिलाध्यक्ष व प्रदेश प्रवक्ता अरुण कुमार मिश्र ने कहा कि ग्राम रोजगार सेवक का पंचायतों में किसी भी प्रकार का उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। ग्राम रोजगार सेवक विकास की प्रथम कड़ी है और अगर विभागीय अधिकारियों द्वारा उनकी उपेक्षा की गई तो संगठन किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेगा।

मनरेगा की योजनाओं को सफल बनाने का प्रयास कर रहे रोजगार सेवक

उन्होंने कहा कि रोजगार सेवक मनरेगा योजना को सफल करने के लिए पूरी ईमानदारी के साथ लगे हुए हैं, बावजूद इसके अधिकारी राेजगार सेवकों को प्रताड़ित कर रहे हैं। इसका संगठन मुंहतोड़ जवाब देगा। इस दौरान ब्लाक अध्यक्ष सुनील कुमार, ज्ञान चंद्र तिवारी, किरण कुमार निराला, सर्वेश कुमार भारती, देवेश शर्मा, सुनील कुमार धर द्विवेदी, नवीन कुमार तिवारी मौजूद रहे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.