UP के पूर्व मंत्री को एयरपोर्ट में प्रवेश करने से रोका, आंदोलन की चेतावनी

पूर्व मंत्री व सपा नेता ब्रह्माशंकर त्रिपाठी को मना करती पुलिस।

गुरुवार को सुबह 11 बजे पूर्व मंत्री अपने कुछ कार्यकर्ताओं सहित एयरपोर्ट की तरफ रवाना हुए। प्रशासन को इसकी भनक लगी तो थानाध्यक्ष संजय कुमार मौके पर पहुंच गए। उन्‍होंने पूर्व मंत्री व सपा नेता ब्रह्माशंकर त्रिपाठी को एयरपोर्ट में प्रवेश करने से रोक दिया।

Satish chand shuklaThu, 25 Feb 2021 03:01 PM (IST)

गोरखपुर, जेएनएन। नव निर्मित कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चल रहे कार्यों का निरीक्षण करने जा रहे पूर्व मंत्री व सपा नेता ब्रह्माशंकर त्रिपाठी को पुलिस प्रशासन ने रोक दिया। उन्हें प्रवेश से रोकने के लिए एयरपोर्ट के रास्तों व प्रवेश द्वार पर कई थानों की फोर्स व पीएसी बल तैनात कर दिया गया था। प्रशासन के रुख को देखते हुए उन्हें निरीक्षण किए बगैर वापस लौटना पड़ा। पूर्व मंत्री ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए शीघ्र ही बड़ा आंदोलन करने की चेतावनी दी।

गुरुवार को सुबह 11 बजे पूर्व मंत्री अपने कुछ कार्यकर्ताओं सहित एयरपोर्ट की तरफ रवाना हुए। प्रशासन को इसकी भनक लगी तो आनन-फानन जगह-जगह फोर्स तैनात कर दी गई। जैसे ही मंत्री मुख्य प्रवेश द्वार पर पहुंचे थानाध्यक्ष संजय कुमार ने उन्हें रोक दिया और उच्च अधिकारियों के आदेश का हवाला देते हुए वापस लौट जाने को कहा। बहस व नोक झोंक के बाद पूर्व मंत्री लौट गए। बाद में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि निरीक्षण मात्र से ही प्रशासन और सरकार डर गई। यह डरपोक सरकार है। यह कृत्य तानाशाही की पराकाष्ठा है। सरकार के इशारे पर प्रशासन ने लोकतांत्रिक मूल्यों का हनन किया है।

उन्होंने कहा कि एयरपोर्ट अखिलेश सरकार की सर्वोत्तम कृति है। मेरे अनुरोध पर सपा मुखिया व तत्कालीन प्रदेश सरकार ने एक मुश्त 199 करोड़ की धनराशि जारी कर दी। निर्माण के बाद भी योगी सरकार इसे चलाना नहीं चाहती थी। सपा के आंदोलन के चलते केंद्र सरकार ने इसे टेक ओवर किया और अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट की मान्यता दी। एयरपोर्ट पर आज जो भी कार्य दिख रहे है वह अखिलेश सरकार की देन है।

निर्माण कार्यों का निरीक्षण करने जा रहे थे पूर्व मंत्री

पूर्व मंत्री ने कहा कि वह निरीक्षण कर वस्तुस्थिति देखने-जानने जा रहे थे कि प्रशासन ने जबरन रोक दिया। यह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सपा इसे लेकर बड़ा आंदोलन करेगी, इसकी घोषणा शीघ्र की जाएगी। जनता तक अपनी बात पहुंचाई जाएगी। थानाध्यक्ष ने बताया कि बिना अनुमति व औचित्य के किसी का प्रवेश एयरपोर्ट पर निषिद्ध है। पूर्व मंत्री के पास एयरपोर्ट अथारिटी आफ इंडिया की अनुमति नहीं थी। इस कारण उन्हें अंदर नहीं जाने दिया गया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.