बंधक बनाकर डकैतों ने लूटे नकदी और आभूषण

जासं कासिमाबाद (गाजीपुर) कोतवाली क्षेत्र के परजीपाह गांव में शनिवार की देर रात हथियारबंद डकैतों ने परिवार के सदस्यों को बंधक बनाकर तीस हजार नगदी व दो लाख रुपये का आभूषण लूट लिया। वारदात को अंजाम देने के बाद सभी के मोबाइल व बाहर रखी साइकिल भी लेकर फरार हो गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने कमरे का दरवाजा खोलकर बंधक बने सदस्यों को मुक्त कराने के साथ छानबीन शुरू कर दी। तहरीर पर मुकदमा दर्ज करने के बजाए पुलिस जांच में उलझी हुई है।

JagranSun, 01 Mar 2020 09:55 PM (IST)
बंधक बनाकर डकैतों ने लूटे नकदी और आभूषण

जासं, कासिमाबाद (गाजीपुर) : कोतवाली क्षेत्र के परजीपाह गांव में शनिवार की देर रात हथियारबंद डकैतों ने परिवार के सदस्यों को बंधक बनाकर तीस हजार नकदी व दो लाख रुपये का आभूषण लूट लिया। वारदात को अंजाम देने के बाद सभी के मोबाइल व बाहर रखी साइकिल भी लेकर फरार हो गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने कमरे का दरवाजा खोलकर बंधक बने सदस्यों को मुक्त कराने के साथ छानबीन शुरू कर दी। पीड़ित परिवार की तहरीर पर मुकदमा दर्ज करने के बजाए पुलिस अभी जांच में उलझी हुई है।

गांव निवासी दीनानाथ मास्टर रोज की तरह देर रात खाना खाने के बाद मकान के बाहर सो रहे थे, जबकि परिवार के अन्य सदस्य घर में थे। रात करीब साढ़े 12 बजे मकान के पीछे से 15 की संख्या में पहुंचे डकैतों ने बाहर सो रहे पीड़ित दीनानाथ को तमंचा सटा दिया व दरवाजा खोलवाने को कहा। आवाज सुनकर जैसे ही उनके पुत्र संतोष घर से बाहर निकले सभी ने उन्हें पकड़ लिया व जान से मारने की धमकी देने लगे। अभी पिता-पुत्र कुछ समझ पाते हथियारबंद डकैतों ने दोनों लोगों को घर में लाया व अन्य परिजनों को एक कमरे बंद कर दिया। इसके बाद दूसरे कमरे में रखे आलमारी का ताला तोड़कर दो लाख का आभूषण, 30 हजार नगदी व कीमती कपड़े भी ले लिए। घर में जमकर लूटपाट मचाने के बाद डकैतों ने सभी सदस्यों का मोबाइल व बाहर रखी साइकिल भी लेकर फरार हो गए। पीड़ित परिवार के सदस्यों ने किसी तरह वारदात की जानकारी पुलिस को दी। सूचना पर पहुंची पुलिस टीम ने कमरे में बंद सभी परिवार के सदस्यों को मुक्त कराने के साथ छानबीन शुरू कर दी।

--------- एक घंटे तक जमकर करते रहे लूटपाट

: दीनानाथ मास्टर के घर में घुसे हथियारबंद डकैतों ने एक घंटे तक जमकर लूटपाट किया। एक कमरे में बंद परिवार के सभी सदस्य ईश्वर से जान की दुहाई मांगते रहे। इधर आलमारी व बक्से के तोड़ने की आवाज सुनकर सभी भयभीत बंद कमरे में चुपचाप बैठे थे। करीब दो बजे किसी तरह की आवाज नहीं आने पर काफी हिम्मत जुटाकर पीड़ित परिवार के सदस्यों ने डकैतों के नजर से छिपाए मोबाइल से वारदात की सूचना पुलिस को दी। करीब आधे घंटे बाद जब पुलिस टीम मौके पर पहुंचकर उन्हें कमरे से बाहर निकाला तब जाकर पीड़ित परिजनों ने राहत की सांस ली।

------------- : 15 की संख्या में हथियाबंद डकैतों ने एक कमरे में बंदकर जमकर लूटपाट किया। यहां तक की पुत्री द्वारा बच्चों के दाखिले के रखे गए पैसे को भी नहीं छोड़ा। आभूषण व नगदी के साथ कीमती कपड़े भी उठा ले गए। अगर परिवार के सदस्य डकैतों से उलझते तो वह हत्या कर बड़ी वारदात को भी अंजाम दे सकते थे।- दीनानाथ मास्टर, पीड़ित

----------- : पीड़ित परिवार की ओर से तहरीर मिली है, जांच की जा रही है। जल्द ही आरोपितों को गिरफ्तार कर घटना का पर्दाफाश कर दिया जाएगा। - अनिल कुमार पांडेय, कोतवाली प्रभारी

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.