गोरखपुर में दंगाइयों के बीच घंटों फंसे रहे ASP व CO, फेल रहा खुफियातंत्र Gorakhpur News

गोरखपुर में पुलिस चौकी पर हमला के बाद मौके पर उपस्थित पुलिस अधिकारी। - जागरण

गोरखपुर में पुलिस चौकी पर हमला के पहले अधिकारी भीड़ को संभाल नहीं पाए और न ही यह आकलन कर पाए की बवाल बढ़ेगा। तोड़फोड़ व आगजनी शुरू होने पर जिले के अधिकारियों को घटना की जानकारी हुई। इस बीच दंगाइयों के बीच ASP व CO घंटों फंसे रहे।

Pradeep SrivastavaFri, 07 May 2021 08:02 AM (IST)

गोरखपुर, जेएनएन। नई बाजार चौराहा पर बुधवार को जिला पंचायत सदस्य रवि निषाद व कोदई के प्रदर्शन करने की जानकारी होने पर एसडीएम चौरीचौरा और सीओ फोर्स के साथ पहुंचे। एक घंटे तक बातचीत चली लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला। दोनों अधिकारी भीड़ को संभाल नहीं पाए और न ही यह आकलन कर पाए की बवाल बढ़ेगा। जिले का खुफियातंत्र भी पूरी तरह से फेल रहा। तोड़फोड़ व आगजनी शुरू होने पर जिले के अधिकारियों को घटना की जानकारी हुई। इस बीच दंगाइयों के बीच ASP व CO घंटों फंसे रहे।

तीन घंटे तक पुलिस व प्रशासन के बैकफुट पर होने से बढ़ा हौसला

मतदान व मतगणना के दौरान कहीं बवाल न हो इससे निपटने के लिए पुलिस व प्रशासन ने ब्यापक स्तर पर तैयारी की थी। मतगणना स्थल पर एलआइयू (लोकल इंटेलीजेंस यूनिट) की भी ड्यूटी लगी थी लेकिन यह कागज में ही रह गई। सीओ व इंस्पेक्टर कहीं नजर नहीं आए। बुधवार की दोपहर नई बाजार में बवाल होने की सूचना मिलने के बाद भी जिले के अधिकारी तीन घंटे तक खामोश रहे। पुलिस चौकी में आग लगाने की खबर मिलने पर फोर्स को आनन-फानन में नई बाजार भेजा गया। बिना तैयारी के पहुंची फोर्स पर उपद्रवियों की भीड़ हावी हो गई। पुलिस के साथ ही पीएसी को बैकफुट पर आना पड़ा। शाम सात बजे के बाद स्थिति नियंत्रित हुई लेकिन तब तक बहुत नुकसान हो चुका था।

वीरेंद्र की काल डिटेल से खुलेंगे कई राज

जिला पंचायत सदस्य की मतगणना में हेराफेरी करने वाले अधिशासी अभियंता वीरेंद्र कुमार यादव के मोबाइल काल डिटेल की पुलिस जांच करेगी। ब्रह्मपुर ब्लाक की मतगणना शुरू होने से एक दिन पहले और समाप्त होने तक वीरेंद्र ने किससे बातचीत की इसे विवेचना में शामिल किया जाएगा। संदेह है कि अधिशासी अभियंता ने जिन हारे हुए प्रत्याशियों को विजेता बताया था उनके संपर्क में पहले से ही था। जानबूझकर उसने यह कृत्य किया।

भीड़ को पुलिस के खिलाफ किसने उकसाया

प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर रहे जिला पंचायत सदस्य व उनके समर्थकों का आक्रोश अचानक पुलिस पर फूट पड़ा। भीड़ में शामिल कुछ लोग नारेबाजी करते हुए पुलिस चौकी की ओर बढ़े तो उनके पीछे पूरा हुजूम चल पड़ा। पुलिसकर्मियों ने रोकने की कोशिश की तो पथराव व आगजनी शुरू कर दी। पुलिस भीड़ को उकसाने वाले लोगों को चिन्हित करने में जुटी है।

ब्लाक में फंसे थे एडिशनल एसपी व सीओ

दोपहर में ब्लाक का घेराव होने की सूचना पर एसडीएम चाैरीचाैरा के साथ सीओ वहीं पहुंचे। बातचीत में समाधान न निकलने पर एसपी नार्थ फोर्स के साथ पहुंच गए। भीड़ के आक्रामक होने पर अधिकारी ब्लाक में ही फंस गए।पुलिसकर्मी अधिकारियों के साथ ही ब्लाक कर्मचारियों की सुरक्षा में लग गए। इस बीच उपद्रवी नई बाजार पुलिस चौकी पहुंच गए।

लगेगा गैंगस्टर व रासुका

पुलिसकर्मियों पर जानलेवा हमला करने, चौकी में आगजनी व डकैती करने वाले आरोपितों के खिलाफ गैंगस्टर व रासुका की कार्रवाई होगी। एसएसपी दिनेश कुमार पी ने बताया कि कानून तोड़ने वाले बख्शे नहीं जाएंगे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.