यूपी के इस जिले में 48 घंटे से ठप है 22 गांवों की बिजली

संतकबीर नगर जिले के धर्मसिंहवा के बौरब्‍यास फीडर के जुड़े 22 गांवों में विद्युत आपूर्ति पिछले 48 घंटे से ठप है। बारिश की वजह से अभी तक बिजली आपूर्ति बहाल नहीं हो सकी है जिससे लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

Rahul SrivastavaWed, 16 Jun 2021 09:30 AM (IST)
धर्मसिंहवा के 22 गांवों की बिजली हुई गुल। प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

गोरखपुर, जेएनएन : संतकबीर नगर जिले के धर्मसिंहवा के बौरब्‍यास फीडर के जुड़े 22 गांवों में विद्युत आपूर्ति पिछले 48 घंटे से ठप है। बारिश की वजह से अभी तक बिजली आपूर्ति बहाल नहीं हो सकी है, जिससे लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

आंधी-पानी के कारण टूटकर गिर गया तार

बीते रविवार की सुबह अचानक तेज आंधी-पानी आने के कारण बौरब्यास फीडर में 11 हजार वोल्टेज का तार टूटकर गिर गया, जिससे रैधरपार, जमया, कठहा, सेवहा चौबे, सेवहा बाबु, मुसहरा, दुबौली, बरघाट, जखिनिया, कसया, मेंहदूपार, भुलकी, पुनया, महादेवा सहित 22 गांवों की बिजली आपूर्ति गुल हो गई। ग्रामीणों ने विभाग को बिजली के तार गिरने की सूचना दी, लेकिन आज तक इन गांवों में बिजली आपूर्ति बहाल नहीं हो सकी। बिजली न रहने से मोबाइल चार्जिंग तक के लिए ग्रामीणों को परेशान होना पड़ रहा है।

पानी के लिए भी हो रही दिक्‍कत

पानी का मोटर चलाने को लेकर भी ग्रामीणों को संकट झेलना पड़ रहा है। ग्रामीणों ने जल्द से जल्द बिजली आपूर्ति बहाल करने की मांग की है। बौरब्यास विद्युत उपकेंद्र के अंतर्गत आने वाले गांव के कुछ अन्य स्थानों पर लोकल फाल्ट व बिजली का तार गिरने के कारण पिछले कुछ दिनों से बिजली आपूर्ति बाधित है। यहां मरम्मत का कार्य न होने से आपूर्ति बहाल नहीं हो पा रही है। बौरब्यास के अवर अभियंता सन्नी देओल ने बताया कि कुछ स्थानों पर 11 हजार वोल्टेज का तार गिरने से आपूर्ति प्रभावित है। क्षेत्र में कुछ जगहों पर पहले भी तार गिरने से दिक्कत हो रही है। बारिश के चलते काम प्रभावित हो रहा है। इसके बाद भी मरम्मत का कार्य जारी है। जल्द ही बिजली आपूर्ति बहाल कर दी जाएगी।

पुलिया का एप्रोच क्षतिग्रस्त, आवागमन की समस्या

सांथा विकास खंड के धर्मसिंहवा क्षेत्र में स्थित पुनया- रैधरपार सड़क पर स्थित पुलिया पिछले दो वर्षों से पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हैं। पुलिया के क्षतिग्रस्त होने से स्थानीय लोगों को आवागमन की समस्या झेलनी पड़ रही है। लंबे समय से लोग इसके मरम्मत की मांग कर रहे हैं, लेकिन अभी तक इसके अप्रोच की मरम्मत नहीं हुई। इस कारण समस्‍या बनी हुई है। ग्रामीण सुरेंद्र, पारस, सुक्खू, विनोद, तीरथ आदि लोगों ने बताया बेहतर आवागमन के लिए इस सड़क पर वर्ष 2006 में पुलिया का निर्माण कराया गया था। एक दशक तक इस पुलिया के माध्यम से लोग आवागमन करते रहे, लेकिन पिछले दो वर्षों से पुलिया धीरे- धीरे कर क्षतिग्रस्त हो गई।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.