बाल गृह की फाइलों में दर्ज हैं गुनाहों के कई कारनामे

देवरिया के बाल गृह बालिका के करीब एक दर्जन से अधिक दस्तावेजों को पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया है। जांच पड़ताल के बाद पुलिस इन्हीं दस्तावेजों े आधार पर आगे की कार्रवाई करेगी। वैसे भी लखनऊ से आई उच्च स्तरीय जांच टीम की रिपोर्ट पर भी सभी की निगाहें टिकी हुई हैं।

JagranWed, 08 Aug 2018 09:00 PM (IST)
बाल गृह की फाइलों में दर्ज हैं गुनाहों के कई कारनामे

गोरखपुर : देवरिया के बाल गृह बालिका के करीब एक दर्जन से अधिक दस्तावेजों को पुलिस ने सोमवार की रात अपने कब्जे में ले लिया। जांच के बाद इन्हीं कागजातों के आधार पर पुलिस आगे की कार्रवाई में जुटी है। सभी दस्तावेजों व बाल गृह बालिका के पिछले दोनों दरवाजों को सील कर दिया गया है। उधर शासन के निर्देश पर देवरिया पहुंची जांच टीम की रिपोर्ट पर अब सभी की निगाहें जा टिकी है। सोमवार को पूरी रात जांच के बाद टीम मंगलवार को शासन को रिपोर्ट सौंप दी है। माना जा रहा है कि टीम की रिपोर्ट के बाद कइयों पर गाज गिरनी तय है।

एडीएम सीताराम गुप्त के नेतृत्व में एएसपी गणेश प्रसाद साहा पुलिस टीम के साथ रात लगभग साढ़े ग्यारह बजे बाल गृह बालिका पहुंचे। इस दौरान लगभग एक घंटे तक संस्था के अंदर जरूरी दस्तावेज खंगाले गए। एडीएम ने अपनी मौजूदगी में रजिस्टर, विजिटर रजिस्टर व पंजीकरण रजिस्टर समेत कई अन्य दस्तावेज व रिकार्ड सील किए और अपने साथ ले गए। इन सभी दस्तावेजों का देररात तक लखनऊ से आई उच्च स्तरीय टीम ने घंटों अवलोकन किया। माना जा रहा है कि बालिका गृह के दस्तावेज कुछ और अधिकारियों के गले की फांस बन सकते हैं।

यह मामला इतना गंभीर नहीं होता यदि पहले ही प्रशासन चेत गया होता। अधिकारी इस संस्था को बंद कराने की बजाय प्रश्रय देने में लगे रहे। गंभीर बात तो यह है कि शासन द्वारा संस्था की मान्यता स्थगित होने के बाद भी पुलिस बरामद लड़कियों को इसी गृह में रखती रही। तीन साल में कुल 707 लड़कियों को पुलिस ने बालिका गृह के हवाले किया। विश्वस्त सूत्रों का कहना है कि बालिका गृह के दस्तावेज में काफी गड़बड़ी मिली है। इसमें अधिकारियों की भी भूमिका है। इसलिए दस्तावेज में मिली गड़बड़ी की रिपोर्ट उच्च स्तरीय टीम ने खुद तैयार की है।

इस संबंध में एडीएम वित्त एवं राजस्व सीताराम गुप्त ने कहा है कि जांच के लिए बालिका गृह से जरूरी दस्तावेज सील किए गए। इनमें रजिस्टर, विजिटर रजिस्टर व पंजीकरण रजिस्टर समेत कई अन्य दस्तावेज शामिल हैं। अभी छानबीन चल रही है। शासन से आई टीम सभी ¨बदुओं पर जांच कर रही है। यही रिपोर्ट शासन को भेजा जाएगा। -----

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.