NER के इस रूट पर 100 की रफ्तार से दौड़ी सीआरएस की इलेक्ट्रिक ट्रेन Gorakhpur News

NER के इस रूट पर 100 की रफ्तार से दौड़ी सीआरएस की इलेक्ट्रिक ट्रेन Gorakhpur News
Publish Date:Tue, 11 Aug 2020 11:53 AM (IST) Author: Pradeep Srivastava

गोरखपुर, जेएनएन। उत्तर पूर्व क्षेत्र के रेल संरक्षा आयुक्त (सीआरएस) मोहम्मद लतीफ खान ने भटनी-औंड़हार रेलमार्ग पर 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से इलेक्ट्रिक ट्रेन चलाकर स्पीड ट्रायल किया। इस दौरान संबंधित अधिकारियों और इंजीनियरों के साथ उन्होंने 125 किमी रेलमार्ग का गहन निरीक्षण भी किया। सीआरएस की हरी झंडी मिलते ही गोरखपुर-वाराणसी रूट पर भी इलेक्ट्रिक ट्रेनों का संचलन शुरू हो जाएगा।

सीआरएस की हरी झंडी मिलते ही गोरखपुर-वाराणसी मार्ग पर चलने लगेंगी इलेक्ट्रिक ट्रेनें

मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह के अनुसार जून में ही भटनी-औंड़हार रेलमार्ग पर विद्युतीकरण का कार्य पूरा हो गया था। सीआरएस के निरीक्षण के बाद जल्द ही इस रूट पर भी इलेक्ट्रिक इंजनों से ट्रेनें चलने लगेंगी। किसी भी क्षेत्रीय रेलवे द्वारा विद्युतीकरण का यह सबसे बड़ा कार्य पूरा किया है। 

गोरखपुर-आनंदनगर-नौतनवां तथा बढ़नी-गोंडा रेलमार्ग का भी विद्युतीकरण शुरू

सीपीआरओ ने बताया कि पिछले कुछ वर्षों में पूर्वोत्तर रेलवे में विद्युतीकरण के कार्य में तेजी आई है। वर्ष 2016-17 में 159.20 किमी, 2017-18 में 167.14 किमी तथा 2018-19 में 431.23 किमी रेल खण्ड का विद्युतीकरण कार्य पूरा हुआ। पूर्वोत्तर रेलवे में अभी तक दो हजार किमी रेल लाइन का विद्युतीकरण पूरा हो चुका है। गोरखपुर-आनंदनगर-नौतनवां तथा बढ़नी-गोंडा रेलमार्ग का भी विद्युतीकरण शुरू हो चुका है। गोरखपुर-नौतनवां रूट पर खंभे गड़ने शुरू हो चुके हैं। बढ़नी-गोंडा मार्ग पर सर्वे चल रहा है। आने वाले दिनों में सभी रूटों पर इलेक्ट्रिक ट्रेनें चलेंगी। बाराबंकी-गोरखपुर-छपरा, गोरखपुर-नरकिटयागंज और छपरा-बलिया-वराणसी रूट पर पहले से ही इलेक्ट्रिक ट्रेनें चल रही हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.