महराजगंज में 7272 लोगों को लगा टीका, 2590 की हुई कोरोना जांच

नोडल अधिकारी डा. आइए अंसारी ने बताया कि 7272 लोगों को कोरोना से बचाव का टीका लगाया गया है। जबकि 2590 लोगों की जांच की गई है। इसमें 1303 एंटीजन से जबकि आरटीपीसीआर जांच के लिए 1287 नमूने मेडिकल कालेज भेजे गए हैं।

JagranSun, 01 Aug 2021 01:12 AM (IST)
महराजगंज में 7272 लोगों को लगा टीका, 2590 की हुई कोरोना जांच

महराजगंज: कोरोना से बचाव के टीकाकरण और जांच के लिए युवक, महिलाएं और पुरुषों में काफी उत्साह है। शनिवार को अस्पतालों और केंद्रों पर लोगों की भीड़ उमड़ी रही। इस दौरान कुल 7272 लोगों को टीका लगाया गया और 2590 की जांच की गई।

जिला महिला अस्पताल, बृजमनगंज, धानी, घुघली, लक्ष्मीपुर, मिठौरा, नौतनवा, निचलौल, पनियरा, परतावल, फरेंदा, सिसवा आदि सीएचसी, पीएचसी कुल 45 स्थानों पर टीकाकरण और जांच का कार्य सुबह नौ बजे से शुरू हुआ। सुबह से ही इन केंद्रों पर टीकाकरण के लिए लंबी लाइन लगी हुई थी। इसके बाद जैसे स्वास्थ्य कर्मी पहुंचे, तो लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। फिर बारी-बारी से लोगों ने टीकाकरण कराया। इस दौरान केंद्र पर ही लोगों का टीकाकरण के लिए पंजीकरण किया गया। नोडल अधिकारी डा. आइए अंसारी ने बताया कि 7272 लोगों को कोरोना से बचाव का टीका लगाया गया है। जबकि 2590 लोगों की जांच की गई है। इसमें 1303 एंटीजन से जबकि आरटीपीसीआर जांच के लिए 1287 नमूने मेडिकल कालेज भेजे गए हैं। कोरोना से एक मरीज ने जीती जंग

महराजगंज: जिले में शनिवार को कोरोना का एक भी मरीज नहीं मिला है। साथ ही एक मरीज के कोरोना से जंग जीतने की रिपोर्ट आई है। जिले में कुल संक्रमितों की संख्या 12378 है। इसमें 12235 मरीजों ने कोरोना को मात दे दी है। जबकि 136 की मृत्यु हो चुकी है। वर्तमान में सक्रिय मरीजों की संख्या घटकर छह हो गई है। सतर्कता के साथ करें कोरोना से मुकाबल

महराजगंज : राजकीय आयुर्वेदिक चिकित्सालय फरेंदा की प्रभारी चिकित्साधिकारी डा. यामिनी त्रिपाठी ने कहा कोरोना संक्रमित कतई घबराएं नहीं, सकारात्मक हो कर मुकाबला करें, जिससे इस बीमारी से जीता जा सकता है, इससे निपटने के लिए दिनचर्या में बदलाव करते हुए योग, मास्क सैनिटाइजर एवं मौसमी फलों के सेवन को शामिल करना होगा। कोरोना के लक्षण दिखने पर जांच कराएं और जांच रिपोर्ट का इंतजार करने के बजाए चिकित्सक की सलाह ले कर इलाज शुरू कर दें। उन्होंने बताया कि कोविड पाजिटिव मरीजों के लिए आयुर्वेदिक दवाएं भी लाभकारी सिद्ध हो रहीं है। लक्षण दिखने पर आयुष 64, आयुष क्वाथ, समसमनी बटी की सेवन से पाजिटिव मरीज कम समय में स्वस्थ हो रहे है। कोविड मरीजों में प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आयुष 64 व आयुष क्वाथ काफी लाभदायक है। आयुर्वेदिक दवाओं के सेवन के साथ कोविड प्रोटोकाल से संबंधित सावधानियां भी बरतने से कोविड मरीज कम समय में स्वस्थ हो रहें हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना से बचाव के लिए हमेशा मास्क लगाएं और शारीरिक दूरी का पालन करें। साबुन से बार-बार हाथ धोएं। सैनिटाइजर का प्रयोग करते रहें। शुरुआती लक्षण दिखते ही परिवार से अलग होकर चिकित्सक की सलाह पर दवा लेना शुरू कर दें। हरी सब्जियों का सेवन करें।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.