दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

कोरोना के इलाज के नाम पर अधिक वसूली करने वाले अस्‍पतालों पर सख्‍त हुआ प्रशासन, नोटिस जारी

कोविड के इलाज के नाम पर अधिक वसूली करने वाले अस्‍पतालों को नोटिस जारी की गई है। - प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

कोविड के इलाज के नाम पर अधिक वसूली करने वाले अस्‍पतालों पर प्रशासन सख्‍त हो गया है। अब तक 15 लोगों की ओर से अधिक पैसा लेने की शिकायत की गई है और जांच टीम ने सभी अस्पताल संचालकों को नोटिस देकर उनका पक्ष रखने को कहा है।

Pradeep SrivastavaMon, 17 May 2021 04:02 PM (IST)

गोरखपुर, जेएनएन। मेडिकल कालेज रोड स्थित बद्रिका मेडिकल रिसर्च सेंटर के खिलाफ इलाज के नाम पर अधिक शुल्क वसूल करने के मामले में कार्रवाई होने के बाद जांच टीम के पास शिकायतें बढ़ गई हैं। अब तक 15 लोगों की ओर से अधिक पैसा लेने की शिकायत की गई है और जांच टीम ने सभी अस्पताल संचालकों को नोटिस देकर उनका पक्ष रखने को कहा है।

अस्पताल संचालकों का पक्ष आने के बाद जांच होगी और दोषी पाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी। मंडलायुक्त जयंत नार्लिकर कमेटी की ओर से की गई कार्यवाही का प्रतिदिन अपडेट ले रहे हैं। शिकायतें अधिक होने पर अपर आयुक्त प्रशासन को भी कुछ जांचों का जिम्मा देने की तैयारी है।

शिकायतें सही पाए जाने पर अस्पतालों के खिलाफ होगी कार्रवाई

करीब 20 दिन पहले मंडलायुक्त ने अपर आयुक्त न्यायिक की अध्यक्षता में एक कमेटी गठित की थी। कोविड के इलाज एवं जांच के नाम पर अधिक वसूली की शिकायतों की जांच का जिम्मा इस टीम के पास है। कई दिनों तक टीम को एक भी शिकायत प्राप्त नहीं हुई। कुछ दिन पहले बद्रिका मेडिकल रिसर्च सेंटर की शिकायत मिली और जांच में आरोप सही पाए गए। जांच टीम की ओर से इस मामले में एफआइआर दर्ज करने का निर्देश दिया गया और अस्पताल का पंजीकरण भी निरस्त कर दिया गया। 

आक्सीजन, डाक्टर की फीस, बेड आदि के नाम पर अतिरिक्त चार्ज का आरोप

एक कार्रवाई होने के बाद शिकायतें आने का सिलसिला शुरू हो गया। इस समय 15 शिकायतों की जांच चल रही है। जांच समिति के अध्यक्ष अपर आयुक्त रतिभान ने बताया कि शासन द्वारा निर्धारित दर से अधिक वसूली की शिकायत आ रही है। आक्सीजन, डाक्टर की फीस, बेड आदि के नाम पर अतिरिक्त चार्ज करने के आरोप लगाए जा रहे हैं। कमेटी की ओर से इलाज के दिन व प्रकृति के आधार पर खर्च निकाला जाता है, यदि उससे अधिक वसूली निकल रही है तो संबंधित अस्पताल संचालक को नोटिस भेजकर जवाब मांगा जा रहा है। उन्होंने बताया कि आरोप सही मिलने पर कड़ी कार्रवाई होगी।

बर्दाश्त नहीं होगी अधिक वसूली

मंडलायुक्त जयंत नार्लिकर का कहना है कि अधिक वसूली बर्दाश्त नहीं की जाएगी। बड़ी संख्या में शिकायतें प्राप्त हुई हैं। कमेटी उनकी जांच कर रही है। जांच में दोषी पाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने लोगों से अपील की कि उन्हें दिक्कत है तो शिकायत जरूर करें।

यहां कर सकते हैं शिकायत

वाट्सएप नंबर 9648305681, 9415177622,  9451414177,  9532552548,  9198981550, 9415221527, 9450883415, 9454654721, 9452255525 एवं 7800178517

यह है ई मेल आइडी

commgor@nic.in

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.