गोरखपुर में दरवाजे पर चढ़कर द‍िन दहाड़े अंधााधुंध फायर‍िंग, दो की मौत- तीन घायल

गोरखपुर में मनबढ़ों ने गोली मारकर एक ही परिवार के दो व्यक्तियों की हत्या कर दी। एक युवती की स्थिति गंभीर है। उसका मेडिकल कालेज में इलाज चल रहा है। घटना के बाद से हत्यारोपित घर छोड़कर फरार हो गए हैं।

Pradeep SrivastavaSun, 28 Nov 2021 03:51 PM (IST)
घटना के बाद मौके पर तैनात पुल‍िस कर्मी। - जागरण

गोरखपुर, जागरण संवाददाता। गोरखपुर के झंगहा के जद्दूपुर में बदमाशों ने अंधाधुंध फायरिंग करके एक ही परिवार के दो व्यक्तियों की हत्या कर दी। गोली लगने से दो युवतियों समेत तीन व्यक्ति घायल हो गए। इसमें से दो की हालत गंभीर है। उनका मेडिकल कालेज में इलाज चल रहा है। घटना के बाद आरोपित परिवार समेत गांव छोड़कर भाग गए। घटनास्थल पर आधा दर्जन थाने की पुलिस तैनात हो गई है। हत्यारोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की कुल छह टीमें लगाई हैं। घटना के बाद से हत्यारोपित परिवार समेत घर छोड़कर फरार हो गए हैं।

यह है मामला

जददुपुर निवासी मकसूदन निषाद से छठ के दिन आर्केस्ट्रा देखने के दौरान गांव के ही श्याम यादव से मारपीट हो गई थी। इसमें श्याम यादव का सिर फट गया था। इस मामले को लेकर श्याम यादव के स्वजन की तहरीर पर पुलिस ने मकसूदन साहनी व पवन साहनी के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था। इससे मकसूदन निषाद के स्वजन व समर्थक नाराज थे। इस बात को लेकर रविवार दोपहर करीब 12 बजे गांव का गुलशन निषाद अपने करीब दर्जन भर साथियों के साथ श्याम यादव का घर घेर लिया। परिवार के लोगों पर लाठी डंडा व असलहे से हमला कर दिया। इस दौरान परिवार के लोगों ने भागकर अपनी जान बचाने की कोशिश की तो बदमाशों ने उन्हें भी दौड़ाकर गोली मार दी। गोली लगने से श्याम यादव के चचेरे भाई 20 वर्षीय विशाल यादव पुत्र रामायण यादव की मौके पर ही मौत हो गई। बड़े पिता 65 वर्षीय रामकिशुन यादव पुत्र स्व. रामजीत यादव, समेत चार लोगों को इलाज के लिए मेडिकल कालेज ले जाया गया। वहां चिकित्सकों ने रामकिशुन को मृत घोषित कर दिया।

इन्‍हें लगी गोली

रामकिशुन की नतिनी 22 वर्षीया रिंकी कुमारी पुत्री दीनानाथ दाहिने हाथ में गोली लगी है। उनके पिता दीनानाथ व परिवार की प्रियंका भी गोली लगने से घायल हो गए हैं। प्रिंयका के चेहरे पर गोली का छर्रा लगा है। इससे उसकी स्थिति खतरे से बाहर बताई जाती है। घटना के बाद आरोपित असलहा लहराते हुए मौके से निकले। वह अपने-अपने घरों में ताला लगाकर परिवार समेत घर से फरार हो गए हैं। घटना की जानकारी होते ही मौके पर एसपी नार्थ, सीओ चौरीचौरा आदि पहुंच गए। घटनास्थल पर पीएसी समेत झंगहा, चौरीचौरा, गगहा, बेलीपार, खोराबार, पिपराइच थाने की पुलिस लगा दी गई है। हत्यारोपितों की गिरफ्तारी के लिए कुल छह टीमें बनाई गई हैं। दबिश के लिए टीमें रवाना हो चुकी हैं। पुलिस अधीक्षक उत्तरी मनोज कुमार अवस्थी का कहना है कि अभी तहरीर नहीं मिली है। तहरीर मिलते ही मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

बच्चों के बीच मारपीट के चलते हुई घटना: पुल‍िस

प्रभारी निरीक्षक झंगहा संतोष कुमार अवस्थी का कहना है कि छठ के दिन दूसरे परिवार से मारपीट हुई थी। रविवार को मारपीट की वजह बच्चों का आपसी विवाद है। साहनी परिवार का एक बच्चा यादव परिवार के खेत से होकर जा रहा था। यादव परिवार के बच्चे ने इसका विरोध किया कि साहनी परिवार का बच्चा उनके खेत में कैसे गया। इसे लेकर साहनी परिवार के लोगों ने यादव परिवार के बच्चे को मार दिया और इससे खिन्न होकर यादव परिवार के लोग साहनी परिवारका घर घेरने गए थे और घटना घट गई, जबकि रामकिशुन के भतीजे श्याम यादव ने कहा कि छठ के दिन उनके साथ निषाद समुदाय के लोगों ने मारपीट की थी। पुलिस ने एनसीआर दर्ज किया। आरोपितों पर कोई बड़ी कार्रवाई नहीं की। इससे आरोपितों ने इतनी बड़ी घटना को अंजाम दे दिया।

लाइसेंसी बंदूक बरामद, हत्यारोपित नहीं लगे हाथ

घटनास्थल से पुलिस ने दो नली लाइसेंसी बंदूक बरामद किया है। मौके से चार फायरशुदा कारतूस मिले हैं। प्रभारी निरीक्षक झंगहा का कहना है कि मौके से मिले चार फायरशुदा कारतूसों से प्रतीत होता है कि वहां चार गोलियां चली हैं। गोली 12 बोर की होने के कारण संभव है कि उसके छर्रे अन्य लोगों को लग गए होंगे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.