BRD गोरखपुर मेडिकल कालेज में ब्लैक फंगस के कदम थमे, तेजी से स्वस्थ रहे मरीज

24 घंटे में मेडिकल कालेज में ब्लैक फंगस के दो मरीजों का आपरेशन किया गया। 50 वर्षीय व्यक्ति का शुक्रवार को और 45 वर्षीय व्यक्ति का गुरुवार की रात में आपरेशन किया गया। दोनों की तबीयत में सुधार है। आपरेशन के बाद उन्हें एंटी फंगल दवा लगाई गई है।

Satish Chand ShuklaSat, 12 Jun 2021 04:47 PM (IST)
ब्‍लैक फंगस संक्रमण का प्रतीकात्‍मक फाइल फोटो, जेएनएन।

गोरखपुर, जेएनएन। कोरोना के बाद अब ब्लैक फंगस के भी कदम थम गए हैं। मरीजों की संख्या घटी है और स्वस्थ होने वालों की लगातार बढ़ रही है। अब तक बीआरडी मेडिकल कालेज के पोस्ट कोविड ओपीडी में ब्लैक फंगस के 20 मरीज भर्ती हो चुके हैं। नौ स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं। इसमें आपरेशन वाले सात मरीज हैं। दो केवल दवाओं से ही ठीक हो गए। अब तक 11 मरीजों का आपरेशन हो चुका है। पहले इस बीमारी के लक्षणों वाले रोज सात-आठ मरीज आते थे। अब इनकी संख्या सिमटकर दो-तीन हो गई है। इससे जिले ने राहत की सांस ली है।

लगभग एक माह पहले कोरोना संक्रमण के साथ ब्लैक फंगस ने भी दहशत फैलानी शुरू कर दी थी। पोस्ट कोविड मरीजों की संख्या को देखते हुए मेडिकल कालेज में एक अलग ओपीडी शुरू किया गया। शुरुआती दिनों में 15-20 मरीज आते थे, इनमें से सात-आठ ब्लैक फंगस के लक्षणों वाले होते थे। पिछले एक सप्ताह से रोज इस बीमारी की शिकायत लेकर दो-तीन मरीज ही आ रहे हैं। शुक्रवार को तीन मरीजों में ब्लैक फंगस के लक्षण मिले। उन्हें भर्ती कर लिया गया।

दो मरीजों का आपरेशन, तबीयत में सुधार

24 घंटे में मेडिकल कालेज में ब्लैक फंगस के दो मरीजों का आपरेशन किया गया। 50 वर्षीय व्यक्ति का शुक्रवार को और 45 वर्षीय व्यक्ति का गुरुवार की रात में आपरेशन किया गया। दोनों की तबीयत में सुधार है। आपरेशन के बाद उन्हें एंटी फंगल दवा लगाई गई है। दोनों मरीजों में फंगस, नाक, साइनस व आंखों तक फैल चुका था। फंगस के साथ ही सड़े-गले टिश्यू काटकर निकाल दिए गए हैं। आपरेशन करने वाली टीम में पोस्ट कोविड वार्ड के नोडल अधिकारी व नेत्र रोग विभाग के अध्यक्ष डा. रामकुमार जायसवाल, डा. आशुतोष के अलावा नाक, कान, गला रोग विभाग के अध्यक्ष डा. आरएन यादव, एसोसिएट प्रोफेसर डा. पीएन ङ्क्षसह, डा. विनती जैन व डा. वेद प्रकाश उपाध्याय शामिल थे। बीआरडी मेडिकल कालेज पोस्ट कोविड वार्ड के नोडल अधिकारी डा. रामकुमार जायसवाल का कहना है कि मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं। नए मरीजों की संख्या काफी कम हो गई है। अभी तक सात मरीज आपरेशन के बाद डिस्चार्ज कर दिए गए हैं। दो मरीज केवल दवाओं से ठीक हो गए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.