विद्यालय परिसर में मिला शिक्षक का शव

जैकेट की जेब से मिला सुसाइड नोट15 दिन पहले घर निकले थे महराजगंज जिले के नौतनवा थानाक्षेत्र निवासी अमरेंद्र के रूप में हुई शिनाख्त

JagranPublish:Mon, 29 Nov 2021 10:47 PM (IST) Updated:Mon, 29 Nov 2021 10:47 PM (IST)
विद्यालय परिसर में मिला शिक्षक का शव
विद्यालय परिसर में मिला शिक्षक का शव

जागरण संवाददाता, विक्रमजोत, बस्ती : छावनी थाना क्षेत्र के दुभरा निर्वाहन गांव में एक शिक्षक का शव संदिग्ध परिस्थितियों में प्राथमिक विद्यालय के भवन की खिड़की से लटका मिला। उसके पैर के नीचे ईंट रखी हुई थी जबकि गले में गमछे के ऊपर प्लास्टिक की रस्सी कसी हुई थी। उसके जैकेट की जेब से एक सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें उसने आत्म हत्या की बात कही है। पुलिस शव को कब्जे में लेकर मामले की छानबीन कर रही है।

सोमवार को प्रधानाध्यापिका दीप्ती मिश्रा प्रतिदिन की तरह जब विद्यालय पहुंची तो खिड़की में रस्सी के सहारे एक व्यक्ति का शव लटका दिखा। इसकी सूचना उन्होंने तत्काल ग्राम प्रधान सुनील यादव को दी। प्रधान ने मौके पर पहुंच कर पुलिस को सूचित किया। प्रभारी निरीक्षक रोहित उपाध्याय व फोरेंसिक टीम ने घटनास्थल की बारीकी से छानबीन की। मृतक की पहचान महराजगंज जनपद के नौतनवा थाना क्षेत्र के भरपुरवा गांव निवासी 50 वर्षीय अमरेंद्र तिवारी पुत्र हीरानाथ के रूप में हुई। थानाध्यक्ष ने बताया कि मृतक के पास से मिले सुसाइड नोट के आधार पर प्रथमदृष्टया मामला आत्महत्या का प्रतीत हो रहा है। मृतक महराजगंज जनपद में किसी विद्यालय में शिक्षक था। मौत का स्प्ष्ट कारण जानने के लिए शव का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। मैं अपनी मां के पास जा रहा हूं थानाध्यक्ष ने बताया कि मृतक के पास मिले सुसाइड नोट में लिखा है कि वह काफी परेशान है। अब वह अपनी दिवंगत मां के पास जा रहे हैं। सुसाइड नोट में उन्होंने दो मोबाइल नंबर लिखा था, जिस पर संपर्क करने पर पता चला कि मोबाइल उनके घर पर ही है। मृतक की पत्नी ने बताया कि उनके पति 15 दिन पहले ही घर से निकले थे। थानाध्यक्ष ने बताया कि पत्नी को बुलाया गया है। घटना के संबंध में उनसे पूछताछ की जाएगी। वहीं दुभरा निर्वाहन गांव के लोगों का कहना है कि दो तीन दिन से अमरेंद्र को गांव के आसपास देखा जा रहा था।