तेज हवा संग हुई बारिश, खेतों में गिर गईं फसलें

तेज हवा संग हुई बारिश, खेतों में गिर गईं फसलें
Publish Date:Thu, 24 Sep 2020 10:23 PM (IST) Author: Jagran

गोंडा : मौसम खराब होने से लोगों की मुसीबत बढ़ गई है। जलभराव के कारण लोगों को आवागमन में दिक्कतों का सामना करना पड़ा। वहीं, फसलें गिरने से किसानों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। बिजली कटौती से उपभोक्ता दिनभर परेशान रहे। जिले में करीब 40 मिलीमीटर बारिश रिकार्ड की गई है।

गुरुवार को सुबह से ही बारिश का सिलसिला शुरू हो गया। तेज हवा संग मूसलाधार बारिश हुई। किसानों के खेतों में लगी धान व गन्ने की फसल तेज हवा व खेतों में नमी बढ़ने के कारण गिर गई हैं। वहीं, अन्य फसलों को फायदा हुआ है। जिले में मानसून की दस्तक जुलाई में हुई लेकिन, बारिश का सिलसिला जनवरी से ही शुरू हो गया था। जून से बारिश की रफ्तार तेज हुई तो जुलाई में सारे रिकार्ड टूट गए। जिले में औसत बारिश 1152 के सापेक्ष 1508 मिलीमीटर रिकार्ड की गई है, जो औसत से 356 मिलीमीटर अधिक है। जिले में करीब ढाई लाख हेक्टेयर में फसलें लगी हुई हैं।

वर्षवार बारिश के आंकड़ों पर एक नजर

वर्ष बारिश

2015 499.0

2016 855.5

2017 815.5

2018 1025.5

2019 1207.5

2020 1508.5

नोट : ये आंकड़े कृषि विज्ञान केंद्र से जुटाए गए हैं। बारिश मिलीमीटर में है।

बाधित रही बिजली आपूर्ति

- बिजली की आपूर्ति में कटौती का खेल बुधवार की रात से ही शुरू हो गया था। गुरुवार को दिनभर बिजली की आवाजाही बनी रही। इससे शहर के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में भी उपभोक्ताओं को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। 50 से अधिक गांवों में बिजली आपूर्ति बहाल नहीं हो सकी है।

रास्ते पर गिरा पेड़, आवागमन प्रभावित

- बभनजोत : क्षेत्र में तेज हवा के कारण मसकनवा-मनकापुर मार्ग पर पेड़ गिर गया। जिससे कई घंटे तक आवागमन ठप रहा। वहीं, शहर के कई मुहल्लों में जलनिकासी की व्यवस्था न होने से पानी भर गया।

40 मिलीमीटर हुई बारिश

-जिले में करीब 40 मिलीमीटर बारिश रिकार्ड की गई है। खेतों में जो फसलें गिर गई हैं, उनका दाना जमाव प्रभावित हो सकता है। अन्य फसलों के लिए फायदा है। इससे रबी की बोआई में भी फायदा मिलेगा।

-डॉ. उपेंद्रनाथ सिंह, वरिष्ठ वैज्ञानिक केवीके गोपालग्राम

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.