AIIMS Gorakhpur: एम्स को मिले और 127 डाक्टर, द‍िसंबर में पीएम नरेन्‍द्र मोदी करेंगे उद्घाटन

AIIMS Gorakhpur एम्‍स गोरखपुर में तीन सौ बेड अस्पताल व 14 आपरेशन थियेटर पूरी तरह तैयार हो चुके हैं। सात या आठ दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों उद्घाटन की उम्मीद को लेकर तैयारियां जोर-शोर से की जा रही हैं।

Pradeep SrivastavaThu, 25 Nov 2021 08:30 AM (IST)
एम्‍स गोरखपुर का द‍िसंबर में पीएम नरेन्‍द्र मोदी उद्घाटन करेंगे। - प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

गोरखपुर, जागरण संवाददाता। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगमन को लेकर तैयारियां शुरू कर दी है। 300 बेड अस्पताल व 14 आपरेशन थियेटर पूरी तरह तैयार हो चुके हैं। सात या आठ दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों उद्घाटन की उम्मीद को लेकर तैयारियां जोर-शोर से की जा रही हैं। प्रधानमंत्री पूर्वी उत्तर प्रदेश को एक बड़ा तोहफा देंगे। उनके आगमन के साथ ही एम्स में गंभीर मरीजों की भर्ती और आपरेशन शुरू हो जाएंगे।

पीएम मोदी ने ही क‍िया था शिलान्यास

एम्स के अस्पताल को अत्याधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित किया जा रहा है। ताकि विभिन्न बीमारियों के गंभीर मरीजों का इलाज किया जा सके। उन्हें लखनऊ या दिल्ली न जाना पड़े। 56 शिक्षक-चिकित्सक पहले से तैनात हैं। इसके अलावा 127 चिकत्सक-शिक्षकों का चयन किया जा चुका है, इसमें से 10 ने ज्वाइन भी कर लिया है। धीरे-धीरे लोग ज्वाइन कर रहे हैं। एम्स प्रबंधन को उम्मीद है कि दिसंबर के पहले सप्ताह तक सभी लोग ज्वाइन कर लेंगे। इससे मरीजों को अच्छा इलाज व विद्यार्थियों को अच्छी शिक्षा मिल सकेगी। एम्स का शिलान्यास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 जुलाई 2016 व ओपीडी का उद्घाटन 24 फरवरी 2019 को किया था। इस समय 16 विभागों का आउट पेंशेंट डिपार्टमेंट (ओपीडी) संचालित किया जा रहा है। सामान्य मरीजों को भर्ती कर उनका आपरेशन व इलाज भी इस साल 14 जून से ही शुरू हो चुका है।

शुरू हो जाएंगी ये भी सुविधाएं

अस्पताल शुरू करने के साथ ही सीटी स्कैन, एमआरआइ, अल्ट्रासाउंड शुरू कर दिया जाएगा। इसी माह डिजिटल एक्सरे मशीन भी मंगा ली जाएगी। साथ ही हिमैटोलाजी ओपीडी शुरू कर दिया जाएगा। हीमोफीलिया मरीजों की भी जांच कर इलाज की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।

शुरू हुआ हेड एंड नेक क्लीनिक

कैंसर रोग विभाग में हेड एंड नेक क्लीनिक की शुरुआत कर दी गई है। हर शुक्रवार को दोपहर बाद दो बजे से सायं चार बजे तक क्लीनिक चलता है। मरीजों की रेडियोथेरेपी पहले से हो रही है। शीघ्र ही 18 करोड़ रुपये लागत की ड्यूअल एनर्जी की रेडियोथेरेपी मशीन आएगी, आर्डर भेज दिया गया है। इसके अलावा विभाग में ब्रेकीथेरेपी मशीन भी लगाई जाएगी। इससे स्तन और ओरल कैंसर के मरीजों की सेंकाई हो सकेगी। प्रभावित अंग की सही जगह (लोकेशन) का पता लगाने के लिए सीटी सेम्यूलेटर भी मंगाया जा रहा है। यह सभी मशीनें जर्मनी और स्विट्जरलैंड से आएंगी।

प्रधानमंत्री के आगमन की कोई निश्चित तिथि के बारे में अभी सूचना प्राप्त नहीं हुई है। लेकिन दिसंबर के प्रथम सप्ताह में उनके आगमन को लेकर तैयारियां लगभग पूरी कर ली गई हैं। एम्स को लेकर पूर्वी उत्तर प्रदेश ने जो सपना देखा है, वह जल्द ही प्रधानमंत्री के आगमन के साथ ही पूरा होने वाला है। - डा. सुरेखा किशोर, कार्यकारी निदेशक, एम्स।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.