पिता की डांट से क्षुब्ध बेटे ने दी जान

त्रिलोकपुर थानांतर्गत ग्राम चोरथरी निवासी 17 वर्षीय किशोर फंदे से लटक कर जान दे दी। वह कक्षा नौ का छात्र था। पढ़ाई को लेकर पिता ने डांट क्या लगाई बेटे ने ऐसा कदम उठा लिया। घटना के बाद स्वजन सकते में आ गए।

JagranWed, 01 Dec 2021 10:07 PM (IST)
पिता की डांट से क्षुब्ध बेटे ने दी जान

सिद्धार्थनगर : त्रिलोकपुर थानांतर्गत ग्राम चोरथरी निवासी 17 वर्षीय किशोर फंदे से लटक कर जान दे दी। वह कक्षा नौ का छात्र था। पढ़ाई को लेकर पिता ने डांट क्या लगाई, बेटे ने ऐसा कदम उठा लिया। घटना के बाद स्वजन सकते में आ गए।

गांव निवासी दुर्गेश प्रजापति पुत्र गुरुचरण पोखर भटिवा स्थित विद्यालय में पढ़ता था। वह छह भाइयों में पांचवें नंबर था। छोटा भाई भी पढ़ाई करता है। इन दोनों को छोड़कर शेष चार भाई मुंबई में फेरी व मजदूरी का काम करते हैं। बुधवार की सुबह करीब आठ बजे पिता घर के बाहर खड़े थे। सामने से बेटा गुजरा तो उसे पढ़ाई को लेकर डांटने लगे। कहा कि इधर पढ़ाई में मन नहीं लगा रहे हो। यही स्थिति रही तो ठेला ही चलाना पड़ेगा। यह कहकर पिता मोबाइल पर बात करते हुए आगे बढ़ गए। जबकि उसकी मां खेत में काम कर रही थी। इस बीच दुर्गेश घर के अंदर गया और दरवाजा बंद करते हुए प्लास्टिक की रस्सी गले में बांधा और डेहरी के छत के कुंडे से लटक गया। करीब नौ बजे जब भोजन के लिए उसकी तलाश शुरू हुई तो पता चला कि दरवाजा बंद है। एक अन्य दरवाजा जहां पर ईंट रखी थी, उसको गिराकर जब घर वाले अंदर गए तो देखा कि किशोर का शव फंदे पर लटक रहा था। पुलिस क्षेत्राधिकारी डुमरियागंज अजय कुमार श्रीवास्तव, थाना प्रभारी सरोज मय फोर्स घटना स्थल पर पहुंचे। शव को नीचे उतारा गया। थोड़ी देर में फोरेंसिक टीम भी पहुंचकर जांच में जुट गई। थाना प्रभारी ने बताया कि पिता की डांट से क्षुब्ध बेटे ने आत्महत्या कर ली है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजते हुए विधिक कार्रवाई की जा रही है। गो तस्करों के खिलाफ गैंगस्टर का मुकदमा दर्ज सिद्धार्थनगर: सदर पुलिस ने एसओ तहसीलदार सिंह की तहरीर पर आरोपितों के खिलाफ मंगलवार की देर रात गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया है। आरोपितों के खिलाफ एसपी डा. यशवीर सिंह के निर्देश पर यह कार्रवाई की गई है। गैंग के सरगना मोहर्रम अली के खिलाफ विभिन्न थाना क्षेत्रों में छह मामले दर्ज हैं। गैंग में शामिल सदस्य अंतरजनपदीय गो-तस्कर हैं।

एसओ सदर ने बताया कि मोहर्रम अली पुत्र अली शेर निवासी ग्राम बेलहवा जंगल बिहुली बंजारा टोला थाना पीपीगंज जनपद गोरखपुर गो-तस्करों का लीडर है। वह कई बार पकड़ा जा चुका है। जेल से छूटने के बाद वह दोबारा अपराध करने में सक्रिय हो जाता है। तौफीक पुत्र सिराजुल निवासी ग्राम बेलहवा जंगल बिहुली बंजारा टोला थाना पीपीगंज जनपद गोरखपुर और धर्मदेव पुत्र पूर्णमासी निवासी बिलरियागंज थाना बिलरियागंज जनपद आजमगढ़ उसका साथ देते हैं। इसलिए उच्चाधिकारियों के निर्देश पर मुकदमा पंजीकृत किया गया है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.