भाजपा नेता जटाशंकर शुक्ल ने प्रथमिक स्वास्थ्य केंद्र हलुआ को गोद लिया

भाजपा नेता ने औषधि कक्ष स्टोर रूम प्रसव कक्ष मरीज भर्ती कक्ष प्रसूति वार्ड का निरीक्षण कर व्यवस्थाएं जांची। कहा कि संगठन की ओर से चलाए जा रहे सेवा ही संगठन अभियान के तहत उन्होंने इस अस्पताल को गोद लिया है।

JagranWed, 16 Jun 2021 06:16 AM (IST)
भाजपा नेता जटाशंकर शुक्ल ने प्रथमिक स्वास्थ्य केंद्र हलुआ को गोद लिया

बस्ती: भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता जटाशंकर शुक्ल ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र हलुवा को गोद लिया है। मंगलवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र गौर के प्रभारी चिकित्साधिकारी डा.अमरजीत के साथ अस्पताल पहुंच कर उपलब्ध चिकित्सकीय सुविधाओं की जानकारी ली।

प्रेस को जारी बयान में शुक्ल ने बताया कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार में ही हलुआ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की नींव पड़ी थी। अस्पताल में जो सुविधाएं नहीं हैं,उन्हें मुहैया कराने का वह प्रयास करेंगे। कहा माझा क्षेत्र के गांवों के लोगों के लिए यही इकलौता अस्पताल है। इसे सुसज्जित बनाया जाएगा।

भाजपा नेता ने औषधि कक्ष, स्टोर रूम प्रसव कक्ष, मरीज भर्ती कक्ष, प्रसूति वार्ड का निरीक्षण कर व्यवस्थाएं जांची। कहा कि संगठन की ओर से चलाए जा रहे सेवा ही संगठन अभियान के तहत उन्होंने इस अस्पताल को गोद लिया है। अस्पताल में सोलर लाइट, पीने के लिए शुद्ध जल, मरीजों और उनके तीमारदारों के बैठने के लिए बेंच की व्यवस्था की जाएगी। कमियों को दूर करने के लिए सांसद व विधायक को पत्र लिखा जाएगा। डा. अमरजीत चौरसिया, प्रभारी चिकित्साधिकारी हलुआ,डा.अखिलेश शुक्ला,श्रवण चौधरी,मो. रफीक, कृष्ण चन्द्र गुप्ता, मंशाराम यादव, प्रदीप कुमार शुक्ल, अमरदीप शुक्ल, राम प्रकाश, राम पारस चौधरी, प्रधान हलुआ राज कुमार वर्मा आदि उपस्थित रहे।

पुण्यतिथि पर याद किए गए पूर्व एमएलसी डा.वाइडी सिंह

पूर्व विधान परिषद सदस्य व बाल रोग विशेषज्ञ डा.वाइडी सिंह की पुण्यतिथि पर मंगलवार को श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया।

धरमूपुर स्थित एडी एकडेमी विद्यालय में गोरखपुर एवं क्षेत्र के विशिष्ट लोगों ने उनके चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की। डा.विजय प्रताप सिंह ने कहा कि डा. सिंह 1975 में बीआरडी मेडिकल कालेज में नियुक्त हुए और विभागाध्यक्ष पद से सेवानिवृत्त हुए। उन्होंने ओआरएस व स्तनपान संवर्धन के क्षेत्र में गोरखपुर को देश में एक विशिष्ट स्थान दिलाया। इंसेफ्लाइटिस से ग्रसित बच्चों की लगभग 30 वर्षों तक सेवा की। 2004 में विधान परिषद के सदस्य चुने गए। डा. सिंह की पत्नी डा. गीता दत्त ने उन्हें याद करते हुए कहा कि डा.साहब का सपना था कि गरीब व मजदूर वर्ग के बच्चे भी शिक्षित हों तथा पर्यावरण सुरक्षित रहे। उन्होंने बड़ी संख्या में पौधे रोपित कर पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया। सोमनाथ सिंह, इं. श्वेतांक शेखर सिंह, सुरंगमा सिंह, प्रधानाचार्य अजय सिंह, रामजीत वर्मा, सूर्यभान सिंह, दयाशंकर पांडेय आदि मौजूद रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.