व्यक्तिगत रुचि लेकर वरासत कराएं लेखपाल

व्यक्तिगत रुचि लेकर वरासत कराएं लेखपाल

पंचायत चुनाव सन्निकट है। इसलिए भूमि विवाद के

JagranSat, 27 Feb 2021 10:08 PM (IST)

गोंडा : पंचायत चुनाव सन्निकट है। इसलिए भूमि विवाद के प्रकरणों को बेहद गंभीरता से निस्तारित किया जाए। पंचायत चुनाव के दौरान संभावित उपद्रवियों को चिन्हित कर उन्हें बड़े मुचलकों से पाबंद कराएं।

यह निर्देश जिलाधिकारी मार्कण्डेय शाही ने नगर व देहात कोतवाली में आयोजित समाधान दिवस में कही। उन्होंने एसपी शैलेश कुमार पांडेय के साथ औचक निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि पंचायत चुनाव में राजस्व व पुलिस विभाग की बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका होती है इसलिए पुलिसकर्मी व राजस्वकर्मी आपसी समन्वय बनाकर रणनीति तैयार करें। सूचना तंत्र को मजबूत करें। अपने-अपने क्षेत्रों में जरूर जाएं ताकि फीडबैक मिल सके।

डीएम ने थाने में उपस्थित लेखपालों को नसीहत दी कि वरासत अभियान में व्यक्तिगत रुचि लेकर यह सुनिश्चित करें कि वरासत का कोई भी मामला लंबित न रह जाए। उन्होंने कहा कि वरासत अभियान के दौरान जिले में लगभग 35 हजार वरासतें दर्ज कराई गई हैं। इस तरह कम से कम 25 हजार से अधिक मुकदमों से निजात मिली है। पुलिस अधीक्षक शैलेश कुमार पांडेय ने पुलिस व राजस्वकर्मियों को निर्देश दिए कि अवैध शराब के खिलाफ सतर्कता और अधिक बढ़ा दें। ताकि अवैध, कच्ची शराब का उपयोग पंचायत चुनाव में न हो और कोई अप्रिय दुर्घटना भी न होने पाए। इस दौरान सीओ सिटी लक्ष्मीकांत गौतम, ओएसडी एसआर शुक्ला, नगर कोतवाल आलोक राव सहित अन्य मौजूद रहे।

इनसेट

मां को मृत दिखाकर कराई वरासत

मोतीगंज के बेलावां निवासी सरवरी बेगम ने समाधान दिवस व पूर्व में संपूर्ण समाधान दिवस में शिकायती पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई है। सरवरी बेगम का कहना है कि उसने अपनी भूमि का बैनामा मार्च 2020 में किया था। उसके तीन पुत्र हैं। एक पुत्र ने उसे मार्च 2015 में मृत दिखाकर उसकी भूमि को अपने नाम वरासत करा ली। भूमि खरीदने वाले ने जब वरासत दर्ज देखा तो उसे सूचना दी। उसने कार्रवाई की मांग की है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.