यहां एक करोड़ 20 लाख मतपत्राें की व्‍यवस्‍था, जानिए कितने बनाए गए बूथ Gorakhpur News

गोरखपुर में चुनाव को लेकर तैयारी शुरू हो गई है

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की मतदान तिथि धीरे-धीरे नजदीक आ रही है। गांव-गांव प्रत्याशी प्रचार-प्रसार में जुटे हैं तो प्रशासन भी मतदान की तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटा है। ब्लाकों पर रिटर्निंग आफिसर (आरओ) की देखरेख में मतपत्रों को तैयार किया जा रहा है।

Rahul SrivastavaSun, 11 Apr 2021 06:18 PM (IST)

गोरखपुर, जेएनएन : जिले में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की मतदान तिथि धीरे-धीरे नजदीक आ रही है। गांव-गांव प्रत्याशी प्रचार-प्रसार में जुटे हैं तो प्रशासन भी मतदान की तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटा है। ब्लाकों पर रिटर्निंग आफिसर (आरओ) की देखरेख में मतपत्रों को तैयार किया जा रहा है। सुपर जोनल मजिस्ट्रेट, जोनल मजिस्ट्रेट एवं सेक्टर मजिस्ट्रेट अपने निर्धारित क्षेत्रों में बूथों का निरीक्षण कर रहे हैं। पंचायती राज विभाग की ओर से भी बूथों की जांच कर वहां पोलिंग पार्टियों के लिए सुविधाओं का इंतजाम किया जा रहा है।

एक बूथ पर 800 मतदाओं काे ध्‍यान में रखकर की जा रही तैयारी

जिले में इस बार एक बूथ पर अधिकतम 800 मतदाताओं को ध्यान में रखते हुए व्यवस्था की जा रही है। ब्लाकों पर मतपेटिका एवं मतपत्र पहुंच चुके हैं। पूरे जिले में करीब 30 लाख मतदाता हैं। चार पदों के लिए करीब एक करोड़ 20 लाख मतपत्रों की व्यवस्था की गई है। पहले से छपकर आए मतपत्र कई तरह के हैं। चार से लेकर 45 चुनाव निशान तक के मतपत्र उपलब्ध हैं। ब्लाकों पर मौजूद टीम इन मतपत्रों को बूथों के अनुसार व्यवस्थित करने में जुटी है। जहां दो से तीन प्रत्याशी होंगे, वहां सबसे छोटे मतपत्र यानी चार प्रतीक चिन्हों वाला प्रयोग किया जाएगा। दो प्रत्याशी होने पर इसी में से दो चिन्ह निकाल लिए जाएंगे। इसी तरह जैसे-जैसे प्रत्याशियों की संख्या बढ़ती जाएगी, मतपत्रों को नीचे से फाड़कर छोटा कर लिया जाएगा।

मतपत्रों का बूथवार पैकेट तैयार कर रहे कर्मी

ब्लाकें पर चुनाव ड्यूटी में कार्यरत कर्मी मतपत्रों का बूथवार पैकेट भी तैयार कर रहे हैं। जिला निर्वाचन कार्यालय से सभी ब्लाकों पर पोलिंग पार्टियों के लिए बस्ता भेज दिया गया है। 14 को ब्लाक पर उपस्थित होकर पीठासीन अधिकारी एवं उनकी टीम बस्ता प्राप्त करेगी, सभी पदों के मतपत्र गिने जाएंगे और वहां से प्रशासन की ओर से उपलब्ध कराए गए वाहन से वे बूथों तक जाएंगे।

मतदान केंद्रों पर पानी की व्‍यवस्‍था नहीं

इधर जिले में जिन मतदान केंद्रों पर साफ-सफाई, शौचालय एवं पीने के पानी की व्यवस्था नहीं है, वहां जिला पंचायत राज अधिकारी हिमांशु शेखर ठाकुर के नेतृत्व में पंचायती राज विभाग की टीम इंतजाम करने में जुटी है। कई ब्लाकों पर पानी की व्यवस्था की गई है। टोटियां ठीक कराई गई हैं। शौचालयों की साफ-सफाई कराई गई। दिव्यांगजनों के लिए जहां रैंप नहीं थे, वहां रैंप की व्यवस्था की गई है। यह प्रक्रिया मतदान के पूर्व तक जारी रहेगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.